शासन के निर्देशों का शराब दुकानदार उड़ा रहे माख़ौल , दुकानों में न रेट लिस्ट, नहीं दिया जा रहा बिल मनमाने दामों पर बेची जा रही है शराब - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Wednesday, November 30, 2022

शासन के निर्देशों का शराब दुकानदार उड़ा रहे माख़ौल , दुकानों में न रेट लिस्ट, नहीं दिया जा रहा बिल मनमाने दामों पर बेची जा रही है शराब

 



जबलपुर।शराब दुकानों में न तो रेट लिस्ट लगी है और न ही शराब खरीदने वालों को बिल दिया जा रहा है। मामला सिहोरा और खितौला की देसी और अंग्रेजी शराब दुकानों का है। लगातार शिकायत मिलने के बावजूद आबकारी विभाग के अधिकारी शिकायत मिलने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ रहे हैं। हालात यह है कि शराब दुकानदार मनमाने तरीके रेट से अधिक दामों पर खुलेआम शराब का विक्रय कर रहे हैं।


जानकारी के मुताबिक सिहोरा और खितौला में अंग्रेजी और देसी शराब की चार दुकानें हैं। शासन के स्पष्ट निर्देश है कि जो भी शराब दुकानों से बेची जाए उसकी रेट लिस्ट दुकानों में स्पष्ट अक्षरों में लगी होनी चाहिए। साथ ही ग्राहकों को भेजी गई शराब का मांगने पर बिल भी दिया जाना चाहिए। लेकिन शराब चारों शराब दुकानों ग्राहक द्वारा बिल मांगने की बात तो छोड़िए रेट लिस्ट का कहीं अता पता नहीं है। हालात यह है कि शराब दुकानदार एमआरपी से अधिक दामों पर ग्राहकों को शराब परोस रहे हैं। जानकारी के तौर पर बताते चलें कि शराब ठेकेदार मोहल्ले मोहल्ले पैकारी लगाकर लगाकर शराब परोस रहे हैं। इस अवैध पैकारी को लेकर कुछ दिनों पूर्व स्थानीय युवाओं ने अनुविभागीय अधिकारी सिहोरा को कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपकर नगर और ग्रामीण क्षेत्रों में चल रही पैकारी की जानकारी दी थी लेकिन इसके बावजूद अभी तक अधिकारियों के सुस्त रवैए के चलते हो खुलेआम पैकारी चल रही है। इस मामले को लेकर अभी तक कोई भी एक्शन नहीं लिया गया। सूत्रों की मानें तो अवैध शराब के विक्रय में अधिकारियों की मिलीभगत से इनकार नहीं किया जा सकता। 



किसी भी शराब दुकान का आज तक नहीं हुआ निरीक्षण

जानकारों की मानें तो आबकारी विभाग के अधिकारी सिर्फ छोटी-छोटी कार्रवाई कर अपनी पीठ थपथपाते रहते हैं। वहीं दूसरी तरफ चाहे सिहोरा-खितौला विदेशी एवं अंग्रेजी शराब के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में आज तक किसी भी शराब दुकान दुकान के स्टॉक रेट लिस्ट और बिल को लेकर निरीक्षण तक नहीं किया गया। 


इनका कहना है...

शराब दुकानों में दुकानदारों को रेट लिस्ट लगाना शासन के निर्देशों के अनुसार अनिवार्य है। इस मामले को लेकर यदि कोई शिकायत मिलती है तो शिकायत के आधार पर शराब दुकानदार के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


इंद्रेश तिवारी, एडीईओ सिहोरा

No comments:

Post a Comment