कक्षा 9वीं के प्रत्येक विद्यार्थियों का बेसलाईन टेस्ट लिया जाना होगा अनिवार्य - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Thursday, July 21, 2022

कक्षा 9वीं के प्रत्येक विद्यार्थियों का बेसलाईन टेस्ट लिया जाना होगा अनिवार्य

 




मण्डला 21 जुलाई 2022

          समग्र शिक्षा अंतर्गत जिले में शैक्षणिक सत्र 2022-23 में प्रवेश के समय कक्षा 9वीं के छात्रों के शैक्षणिक स्तर का आंकलन ब्रिज कोर्स मोड्यूल के आधार पर किया जा रहा है। इस संबंध में कक्षा 9वीं में अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिए ब्रिज कोर्स के संचालन हेतु जिले के समस्त प्राचार्यों एवं विषय शिक्षकों को एक दिवसीय शिक्षण प्रशिक्षण दिया गया है। इस वर्ष अंग्रेजी, गणित एवं हिन्दी विषय के माड्यूल के प्रभावी उपयोग हेतु राज्य स्तर से प्रशिक्षित जिले के मुख्य स्त्रोत विशेषज्ञों के द्वारा शासकीय विद्यालयों में अध्यापन कराने वाले संबंधित शिक्षकों को विषयवार 16, 18, 19 एवं 20 जुलाई को एक दिवसीय शिक्षण प्रशिक्षण शासकीय रानी अवंती बाई कन्या उमावि मण्डला में प्रदान किया गया।

जिले में ब्रिजकोर्स का संचालन हेतु निर्देश- ब्रिजकोर्स प्रशिक्षण में सभी विद्यार्थियों का बेस लाईन टेस्ट लेकर उसकी वास्तविक जानकारी विमर्श पोर्टल पर अपलोड करने के निर्देश दिए गए। साथ ही 31 अगस्त तक कक्षा 9वीं के लिए ब्रिज कोर्स से संबंधित विषयों के दो-दो पीरीयड लेने हेतु निर्देशित किया। बेसलाईन टेस्ट के आंकलन कर छात्रों को दो ग्रुप 3 से 5 एवं 6 से 8 में पृथक कर उनकी दक्षता का आंकलन कर उन्हें कक्षा 9वीं के अनुरूप अध्यापन कराकर दक्ष किया जायेगा। इसके पश्चात उन विद्यार्थियों का मिडलाईन टेस्ट 31 जुलाई के पूर्व लिया जाकर प्राचार्य विषयवार समीक्षा करेंगें।

एण्डलाईन टेस्ट - त्रैमासिक परीक्षा के आधार पर इन बच्चों का एण्डलाईन टेस्ट होगा जिसका परीक्षा परिणाम 15 सितम्बर तक विमर्श पोर्टल पर प्रविष्ट किया जायेगा।

विद्यार्थियों के लिए अभ्यास एवं शिक्षकों का दायित्व - ब्रिजकोर्स के दौरान नियमित अभ्यास की आवश्यकता होगी। इसी उद्देश्य से विद्यार्थियों के लिए हिन्दी, गणित एवं अंग्रेजी की वर्कबुक दी गई है। शिक्षकों का दायित्व होगा कि छात्रों का अधिक से अधिक अभ्यास करायें व प्रतिदिन संचालित ब्रिजकोर्स का अवलोकन कर वर्कबुक पर किये गये कार्य का सत्यापन करेंगे।

प्राचार्यों का दायित्व- बेसलाईन टेस्ट की आवश्यक संख्या में फोटोकॉपी करवाकर विद्यार्थियों का टेस्ट करवाना। विद्यार्थियों के स्तर की प्रविष्टि विमर्श पोर्टल पर निर्धारित समयावधि में प्रविष्ट करें, नामांकन के आधार पर रिपोर्ट दर्ज न करें। जिले से प्राप्त निर्देशानुसार वर्कबुक एवं मॉड्यूल की उपलब्धता एवं शिक्षकों द्वारा उपयोग सुनिश्चिवत करें। हिन्दी, गणित एवं अंग्रेजी के विषय शिक्षक उपलब्धन होने की दशा में संस्था में पदस्थ व्याख्याता व उमाशि से ब्रिज कोर्स का अध्यापन करायें एवं अतिथि शिक्षक की नियुक्ति उपरांत जिले से प्रशिक्षण प्राप्त कर ही ब्रिज कोर्स का अध्यापन कराया जाये। समय-सारणी में ब्रिजकोर्स के लिये समय आवंटित कर पर्याप्त संख्या में शिक्षकों को कक्षा 9वीं में अध्यापन हेतु कालखण्ड आवंटित करें। कम से कम 10 विद्यार्थियों की वर्कबुक की क्रॉस चेकिंग कर उन पर प्रतिहस्ताक्षर करना।

मॉनिटरिंग -         जिले में ब्रिज कोर्स का संपूर्ण संचालन का दायित्व जिला शिक्षा अधिकारी को सौंपा गया है। राज्य, संभागीय एवं जिला स्तर से अधिकारियों द्वारा नियमित मॉनिटरिंग किया जायेगा। जिला शिक्षा अधिकारी एवं जिला स्तर के अधिकारियों द्वारा प्रतिमाह कम से कम 10 विद्यालयों की मॉनिटरिंग की जायेगी जिसकी सूची राज्य स्तर से प्रेषित की जायेगी। बेसलाईन टेस्ट एवं मिडलाईन टेस्ट के दिवसों में जिला शिक्षा अधिकारी स्वयं एवं अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक तथा विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी नियमित मॉनिटरिंग करेंगे। डीएड, बीएड एवं एमएड के विद्यार्थियों को शाला आवंटित कर बेसलाईन टेस्ट का निरीक्षण कराया जायेगा। वे अपने सामने टेस्ट संचालित कर टेस्ट कॉपी का मूल्यांकन तथा प्रश्नवार विश्लेषण कर रिपोर्ट के आधार पर जिले की विश्लेषण रिपोर्ट तैयार कर राज्य कार्यालय को भेजी जायेगी।

          जिला स्तर पर ब्रिज कोर्स प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रभारी एवं सहायक प्रभारी सुभाषचन्द्र चतुर्वेदी, ए.च. खान, अखिलेश चंद्रौल, अखिलेश उपाध्याय एवं गायत्री शुक्ला रहे। कार्यक्रम दिवसों में 196 प्राचार्यों, 180 हिन्दी, 173 अंग्रेजी एवं 185 गणित के शिक्षकों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया। गणित विषय में शिवप्रसाद साहू, राकेश चौरसिया, सनातन सैनी, रितेश ताम्रकार, अंग्रेजी विषय में चैनसिंह कुशरो, भागवत प्रसाद यादव, ऐहतेशाम नूर, नुज़हत अंजुम, हिन्दी विषय का प्रशिक्षण शांति प्रकाश अग्रवाल, लक्ष्मी़ उईके द्वारा प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में मास्टर ट्रेनर्स द्वारा निर्मित पीपीटी के द्वारा शिक्षकों को प्रशिक्षण प्रदान करते हुए उनकी जिज्ञासाओं का समाधान किया। प्रशिक्षण का शुभारंभ 16 जुलाई 2022 को कलेक्टर मण्डला की अध्यक्षता में किया गया, जिसमें सहायक आयुक्त डॉ. विजय तेकाम, जिला शिक्षा अधिकारी सुनीता बर्वे, जिला योजना अधिकारी एलएस मसराम, अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक मुकेश पाण्डे्य, एपीसी सर्व शिक्षा अभियान हरेन्द्र सिंह वर्मा, एपीसी सर्व शिक्षा अभियान के.के. उपाध्याय, जयलक्ष्मी सोनी, समस्त विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी जिला मंडला, समस्त विकासखण्ड स्त्रोत समन्वयक एवं समस्त प्राचार्य उपस्थित रहे। कलेक्टर मण्डला द्वारा हर घर तिरंगाअभियान में विद्यार्थियों एवं शिक्षकों की सहभागिता को सुनिश्चित करने को कहा तथा इस अभियान संबंधित गतिविधियां आयोजित करने के निर्देश दिए। इस वर्ष के बोर्ड परीक्षा परिणाम को और बेहतर करने हेतु प्राचार्यों को प्रेरित किया। वर्षाकाल में अंकुर अभियान अंतर्गत अधिकाधिक वृक्षारोपण कराने हेतु चर्चा की व विद्यालय में नियमित कैरियर मार्गदर्शन गतिविधियों का आयोजित करने को कहा एवं पंचायत निर्वाचर कार्य में शिक्षकों की भूमिका की सराहना की। इस अवसर पर कलेक्टर हर्षिका सिंह द्वारा हरित शपथ दिलाई गई। संपूर्ण प्रशिक्षण में मुकेश पाण्डेय द्वारा कक्षा 9वीं में अध्ययनरत विद्यार्थियों हेतु ब्रिजकोर्स का संचालन, कक्षा 8वीं से 9वीं में एवं कक्षा 10वीं से 11वीं में नवीन प्रवेश के संबंध में, दिव्यां्ग श्रेणी के विद्यार्थियों का प्रवेश, यू-डाईस की एन्ट्री, व्यावसायिक शिक्षा पाठ्यक्रम का संचालन, फर्नीचर, पुस्तक वितरण, झण्डा अभियान को सम्पन्न कराने, व्यावसायिक एवं एसएमडीसी आडिट, वित्तीय चर्चा, विद्यालय में विद्युत की उपलब्धता समस्त बिन्दुओं पर विस्तारपूर्वक चर्चा की। अखिलेश उपाध्याय द्वारा एमपी टुरिज्म क्विज प्रतियोगिता में सहभागिता के विषय में एवं आईसीएसजीपीएस कैरियर पोर्टल पर विद्यार्थियों के पंजीयन के विषय में समस्त प्राचार्यों को जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन जिला कैरियर कांउसलर अखिलेश उपाध्याय द्वारा किया गया। कार्यशाला में प्राचार्य रानी अवंती बाई जयलक्ष्मी सोनी, देवेन्द्र दुबे, इकबाल खान, सुमित कुशवाहा, अंकुश चौरसिया, अभिषेक चौधरी, सैयद जावेद जैदी, शिवराज पटैल, अरविन्द यादव, प्रशांत प्रधान, पुलकित यादव का कार्यशाला में महत्वपूर्ण सहयोग रहा।

No comments:

Post a Comment