टॉयलेट में मोबाइल इस्तेमाल करना हो सकता है खतरनाक, भुगतने पड़ सकते हैं ऐसे गंभीर परिणाम! - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Friday, August 5, 2022

टॉयलेट में मोबाइल इस्तेमाल करना हो सकता है खतरनाक, भुगतने पड़ सकते हैं ऐसे गंभीर परिणाम!



रेवांचल टाईम्स:स्मार्टफोन हमारी जिंदगी का महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है। स्मार्टफोन की लोगों को इतनी आदत हो गई है कि इसके बिना एक मिनट भी गुजारना मुश्किल होता जा रहा है। स्मार्टफोन लोगों के लिए मनोरंजन का साधन भी बन गया है। इसी वजह से रात को सोते वक्त भी लोग बिस्तर पर लेटे लेटे मोबाइल चलाते हैं। रात को उसे अपने पास ही रखकर सोते हैं। सुबह उठते ही सबसे पहले अपना मोबाइल चेक करते हैं। कई लोग तो सुबह टॉयलेट में भी स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो यह आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है।

चिपक जाते हैं खतरनाक जर्म्स और बैक्टीरिया
बता दें कि टॉयलेट हानिकारक बैक्टीरिया और जर्म्स का घर होता है। ऐसे में टॉयलेट सीट पर बैठकर मोबाइल पर बात करना, चैट करना या गाने सुनना खतरनाक हो सकता है। इससे खतरनाक जर्म्स और बैक्टीरिया मोबाइल की स्क्रीन पर चिपक सकते हैं। इन बैक्टीरिया और जर्म्स से कब्ज, पेट दर्द, यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन भी हो सकता है।

घर की अन्य जगहों पर भी पहुुंच जाएंगे बैक्टीरिया

जब आप टॉयलेट में बैठकर स्मार्टफोन चलाते हैं तो खतरनाक कीटाणु आपके मोबाइल पर चिपक जाते हैं। इसके बाद जब आप उन्हीं हाथों से टॉयलेट पेपर या टॉयलेट सीट को स्पर्श करते हैं उन सभी पर बैक्टीरिया लग जाते हैं। आप टॉयलेट से बाहर निकलने से पहले हाथ तो साफ कर लेते हैं। लेकिन जो कीटाणु आपके मोबाइल पर चिपके होते हैं वे इसके जरिए घर के बेडरुम, किचन या डायनिंग रुम और घर के हर कोने में फैल जाते हैं।

हो सकती है पेट में सूजन और डायरिया की समस्या
जब आप बैक्टीरिया चिपके मोबाइल को चलाते हैं और उन्हीं हाथों से खाना खाते हैं तो वे खतरनाक बैक्टीरिया और जर्म्स आपके पेट में पहुंच जाते हैं। इसकी वजह से डायरिया, यूटीआई और पाचन से जुड़ी समस्याएं हो सकती है। साथ ही पेट के अंदरुनी हिस्सों और आंतों पर सूजन भी आ सकती है।

पाइल्स की समस्या
बता दें कि आमतौर पर पाइल्स की समस्या पाचन क्रिया के कमजोर होने पर होती है। साथ ही कुछ हद तक टॉयलेट में मोबाइल का इस्तेमाल भी इसका जिम्मेदार है। मोबाइल लेकर देर तक टॉयलेट में बैठे रहना और बेवजह प्रेशर लगाना इसका बड़ा कारण है। टॉयलेट सीट पर एक स्थान पर बैठे बैठे मोबाइल चलाने से पाइल्स की समस्या होने का भी खतरा होता है। लंबे समय तक कमोड पर बैठे रहने से मांसपेशिंया शिथिल हो जाती है, जिसकी वजह से हेमोरॉयड्स यानी पिल्स होने का खतरा बढ़ता है।

No comments:

Post a Comment