MP में खराब सड़क पर गडकरी ने माफी मांगी:केंद्रीय मंत्री ने पुराने कॉन्ट्रैक्ट को सस्पेंड कर नया टेंडर निकालने के लिए कहा... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Monday, November 7, 2022

MP में खराब सड़क पर गडकरी ने माफी मांगी:केंद्रीय मंत्री ने पुराने कॉन्ट्रैक्ट को सस्पेंड कर नया टेंडर निकालने के लिए कहा...



रेवांचल टाईम्स - मंडला पहुँचे केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री ने जबलपुर मंडला निर्माण धीन सड़क नेशनल हाइवे तीस के लिए जनता से मांगी माफ़ी कहा कि गलती के लिए मांगना कोई गलत नही है।

         मध्यप्रदेश में बनाई जा रही खराब सड़क पर केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने माफी मांगी। उन्होंने कहा- अगर गलती है तो इसके लिए माफी भी मांगनी चाहिए। बरेला से मंडला तक 400 करोड़ रुपए की लागत से 63 किलोमीटर का टू लोन रोड बन रहा है, इससे संतुष्ट नहीं हूं। अधिकारियों से कहा है कि सड़क का जितना काम बाकी है, उसे सस्पेंड कर दो। पुराने काम को रिपेयर करो। नया टेंडर निकालो। जल्दी ये रोड अच्छा और पूरा करके दो। अभी तक आपको जो तकलीफ हुई है, इसके लिए मैं क्षमा मांगता हूं।

गडकरी मंडला में सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने मंडला में 1261 करोड़ रुपए की लागत से 329 किमी लंबे 5 राष्ट्रीय राजमार्ग का शिलान्यास किया। वे महाकौशल में 5,315 की लागत से बनने वाली 543 किलोमीटर की सड़कों का शिलान्यास और लोकार्पण करने आए हैं। 4054 करोड़ रुपए की सौगात देने वे मंडला से सीधे जबलपुर पहुंचे। इसमें 214 किमी लंबे 8 राष्ट्रीय राजमार्ग शामिल हैं।

गडकरी ने कहा कि विकास के लिए रोड अच्छे होने चाहिए। कान्हा राष्ट्रीय उद्यान पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। यहां की कनेक्टिविटी बेहतर की जाएगी। वनवासियों के लिए जो सामाजिक-आर्थिक-शैक्षणिक तौर पर पिछड़े हैं, उनका विकास करना राज्य एवं केंद्र सरकारों की प्राथमिकता है। इसके लिए रोड अच्छे बनने चाहिए।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, गडकरी जी से मैंने कान्हा नेशनल पार्क को सीधे रोड से जोड़ने और नेशनल हाईवे बनाने का आग्रह किया है, ताकि हमारे यहां बड़ी संख्या में पर्यटक आएं और हमारे लोगों को बड़ी संख्या में रोजगार मिल सके।


गडकरी के भाषण की प्रमुख बातें...


सड़क परियोजनाएं मंडला को जबलपुर, डिंडौरी, बालाघाट जिलों से अच्छी तरह जोड़ेंगी। इन मार्गों के बनने से पचमढ़ी, भेड़ाघाट और अमरकंटक जैसे धार्मिक स्थलों के साथ-साथ जबलपुर से अमरकंटक होकर बिलासपुर, रायपुर और दुर्ग तक आवागमन सुगम होगा।


मंडला की प्राकृतिक सुंदरता और कान्हा नेशनल उद्यान हमेशा ही पर्यटकों को आकर्षित करते रहे हैं। इन सड़क परियोजनाओं के बनने से इस क्षेत्र और यहां के वनवासी समाज को बेहतर सुविधा मिलेगी।


नर्मदा एक्सप्रेस के दोनों ओर इंडस्ट्रियल एरिया बनाएंगे: CM

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, 2003 के बाद लगभग 3 लाख किमी सड़कें मध्यप्रदेश की धरती पर बनाने का काम भाजपा की सरकार ने किया है। कबीर चौरा से लेकर डिंडोरी, मंडला, जबलपुर, संदलपुर, नसरुल्लागंज, ओबेदुल्लागंज, इंदौर, धार, सरदारपुर और झाबुआ तक नर्मदा एक्सप्रेस बनाया जाएगा। इसके दोनों तरफ हम इंडस्ट्रियल एरिया डेवलप करेंगे।

जबलपुर में करेंगे 8 सड़क परियोजनाओं की शुरुआत

जबलपुर में 8 सड़क परियोजनाओं की शुरुआत हो रही है। इनमें 3,332 करोड़ की लागत से बनने वाली 7 सड़कों की आधारशिला रखी जाएगी। एक सड़क का लोकार्पण हो रहा है। ये NHAI द्वारा नरसिंहपुर जिले में हिरण नदी से सिंधु नदी तक की फोरलेन सड़क है। इसकी लंबाई 53 किलोमीटर है। यह सड़क 722 करोड़ रुपए से बनेगी। इसके अलावा, जबलपुर से कुंडम, बरेला से मानेगांव, मानेगांव से राष्ट्रीय राजमार्ग, राष्ट्रीय राजमार्ग से कुश्नेर, कुश्नेर से अमझर और कुंडम से निवास सड़क समेत जबलपुर एलिवेटेड कॉरिडोर एक्सटेंशन का लोकार्पण किया जाएगा।

लोगों का क्या होगा फायदा


सड़क के ज्यामितीय सुधार से यात्रा सुगम व सुरक्षित होने के साथ यात्रा समय में कमी।


पर्यटन एवं धार्मिक स्थल, भेड़ाघाट, अमरकंटक, कान्हा नेशनल पार्क जाने में सुविधा।


परियोजना से छत्तीसगढ़ से मध्यप्रदेश तक चावल एवं स्टील ट्रकों का आवागमन सुगम, यात्रा समय में कमी से ईंधन की बचत।


औद्योगिक विकास, कृषि एवं पर्यटन और रोजगार अवसरों को बढ़ावा।


NHAI के तहत आने वाली 4054 करोड़ से 213 किमी की परियोजना एवं प्रस्तावित परियोजना का लोकार्पण व शिलान्यास


722 करोड़ की लागत से हिरण नदी सें सिंदूर नदी के बीच 53 किलोमीटर की सड़क बनेगी।


बरेला से मानेगांव फोरलेन 16 किलोमीटर की सड़क 652 करोड़ की लागत से बनेगी।


मानेगांव से नेशनल हाइवे का फोरलेन सड़क निर्माण होगा। 20 किलोमीटर की सड़क 917 करोड़ रुपए से बनेगी।


नेशल हाइवे 45 से कुश्नेर तक फोरलेन का चौड़ीकरण, 36 किलोमीटर की सड़क 911 करोड़ से बनेगी।


कुश्नेर से अमझर की फोरलेन सड़क चौड़ीकरण, जिसकी लंबाई 23 किलोमीटर है, उसे 613 करोड़ रुपए से बनाया जाएगा।


जबलपुर से कुंडम तक की टू लेन सड़क 42 किलोमीटर की होगी। इसकी लागत 126 करोड़ होगी।


सीआरआईएफ के तहत कुंडम- निवास 23 किलोमीटर की सड़क का निर्माण 35 करोड़ से किया जाएगा। इसका शिलान्यास किया जाएगा।


दमोह नाका-रानीताल- मदन महल फ्लाईओवर में दमोह नाका रैम्प का विस्तार किया जाएगा। इसकी लंबाई 1 किलोमीटर होगी, उसे 78 करोड़ की लागत से बनाया जाएगा।


एक नजर जबलपुर रिंग रोड पर


लंबाई -112 किलोमीटर


लागत -3100 करोड़ रुपए


जबलपुर से सभी दिशाओं में 6 राष्ट्रीय राजमार्ग मिलते हैं। प्रस्तावित 112 किलोमीटर की बाहरी रिंग रोड सभी राष्ट्रीय राजमार्ग को कनेक्ट करती है। जब यह सड़क बन जाएगी, तो शहर के आंतरिक दबाव को कम करेगी।

परियोजना के मुख्य आकर्षण


मेजर ब्रिज: 4


अंडरपास: 7


मेजर इंटरसेक्शन: 1

No comments:

Post a Comment