एसडीएम ने किया उपार्जन केन्द्र निवास एवं बबलिया का निरीक्षण - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Friday, December 23, 2022

एसडीएम ने किया उपार्जन केन्द्र निवास एवं बबलिया का निरीक्षण




 

मंडला 23 दिसम्बर 2022

            23 दिसंबर को अनुविभागीय अधिकारी राजस्व निवास शिवाली सिंह ने खरीदी केन्द्र निवास का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान खरीदी केन्द्र प्रभारी को प्रत्येक बोरी में किसान कोड लिखकर गोदाम में जमा करने के निर्देश दिये गये हैं। निरीक्षण के दौरान उपस्थित किसानों के समक्ष गोदाम में जमा किये गये धान की सेम्पलिंग कराई गई जो शासन से निर्धारित मानक के अनुरूप पाया गया। उपार्जित धान में से सिले हुये बोरों का रेण्डम वजन कांटे से कराया गया, जिसमें धान का औसत वजन 40.650 होना पाया गया। केन्द्र में कुल पंजीकृत 411 किसानों में से 212 किसानों के द्वारा स्लॉट बुकिंग किया जाना एवं 190 किसानों के द्वारा कुल 11712 क्विंटल धान का विक्रय किया जाना पाया गया। इसी प्रकार धान खरीदी केन्द्र बबलिया में कुल पंजीकृत 495 किसानों में से 213 किसानों के द्वारा स्लॉट बुकिंग किया जाना एवं 70 किसानों के द्वारा कुल 5027 क्विंटल धान का विक्रय किया जाना पाया गया।

 

16 जनवरी तक होगा उपार्जन

 

            धान उपार्जन का कार्य 16 जनवरी 2023 तक किया जाना है। धान विक्रय करने हेतु किसानों को अपनी सुविधा के अनुसार विक्रय तिथि हेतु स्लॉट बुक करना अनिवार्य है। स्लॉट बुक का कार्य धान खरीदी केन्द्र, ऑनलाईन सेवा केन्द्र अथवा स्वयं के मोबाईल से किया जा सकता है। शासन द्वारा पूर्व से पोर्टल पर निर्धारित किया गया है कि कोई भी किसान अपने पंजीकृत रकवे के अनुसार अधिकतम उपज से अधिक धान का विक्रय धान खरीदी केन्द्र में नहीं कर सकते हैं। स्लॉट बुकिंग में समस्या होने पर किसान अपने धान खरीदी केन्द्र में सम्पर्क कर सकते हैं। धान खरीदी केन्द्र पर छोटे किसानों की उपज की तुलाई हेतु पृथक से व्यवस्था कर लाभ दिया जा रहा है।

No comments:

Post a Comment