मध्यान्ह भोजन में लापरवाही पर बीआरसी एवं एसएमसी होंगे जिम्मेदार - हर्षिका सिंह - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Monday, December 19, 2022

मध्यान्ह भोजन में लापरवाही पर बीआरसी एवं एसएमसी होंगे जिम्मेदार - हर्षिका सिंह

 




समय-सीमा की बैठक में कलेक्टर हर्षिका सिंह के निर्देश

 

मंडला 19 दिसम्बर 2022

                समय सीमा एवं विभागीय समन्वय समिति की बैठक में कलेक्टर हर्षिका सिंह ने निर्देशित किया कि मध्यान्ह भोजन में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें। मीनू का सख्ती से पालन करें। लापरवाही पाए जाने पर संबंधित बीआरसी एवं शाला प्रबंधन समिति पर कार्यवाही की जाएगी। संबंधित एसडीएम, तहसीलदार तथा अन्य विभागों के अधिकारी भी क्षेत्र भ्रमण के दौरान मध्यान्ह भोजन की जांच करें। जिला योजना भवन में संपन्न हुई इस बैठक में सीईओ जिला पंचायत रानी बाटड, अपर कलेक्टर मीना मसराम सहित समस्त एसडीएम तथा सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

                कलेक्टर हर्षिका सिंह ने निर्देशित किया कि ग्रामीण आजीविका परियोजना का अमला भी स्व सहायता समूहों की बैठक में मध्यान्ह भोजन की समीक्षा करे। शिक्षकों एवं विद्यार्थियों की शतप्रतिशत ऑनलाईन उपस्थिति सुनिश्चित करें। इस संबंध में तकनीकि समस्या बीईओ बीआरसी संबंधितों से समन्वय कर निराकृत कराएं। जीर्णशीर्ण शाला भवन एवं आंगनवाड़ी भवनों की सूची प्रस्तुत करें। विद्यालयों में शौचालय क्रियाशील रखें, अन्यथा की स्थिति में संबंधित प्राचार्य, बीईओ एवं बीआरसी जिम्मेदार रहेंगे। सीएम हेल्पलाईन की प्रकरणों की समीक्षा के दौरान उन्होंने निर्देशित किया कि सभी विभाग गंभीरतापूर्वक प्रकरणों का निराकरण करें। दिसंबर माह में प्राप्त प्रकरणों को प्राथमिकता से निराकरण करें। मिशन मोड में एल-4 के दर्ज प्रकरणों का निराकरण करें। सीमांकन के प्रकरणों को 3 दिवस में निराकृत करें। वन विभाग, उद्योग एवं व्यापार केन्द्र, श्रम विभाग, सहायक आयुक्त जनजाति कार्यविभाग तथा आयुष विभाग के खराब प्रदर्शन पर कलेक्टर ने असंतोष जाहिर किया। उन्होंने 100 दिवस से अधिक लंबित प्रकरणों की भी समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश दिए। श्रीमती सिंह ने निर्देशित किया कि जिला अस्पताल के सभी चिकित्सक बायोमेट्रिक सिस्टम से अपनी उपस्थिति दर्ज करें, जिसकी जानकारी सिविल सर्जन 12 बजे तक प्रतिदिन प्रस्तुत करें। शतप्रतिशत पात्र बच्चों के जाति प्रमाण पत्र बनवाने की कार्यवाही करें। प्राप्त फार्म को समय सीमा में लोकसेवा केन्द्रों से ऑनलाईन कराएं। जो प्रमाण पत्र बन चुके हैं उनका शनिवार को वितरण कराएं। कलेक्टर ने पेंशन प्रकरणों की विभागवार समीक्षा करते हुए मंडला एवं नैनपुर बीईओ पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी कोषालय से संपर्क कर पेंशन प्रकरणों का निराकरण सुनिश्चित करें। स्कूल एवं आंगनवाड़ी में विद्युतीकरण का कार्य 31 दिसंबर तक पूर्ण करने का प्रयास करें। उपार्जन धान के परिवहन की गति बढ़ाएं, साथ ही किसानांे के भुगतान की प्रक्रिया जारी रखें। केसीसी, लाड़ली लक्ष्मी एवं मातृत्व वंदना योजना की समीक्षा करें, शेष बचे हितग्राहियों को लाभान्वित करें। राजस्व वसूली के लक्ष्य की पूर्ति करें। जिन स्थानों में पात्रतापर्ची का वितरण शेष है वहां कैम्प आयोजित करें। एसडीएम सहित संबंधित अधिकारी अवैध उत्खनन पर सख्ती से कार्यवाही करें। बैठक में नगर के यातायात व्यवस्था, एनआरसी, स्वरोजगार योजना, पेसा एक्ट के क्रियान्वयन, युवा नीति, स्कूलों तथा विद्यार्थियों की ग्रेडिंग, संजीवनी क्लीनिक, कान्हा गेट में बैंकिंग सुविधा एवं समाधान से संबंधित विषयों पर चर्चा की गई।

                 

 

प्राथमिकता से निराकृत करें अनुकंपा नियुक्ति के प्रकरण

 

                कलेक्टर हर्षिका सिंह ने निर्देशित किया कि अनुकंपा नियुक्ति के लंबित प्रकरणों का जल्द से जल्द निराकरण करें। जिन प्रकरणों पर राज्य स्तर से कार्यवाही होनी है उन पर संबंधित अधिकारी समन्वय करें। कलेक्टर हर्षिका सिंह ने अनुकंपा नियुक्ति के लंबित प्रकरणों की विभागवार समीक्षा की। सहायक आयुक्त जनजाति विभाग में अधिक प्रकरण लंबित होने पर श्रीमती सिंह ने अपर कलेक्टर को कार्यालय का भ्रमण कर समक्ष में कार्यवाही कराने के निर्देश दिए।

 

23 दिसंबर को आयोजित करें जल चौपाल

 

                लोक स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान कलेक्टर हर्षिका सिंह ने सभी ग्राम, टोला तक पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत जिन ग्रामों में कार्य पूर्ण हो चुका है। उन ग्रामों में 23 दिसंबर को जल पंचायत का आयोजन करें तथा योजना के हस्तांतरण की कार्यवाही करें। श्रीमती सिंह ने कहा कि जल चौपाल के माध्यम से ग्रामीणों को जल का दुरूपयोग रोकने की समझाईश दें। जल चौपाल में पीएचई तथा ग्रामीण विकास विभाग का अमला भी उपस्थित रहे। उन्होंने चल चौपाल के लिए ग्रामवार नोडल अधिकारी नियुक्त करने के निर्देश दिए।

 

श्रमिकों का नियोजन कम क्यों ?

 

                बैठक में कलेक्टर हर्षिका सिंह ने मनरेगा सहित अन्य निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए कार्यों को जल्द पूर्ण कराने के निर्देश दिए। मनरेगा की समीक्षा के दौरान श्रमिकों के कम नियोजन पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त की। श्रीमती सिंह ने निर्देशित किया कि रोजगारमूलक कार्य संचालित करें। श्रमिकों के कम नियोजन होने पर ग्रामीण यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री जिम्मेदार होंगे। उन्होंने पंचायत स्तर पर कैम्प लगाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि भुगतान संबंधित कोई भी प्रकरण लंबित नहीं रहना चाहिए।

 

पीएम किसान का लाभ लेने आधार सीडिंग जरूरी

 

                प्रधानमंत्री किसान योजना की समीक्षा के दौरान कलेक्टर हर्षिका सिंह ने आधार सीडिंग का कार्य जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने किसानों से आग्रह किया कि वे जल्द से जल्द आधार सीडिंग तथा ईकेवाईसी कराएं। प्रधानमंत्री किसान योजना का लाभ लेने के लिए आधार सीडिंग आवश्यक है। श्रीमती सिंह ने एसएलआर को इस संबंध में डेली रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। श्रीमती सिंह ने स्वामित्व योजना एवं धारणाधिकार की भी समीक्षा की।

 

31 दिसंबर तक पूर्ण करें आयुष्मान पंजीयन

 

                बैठक में कलेक्टर हर्षिका सिंह ने निर्देशित किया कि प्रत्येक पात्र हितग्राही का आयुष्मान पंजीयन की कार्यवाही 31 दिसंबर तक पूर्ण करें। इस संबंध में घर-घर सर्वे करें तथा जो शेष रह गए हैं मोबाईल टीम भेजकर उनके पंजीयन की कार्यवाही पूर्ण करें। हाईस्कूल एवं हायरसेकेंडरी के बच्चों के पंजीयन के लिए बीईओ, प्राथमिक एवं माध्यमिक के बच्चों के लिए बीआरसी, आंगनवाड़ी में दर्ज बच्चों के लिए महिला बाल विकास विभाग जिम्मेदार हांेगे। सेल्समेनों के माध्यम से पीडीएस उपभोक्ताओं के पंजीयन कराएं, इस संबंध में पीडीएस दुकान पर पंजी का संधारण भी कराएं। कृषि एवं मत्स्य विभाग का मैदानी अमला तथा पटवारियों की भी आईडी बनवाकर उनके माध्यम से संबंधित हितग्राहियों के आयुष्मान पंजीयन की कार्यवाही करें।

No comments:

Post a Comment