सूर्या स्टील्स फैक्ट्री मनेरी में कार्य के दौरान एक महिला के पैर में गिरा लोहा का खंभा,पैर फैक्चर, पीड़ित महिला ने SDM निवास को आवेदन देकर न्याय की लगाई गुहार। - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Thursday, December 29, 2022

सूर्या स्टील्स फैक्ट्री मनेरी में कार्य के दौरान एक महिला के पैर में गिरा लोहा का खंभा,पैर फैक्चर, पीड़ित महिला ने SDM निवास को आवेदन देकर न्याय की लगाई गुहार।





दैनिक रेवांचल टाइम्स - मंडला जिले के आदिवासी बाहुल्य जिले के अंतर्गत औद्योगिक क्षेत्र मनेरी में सैकड़ों फैक्ट्रियां है,कई फैक्ट्री मालिकों ने शासन के नियमों को ताक पर रखकर फैक्ट्रियों का संचालन करवा रहे हैं,जिससे कई हादसे भी हो रहे हैं,किसी की जान जा रही है तो और घायल हो रहे हैैं लेकिन जिम्मेदार अधिकारी ऐसे संगीन मामलों को पलीता लगाने से नहीं कतरा रहें है। एक ऐसा ही मामला औद्योगिक क्षेत्र मनेरी के सूर्या स्टील्स फैक्ट्री का है जहां पर एक महिला उक्त फैक्ट्री में कार्य कर रही थी,उसी दौरान 29/11/2022 को लोहा उसके पैर में गिर गया जिससे कौशल्या बाई चक्रवर्ती, पति राजेंद्र चक्रवर्ती उम्र 34 वर्ष निवासी मनेरी का फैक्चर हो गया। जिसका ईलाज जबलपुर अस्पताल में चल रहा है, जिसके कारण पीड़ित महिला अभी भी मजदूरी का कार्य नहीं कर पा रही है। पीड़ित महिला ने बताया कि मैं और मेरा परिवार ने फैक्ट्री मालिक से कार्य के दौरान चोट आने की बात कहकर ईलाज तथा अन्य खर्च फैक्ट्री द्वारा दिये जाने की मांग फैक्ट्री मालिक से की गई है, तथा फैक्ट्री मालिक ने ईलाज करवाने एवं अन्य क्षतिपूर्ति दिए जाने का आश्वाशन फैक्ट्री मालिक ने की थी। लेकिन अब कोई भी सहयोग नहीं कर रहा है। और इलाज करवाने से मना कर दिया है। वहीं पीड़ित महिला का कहना है कि मेरे द्वारा उक्त मामले की शिकायत मनेरी चौंकी करना चाही लेकिन मामले की शिकायत मनेरी चौंकी प्रभारी ने शिकायत दर्ज करने से मना कर दी गई,जिससे पीड़ित महिला ने निवास एसडीएम शिवाली सिंह को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है।


क्षेत्रीय युवा पत्रकार एवं समाजसेवी महेश भलावी ने कहा आदिवासी पीड़ता महिला अभी भी  न्याय के लिए दर दर भटक रही है, पीड़िता कौशल्या बाई चक्रवर्ती  ने बताया कि मेरे छोटे-छोटे दो बच्चे भी हैं जो मेरे ही आश्रित है । युवा समाजसेवी महेश भलावी प्रशासन से आग्रह करते हुए कहा की प्रशासन इस विषय को गंभीरता से लेते हुए तुरंत जांच कर ,जिस कंपनी में महिला मजदूरी करती थी उस कंपनी द्वारा महिला की संपूर्ण इलाज एवं कंपनी द्वारा कुछ राशि प्रदान की जाए जिससे घर का गुजारा चल सके।

No comments:

Post a Comment