भू-माफिया झोलाछाप तेरे कितने रंग अपनी छवि बचाने लेना पड़ रहा है यूट्यूब चैनल और सोशल मीडिया का सहारा... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Sunday, October 30, 2022

भू-माफिया झोलाछाप तेरे कितने रंग अपनी छवि बचाने लेना पड़ रहा है यूट्यूब चैनल और सोशल मीडिया का सहारा...


रेवांचल टाइम्स - मंडला जिले के आदिवासी बाहुल्य नगर ग्रामों और कस्बों में भू माफियाओं की बाढ़ सी आई है सरकारी संपत्ति हो या भूमि हो इनसे अब अछूते नही रही है ये माफियाओं को कही न कही निचले स्तर के अधिकारी कर्मचारी को सेट कर और अपने निजी स्वार्थ के चलते इन्हें फायदा पहुँचा रहे है और अपनी जेब गर्म कर रहे है आज जिले की कोई भी सरकारी भूमि सुरक्षित नजर नही आ रही है।

          वही सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार भू-माफिया झोलाछाप अमित सुलखिया के ऊपर स्थानीय ग्रामीणों ने सरकारी भूमि और झोला छाप डॉक्टर होना का आरोप लगाया था और इसकी शिकायत थाना से लेकर जिला स्तर तक कि पर कही न कही पैसे के रुतेव के कारण आज हर शिकायत झूठी साबित की जा रही है घर ग्रामीणों ने जो शिकायत की है वह बिना जाने समझे किसी की भी शिकायत आखिर कैसे कर दी क्या स्थानीय लोगों को इस अबैध भू माफ़िया और झोलाछाप डॉक्टर से क्या बुराई है जो लोग शिकायतें कर खुद का ओर सरकारी विभागों में बैठे जिम्मदारो का समय ख़राब कर रहे हैं लोगो को पता होना चाहिये की एक सरकारी कर्मचारी कितना सरकार के काम मे उलझा रहता है और ऊपर से ये शिकायत बेचारे अधिकारी कर्मचारी करे तो भी क्या।

          वही अब लोग कहने लगे है कि भू माफियाओं और जिला प्रशासन में बैठे जिम्मदारो के कितने रंग होते है ये समझ के परे है गरीबो के लिए कुछ और ओर पैसो वालो के लिए कुछ और रंग वही जनचर्चा का विषय बना हुआ है कि जो आदिवासियों की जमीन हड़पने गिरगिट की तरह रंग बदलने में माहिर रहा है! और जो आदिवासी की भूमि हथियाने के बाद अब यूट्यूबर चैनल का के माध्यम से सोशल मिडिया में अपनी स्वच्छ छवि साबित करने पुर जोर कोशिश कर रहा है सत्य वही जो सच का आइना दिखाए रेवांचल टाइम्स समाचार पत्र ने सच्चाई के साथ भूमाफिया झोलाछाप का काला सच आदिवासी बाहूल्य छेत्र मंडला जिला में हड़कंप है आदिवासियों की जमीन और पैसो का लूटेरा फिर एक सच सामने आ गया बताया गया बीते शनिवार शिकायत में आई राजस्व विभाग टीम पर यू ट्यूबर चैनल कैमरे के सामने राजस्व टीम पर दबाब बना रहा था की बोलो भूमाफिया नहीं हु सब जानते है आदिवासी की जमीन हड़पने हर पैंतरा अपना रहा है और जांच टीम ने जो पंचनामा बनाया जिसमे बताया गया इसका काला सच अब ग्रामीणों ने सच्चाई सामने लाने हर प्रयास कर रही है और ग्रामीणों बोला भी इसकी डिग्री भी बुलवा के देख ले की किस डिग्री से लोगों का ईलाज ये डॉक्टर साब कर रहे तो मौका पाते ही झोलाछाप डॉ भाग खड़ा हुआ वही मौके में ही एक व्यक्ति ने नाम न छापने की शर्त में बताया यह आदिवासी की जमीन हड़पने हर सम्भव कोशिश कर रहा जो लोग इसके खिलाफ जागरूक लोगो ने आवाज बुलंद किये है, डॉक्टर को भी सबक सीखने साफ छवि बनाने 50हजार खर्च कर रहा इसका अगला रंग देखने थोड़ा इंतजार करे। वही अब यह भूमाफिया झोलाछाप आदिवासियों का महंगे दामों में इलाज कर के करोडों का आसामी बन उन्ही के घर डांका डालने आमादा है। और स्थनीय जिम्मेदार जनप्रतिनिधि और प्रशानिक अमला धृष्टराज बना बैठा है।

No comments:

Post a Comment