नैनपुर और रेवाड़ा में चल रहा है जुआ तथाकथित पत्रकारों की शह में हो रहा है। खेल खुल्लमखुल्ला, पत्रकार संगठन बना कर रहे है, जुआ घर से चल रही वसूली...जल्द ही तथाकथित पत्रकारों के नाम होंगे जल्द आपके सामने... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Sunday, January 15, 2023

नैनपुर और रेवाड़ा में चल रहा है जुआ तथाकथित पत्रकारों की शह में हो रहा है। खेल खुल्लमखुल्ला, पत्रकार संगठन बना कर रहे है, जुआ घर से चल रही वसूली...जल्द ही तथाकथित पत्रकारों के नाम होंगे जल्द आपके सामने...


रेवांचल टाईम्स - मंडला जिले के नैनपुर विकासखंड में और जिले में पेसा एक्ट लागू है। मगर उसका पालन कोई नही कर रहा है। उस एक्ट का खुला मजाक उड़ाया जा रहा है। क्या गांव क्या नगर हर जगह सट्टा, जुआ अबैध शराब का कारोबार जम चल रहा है। जिसमें गरीब आदिवासी की मेहनत की कमाई को एक रात में उड़ा रहे है। मगर स्थानीय प्रशासन जुआ फड़ वालो पर कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है। जिसके नैनपुर और रेवाड़ा जुआ फाड़ में एक रात में लाखों की कमाई हो रही है। वही नैनपुर के पत्रकारों ने इन जुआ घर को कमाई का जरिया बना लिया हैं। और संगठन बना कर अवैध वसूली करते है। जिससे की ग्राम की जनता और प्रशासन पर खुला दवाब बनाते है। वही इन पत्रकारों के कोई भी अधिकृत पत्रकारिता करने का प्रमाण नहीं है। फिर भी जिला प्रशासन और नगर के अधिकारियों पर जमकर दवाब बनाते है। मगर फर्जी पत्रकारों पर पुलिस प्रशासन क्यों नही कार्यवाही करता है। जोकि बड़ा सवाल है। वही वहीं जानकर बता रहे है। की पत्रकारों को जुआ क्लब से हर माह मंथली पैसा जाता है। जिसके कारण जुआ घर फल फूल रहे है। और पत्रकार माला माल हो रहे है। इसी तर्ज पर नैनपुर में पत्रकार बनने की होड़ सी लगी है। जिसके कारण वे खुल कर अवैध वसूली करने का खुला मौका मिलता है वही प्रशासन जॉच करने का दिलसा दे रहा है। जबकि नैनपुर फर्जी पत्रकार संगठन इन अबैध कारोबारीयो को खुला संरक्षण दे रही है और जिला प्रशासन के लिए मुसीबत है।

No comments:

Post a Comment