कृषि विज्ञान केन्द्र में सलाहकार समिति की बैठक आयोजित - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Friday, July 22, 2022

कृषि विज्ञान केन्द्र में सलाहकार समिति की बैठक आयोजित

 


 

मण्डला 22 जुलाई 2022   

            वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख कृषि विज्ञान केन्द्र मंडला ने बताया कि कृषि विज्ञान केन्द्र मण्डला के डॉ. अम्बेडकर सभागार में इक्कीसवीं वैज्ञानिक सलाहकार समिति की बैठक आयोजित की गई। इस सलाहकार समिति की अध्यक्षता वरिष्ठ वैज्ञानिक, डॉ. संजय वैशंपायन, जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय जबलपुर के द्वारा की गई। साथ ही अन्य विभागों से आर.डी. जाटव सहायक संचालक कृषि, प्रियंका मेश्राम सहायक कृषि यंत्री ने कोदो कुटकी की बुवाई हेतु मशीनों का प्रयोेग किये जाने हेतु सुझाव दिये। एस.के. उईके मत्स्य विभाग दिनेश यादव, रिलाइंस फाउंडेशन सुरेन्द्र गुप्ता एक गांव टेक्नोलॉजी, रंजीत कछवाहा कान्हा कृषि वनोपज, सुरेन्द्र सैयाम उद्यानिकी विभाग, सतीष कुमार मांेगरे एफपीओ, विपिन पटैल आसा एनजीओ से सम्मिलित हुए। बैठक का शुभारंभ सरस्वती पूजन कुलगीत एवं अतिथियों के स्वागत से हुआ। सभी सदस्यों के परिचय के बाद कृषि विज्ञान केन्द्र मण्डला के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. विशाल मेश्राम द्वारा विगत वर्ष में की गई गतिविधियों का संक्षिप्त प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया।

            सलाहकार समिति की बैठक में रबी 2021-22 का प्रगति प्रतिवेदन एवं खरीफ की कार्ययोजना की समीक्षा की गई एवं आवश्यक सुधार हेतु सुझाव लिये गये। डॉ. वैश्मपायन के द्वारा प्राकृतिक खेती पर जोर दिया गया। अन्य विभागों से उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा कोदो कुटकी का रकबा बढ़ाने एवं मार्केटिंग पर चर्चा की गई। डॉ. संजय वैश्मपायन के द्वारा ग्राम बक्छेरादोना में कृषि विज्ञान केन्द्र के द्वारा संचालित अरहर के संकुल प्रदर्शनों का निरिक्षण किया गया। कार्यक्रम का आभार डॉ. प्रणय भारती द्वारा प्रकट किया गया। कार्यक्रम के सफल आयोजन हेतु डॉ. विशाल मेश्राम के मार्गदर्शन में संस्था के वैज्ञानिक डॉ. आर.पी. अहिरवार, केतकी धूमकेती, रज्जू सिंह राजपूत आदि का सहयोग रहा।

No comments:

Post a Comment