मध्य प्रदेश: CM शिवराज को मिली ‘घटिया और ठंडी’ चाय, सप्लाई अधिकारी को भेजा गया नोटिस - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Tuesday, July 12, 2022

मध्य प्रदेश: CM शिवराज को मिली ‘घटिया और ठंडी’ चाय, सप्लाई अधिकारी को भेजा गया नोटिस



छतरपुर (मप्र)। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जमीन से जुड़े नेता माने जाते हैं। लोगों से मिलते-जुलते रहना उनकी दिनचर्या है। उनका हंसमुख और शांत स्वभाव लोगों के बीच उन्हें बेहद लोकप्रिय बनाता है। इन सबके बीच एक ऐसी खबर आई जिसमें कथित तौर पर दावा किया गया कि खजुराहो एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सत्कार में लापरवाही हुई। उन्हें कथित तौर पर घटिया और ठंडी चाय दी गई थी। इसको लेकर कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी को कारण बताओ नोटिस भी जारी कर दिया गया और उनसे 3 दिनों के भीतर जवाब मांगा गया था। यह नोटिस छतरपुर जिले के राजनगर अनुविभागीय अधिकारी (एसडीएम) डीपी द्विवेदी ने राजनगर में पदस्थ कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी राकेश कन्हुआ को 11 जुलाई को जारी किया था।

हालांकि, नोटिस जारी होने के बाद से प्रशासन की भारी किरकिरी हो रही थी और विपक्षी दल कांग्रेस भी इसको लेकर सरकार पर तंज कस रहा था और निरस्त करने की मांग कर रहा था। यही कारण है कि इसे निरस्त कर दिया गया। कन्हुआ को जो जारी नोटिस जारी किया गया था उसमें लिखा था कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के 11 जुलाई को खजुराहो हवाईअड्डे पर ट्रांजिट विजिट के दौरान मैन्यु के अनुसार चाय-नाश्ता व्यवस्था हेतु आपको (राकेश को) दायित्व सौंपा गया था। लेकिन, सूचना प्राप्त हुई है कि मुख्यमंत्री को उपलब्ध कराई गई चाय का स्तर सही नहीं था एवं ठंडी थी। नोटिस के अनुसार परिणामतः जिला प्रशासन की अशोभनीय स्थिति निर्मित हुई एवं प्रोटोकॉल के अनुपालन पर प्रश्न चिह्न लगा है। आपके द्वारा वीवीआईपी की व्यवस्था को हल्के में लिए जाने से उक्त स्थिति निर्मित हुई है एवं कोताही बरती गई है, जो प्रोटोकॉल के प्रावधानों के विपरीत होने से कदाचरण है।

नोटिस में कहा गया है, ‘‘अतः कारण स्पष्ट करें कि क्यों न आपके विरुद्ध उपरोक्त कदाचरण के अनुक्रम में कठोर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाए। आपका समाधान कारक जवाब तीन दिन के भीतर प्रस्तुत नहीं होने की स्थिति में आपके विरुद्ध एकपक्षीय कार्रवाई की जाएगी एवं बाद में पेश किया गया जवाब ग्राह्य नहीं होगा।’’ आपको बता दें कि 11 जुलाई को मुख्यमंत्री चौहान और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा खजुराहो हवाईअड्डे पर आए थे। खजुराहो से मुख्यमंत्री नगरी निकाय चुनाव के तारतम्य में रीवा के लिए गए थे, जबकि शर्मा कटनी की ओर खजुराहो से रवाना हुए थे। वहीं, नोटिस जारी होने के एक दिन बाद मंगलवार को छतरपुर जिलाधिकारी संदीप जी आर ने इस कारण बताओ नोटिस को निरस्त कर दिया है। उन्होंने राजनगर अनुविभागीय अधिकारी को लिखे पत्र में कहा है, ‘‘आपके द्वारा जारी किया गया कारण बताओ नोटिस मेरे संज्ञान में आया है। इस संदर्भ में आपको यह स्पष्ट किया जाता है कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा इस विषय में एवं प्रोटोकॉल उल्लंघन के संबंध में कोई टिप्पणी नहीं की गई है। अत: जारी कारण बताओ नोटिस को निरस्त करना सुनिश्चित करें।’’

No comments:

Post a Comment