आर ई एस विभाग की मनमानी के चलते तीन महीने से पुलिया निर्माण का काम बंद ग्रामीण हो रहे परेशान, कभी भी हो सकता है, बड़ा हादसा... अधिकारी बोले पंद्रहवे वित्त का नही आ रहा पैसा - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Thursday, August 4, 2022

आर ई एस विभाग की मनमानी के चलते तीन महीने से पुलिया निर्माण का काम बंद ग्रामीण हो रहे परेशान, कभी भी हो सकता है, बड़ा हादसा... अधिकारी बोले पंद्रहवे वित्त का नही आ रहा पैसा



रेवांचल टाइम्स - आदिवासी बाहूल्य जिला डिंडौरी के मेहद्ववानी जनपद पंचायत क्षेत्र के खरगवारा ग्राम पंचायत के पोषक ग्राम कुकर्रा गांव में जंगल नाला में निर्माणाधीन पुलिया का निर्माण बन्द पड़ा है।जिससे ग्रामीण परेशान है। वही आर ई इस विभाग के अधिकारी शासन द्वारा पंद्रहवे वित्त की राशि न मिलने की वजह से काम बंद होने की बात कह रहे है। वैसे तो हम सभी जानते हैं आर ई एस विभाग हमेशा सुर्खियों में छाया रहता है और अमृत सरोवर योजना के अंतर्गत कई चेक डैम का निर्माण कार्य गुणवत्ता हीन करवाया गया है जिसका समाचार मीडिया ने प्रमुखता से कई बार प्रकाशित किया है इसके बावजूद भी इनकी मनमानी हद पार कर चुकी है 

कई मजदूरों की मजदूरी भुगतान भी बकाया

कुकर्रा गांव के ग्रामीण चूरामन ने बताया कि आर ई एस विभाग द्वारा जंगल नाला में मार्च महीने में निर्माण कार्य शुरू किया गया था ।लेकिन कुछ दिन बाद ही काम बंद कर दिया गया है नाले में बड़े बड़े गड्ढे है जिसमें कभी भी कोई दुर्घटना हो सकती है नाले को पार करके ही दूसरी तरफ  खेत मे ना आया जाया जा सकता है ना जाया जा सकता है।इस निर्माण में काम करने वाले दर्जनों मजदूरों की मजदूरी भुगतान भी बकाया है ।अधिकारी अब देखने तक नही आ रहे है।वही इस मामले में आर ई एस विभाग के एक्सक्यूटिव इंजीनियर एस डी बघेल का कहना है कि यह कार्य पंद्रहवे वित्त की राशि लागभग पंद्रह लाख  से बनाया जा रहा है अभी बीच मे शासन द्वारा राशि जारी नही की गयीं है जैसे ही शासन द्वारा राशि जारी होते ही निर्माण कार्य फिर से शुरू करा दिया जाएगा।

No comments:

Post a Comment