पौष अमावस्या के दिन करें अपनाएं ये खास उपाय, दूर हो जाएंगी सभी समस्याएं - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Friday, December 23, 2022

पौष अमावस्या के दिन करें अपनाएं ये खास उपाय, दूर हो जाएंगी सभी समस्याएं




रेवांचल टाईम्स:हिंदू धर्म में प्रत्येक अमावस्या तिथि का अपना एक विशेष महत्व होता है. पौष माह के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को पौष अमावस्या कहा जाता है और यह तिथि इस साल कल यानि 23 दिसंबर 2022 को पड़ रही है. इस दिन स्नान और दान का विशेष महत्व होता है. इस दिन पवित्र नदी में स्नान करने, दान-पुण्य, पितृ तर्पण किया जाता है. पुराणों के अनुसार, इस दिन गंगा-स्नान करना चाहिए. इस दिन सच्चे मन से मांगी गई हर मनोकामना पूर्ण होती है. ऐसे में इस दिन कुछ विशेष उपाय करने से पुण्य फल की प्राप्ति होती है. आइए जानते हैं इन उपायों के बारे में.
पौष अमावस्या के उपायपौष अमावस्या के दिन पीपल के पेड़ की जड़ में गंगाजल, काले तिल, चीनी, चावल, जल तथा पुष्प अर्पित करने चाहिए. इसके साथ ही ‘ॐ पितृभ्य: नम:’ मंत्र का जाप करना चाहिए. इससे पितर प्रसन्न होते हैं और अपना आशीर्वाद देते हैं.
पौष अमावस्या के दिन दान करने का भी विशेष महत्व माना गया है. इस दिन गरीबों में मीठे चावल बांटने चाहिए. साथ ही चीटियों को शक्कर मिला हुआ आटा खिलाने से सभी पापों से मुक्ति मिलती है.
अगर आप जीवन में आ रही हर प्रकार की परेशानी की छुटकारा पाना चाहते हैं तो पौष अमावस्याय के दिन आटे की गोलियां बनाएं और किसी तालाब या नदी के किनारे जाकर ये आटे की गोलियां मछलियों को खिलाने से सभी परेशानियां दूर होती हैं.
इसके अलावा अमावस्या के दिन चांदी के नाग और नागिन की पूजा करने से काल सर्प दोष दूर होता है.
इस दिन ब्राह्मणों को घर बुलाएं और आदर के साथ उन्हें भोजन कराएं और दक्षिणा देकर उन्हें विदा करें. ऐसा करने से आपकी पितृ खुश हो जाएंगे.

डिस्क्लेमर: यहां दी गई सभी जानकारियां सामाजिक और धार्मिक आस्थाओं पर आधारित हैं. रेवांचल टाईम्स इसकी पुष्टि नहीं करता. इसके लिए किसी एक्सपर्ट की सलाह अवश्य लें.

No comments:

Post a Comment