कूनो पालपुर के विस्थापित ग्रामों को राजस्व ग्राम का दिया जायेंगा दर्जा -मुख्यमंत्री श्री चौहान... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Sunday, September 11, 2022

कूनो पालपुर के विस्थापित ग्रामों को राजस्व ग्राम का दिया जायेंगा दर्जा -मुख्यमंत्री श्री चौहान...

रेवांचल टाईम्स - कूनो नेशनल पार्क में चीता मित्र सम्मेलन संपन्न, 05 स्किल केन्द्र बनाकर लोगों को प्रशिक्षित कर रोजगार उपलब्ध कराया जायेंगा





कूनों नेशनल पार्क में आयोजित चीता मित्र सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कूनो नेशनल पार्क से विस्थापित हुए ऐसे ग्राम जो अभी भी मजरे टोले है, उन्हें पूर्ण राजस्व ग्राम का दर्जा दिया जायेंगा, यह कार्यवाही आज से ही शुरू कर दी गई है। उन्होने कहा कि इस क्षेत्र में 05 स्किल केन्द्र बनाकर क्षेत्रीय युवाओं को रोजगार से जोडने के लिए प्रशिक्षण दिलाकर रोजगार उपलब्ध कराया जायेगा। 

इस अवसर पर केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री भूपेन्द्र यादव, केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद बीडी शर्मा, मप्र के वन मंत्री डॉ कुंवर विजय शाह, वन विभाग के प्रमुख सचिव अशोक वर्णवाल, ग्वालियर-चंबल संभाग के कमिश्नर आशीष सक्सेना सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आगामी 17 सितंबर को चीतों की सौगात देने के लिए कूनो नेशनल पार्क आ रहे है। यह हमारे लिए एक एतिहासिक अवसर है। उन्होने कहा कि हमारे प्रदेश का कूनो नेशनल पार्क अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनायेेगा। उन्होने कहा कि एक महाद्वीप से दूसरे महाद्वीप पर चीतों की शिफ्ंिटग का कार्य एक महत्वपूर्ण कार्य है। कूनो नेशनल पार्क में अफ्रीकन देश नामीबिया से चीतों को यहां बसाया जा रहा है। उन्होने प्रधानमंत्री को धन्यवाद देते हुए कहा कि वे 17 सितंबर को अपने जन्मदिवस पर पालपुर कूनो के बाडे में इन चीतों को विमुक्त करेगे। उन्होने केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री भूपेन्द्र यादव को धन्यवाद देते हुए कहा कि इस प्रोजेक्ट को लाने में उनका पूरा सहयोग रहा है। उन्होने क्षेत्रीय संासद एवं केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के प्रयासो की सराहना करते हुए कहा कि यह पूरा प्रोजेक्ट उनके संसदीय क्षेत्र में स्थापित होने जा रहा है।  

कूनों के प्राकृतिक सौन्दर्य से अभिभूत मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कूनो नेशनल पार्क का प्राकृतिक वातावरण और यहां बहने वाली कूनों नदी सहित अन्य मनोहारी दृश्य इस स्थान को स्वर्ग जैसा अहसास कराते है।  

केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री श्री भूपेन्द्र यादव ने कार्यक्रम में मौजूद स्कूली बच्चों का स्किल कम्युनिकेशन देख मप्र के बच्चों का अभिनन्दन करते हुए कहा कि यहां के बच्चों का शैक्षणिक स्तर प्रंशसनीय है, शैक्षणिक विकास की दृष्टि से बच्चों में पर्यावरण के प्रति जागरूकता को भी दर्शातें है। उन्होने कूनो के आसपास बसे ग्रामों के लोगो को सहज और सरल बताते हुए उनका स्वागत करते हुए कहा कि इस कूनो रिर्जव एरिया के संरक्षण में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है। 

  

उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री के मिशन लाइफ के तहत पर्यावरणीय व्यवस्थाओं की दिशा में सतत् रूप से प्रयास किये जा रहे है। शहर तो हमने बसा लिये, लेकिन सुकुन की तलाश में आज भी हम वनों को तलाशते हुए आते है और कूनो के वन शांति का संदेश देते नजर आ रहे है। उन्होने जलवायु परिवर्तन पर चर्चा करते हुए कहा कि विश्व की कुल आबादी की 17 प्रतिशत आबादी भारत में रहती है और हमारे यहां कार्बन का उत्सर्जन अन्य देशो की अपेक्षा बहुत ही कम है। उन्होने कहा कि पर्यावरण की दिशा में हम यह नही कह सकते कि पूर्वजो ने हमें उत्तराधिकार में क्या दिया है, बल्कि हमारी जिम्मेदारी है कि हम आगे वाली पीढियों को उनका अधिकार एक बेहतर पर्यावरणीय वातावरण के रूप में प्रदान करें। 

कार्यक्रम के प्रारंभ में हेप्पीडेज स्कूल की छात्रा अनुष्का जाटव और सलोनी दीक्षित द्वारा चीतो की आंतरिक सुरक्षा प्रदान करने के संबंध में अपना दृष्टिकोण प्रस्तुत किया। इसके उपरांत चीता मित्रो के प्रतिनिधि के रूप में श्री नवाब सिंह गुर्जर ने कहा कि हमारे सपने आज पूरे हो रहे है। जब चीता कूनो नेशनल पार्क में आ रहा है, इसका संरक्षण करना हम सभी की जिम्मेदारी है। मौके पर सेंसईपुरा स्कूल की छात्रा प्रियंका जाटव एवं सलोनी दीक्षित ने हस्त निर्मित चीता एवं पर्यावरण की पेंटिग मुख्यमंत्री जी को भेंट की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा स्कूली बच्चों से चीता, वन्यप्राणी एवं पर्यावरण के संबंध में प्रश्न पूछे गये, जिसक जवाब बच्चों के द्वारा ठीक तरह से दिये जाने पर सब बच्चों को शाबाशी दी गई। 

कार्यक्रम के अंत में प्रदेश के वन मंत्री डॉ कुंवर विजय शाह ने सभी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हिन्दुस्तान में भारत सरकार द्वारा चीतों के लिए जो प्रयास किये गये है, वह सराहनीय है। 


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा चीतों की रिलीज साइट का अवलोकन

केन्द्रीय वन मंत्री एवं केन्द्रीय कृषि मंत्री भी रहे मौजूद 

प्रधानमंत्री जी के कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लिया

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री भूपेन्द्र यादव एवं केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के साथ कूनो नेशनल पार्क में 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा अफ्रीकन चीतों को रिलीज किये जाने की साइट का अवलोकन किया गया। इस अवसर पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद श्री बीडी शर्मा सहित वन विभाग के आला अफसर मौजूद थे। 

       मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा कूनों नेशनल पार्क में नामीबिया से लाये गये चीतों की पहली खेप की शिफ्ंिटग के संबंध में अधिकारियों से चर्चा कर व्यवस्थाओं की समीक्षा भी की गई। इस दौरान उन्होने चीतों को रिलीज करने के लिए बनाये गये दो बाडो का निरीक्षण किया तथा रिलीज साइट पर चीतों को विमुक्त किये जाने की व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

No comments:

Post a Comment