गोंड कलाकारों के चित्रों की प्रदर्शनी से हुआ रज़ा स्मृति 2022 का शुभारंभ, चित्रकला कार्यशाला, माटी पर रंग और छाते पर रंग का भी चल रहा है आयोजन - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Wednesday, July 20, 2022

गोंड कलाकारों के चित्रों की प्रदर्शनी से हुआ रज़ा स्मृति 2022 का शुभारंभ, चित्रकला कार्यशाला, माटी पर रंग और छाते पर रंग का भी चल रहा है आयोजन




रेवांचल टाईम्स - मंडला, मंगलवार को विश्व विख्यात महान चित्रकार सैयद हैदर रज़ा की स्मृति में आयोजित रज़ा स्मृति 2022 का शुभारंभ किया गया। रज़ा स्मृति के पहले दिन 24 गोंड कलाकारों के चित्रों की प्रदर्शनी की शुरुआत की गई। इस प्रदर्शनी का शुभारंभ रज़ा कला वीथिका में कान्हा टाइगर रिज़र्व की डिप्टी डायरेक्टर ऋषिभा सिंह नेताम, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी मीणा मसराम, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गजेंद्र सिंह कँवर और केंद्रीय इस्पात व ग्रामीण विकास राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते के प्रतिनिधि जयदत्त झा ने दीप प्रज्वलित कर किया। इस दौरान वरिष्ठ चित्रकार अखिलेश ने अतिथियों को रज़ा स्मृति 2022 के की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मंडला में पहली बार ट्राइबल आर्टिस्ट्स की कलाकृतियों की प्रदर्शनी लगाईं गई है ताकि कलाकारों को प्रत्साहन मिले व स्थानीय कलाकार भी इस कला को जाने और इसके विस्तार में अपना योगदान दे। इस प्रदर्शनी में नकुल पुशाम, हीरो बाई पंद्रम, चैन सिंह विक्रांत श्याम, सुषमा श्याम, सुनील नेताम, राहुल श्याम, सुनील श्याम मोती, कमला परस्ते, सुरेश कुशराम, अनीता कुशराम, चंपी बाई, ज्योति उइके, प्रेमवती पुशाम, शोभा रानी, फूलचंद धुर्वे, कैलाश प्रधान, संतोष श्याम, संतोष परस्ते, माया मार्को, जयती कुसराम, संजय पंचेश्वर, राधेश्याम खैरवार और रामकुमार श्याम की कलाकृतियां प्रदर्शित की गई है। दीप प्रज्वलन के बाद अतिथियों ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया। वरिष्ठ चित्रकार अखिलेश और प्रदर्शनी के मौजूद कलाकारों ने कलाकृतियों के बारे जानकारी दी।


कान्हा टाइगर रिज़र्व की डिप्टी डायरेक्टर ऋषिभा सिंह नेताम ने प्रदर्शित चित्रों को देखकर ख़ुशी जाहिर की। उन्होंने कहा कि उन्हें यह देखकर काफी ख़ुशी हुई कि मंडला में रज़ा फाउंडेशन द्वारा कलाकारों को इतना बेहतर मंच उपलब्ध कराया जा रहा है जिससे वो अपनी कला को बेहतर तरीके से प्रदर्शित कर रहे है। अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी मीणा मसराम ने कहा कि मैं शुरू से मंडला में फाउंडेशन के कार्यों को देख रही हूँ। इनके द्वारा कला की विभिन्न विधाओं को बढ़ावा देने का सार्थक कार्य किया जा रहा है। इससे नगर व जिले में कला को लेकर लोगों में जागरूकता आई है और अच्छा माहौल तैयार हुआ है।


अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गजेंद्र सिंह कँवर ने कहा कि रज़ा फाउंडेशन के कार्यक्रम में हमेशा कुछ नया देखने को मिलता है। इस बार गोंड कलाकारों की प्रदर्शनी में एक से बढ़कर एक कलाकृति देखने को मिली। चित्रकला कार्यशाला में लोगों को मौका मिलता है कि वो अपने अंदर छिपे कलाकार को बाहर निकाल सके। मंडला के लोगों को साल में दो बार यह मौका मिलता है। विभिन्न विधाओं से सम्बंधित भारतीय शास्त्रीय संगीत व नृत्य के नामचीन कलाकारों को भी नज़दीक से देखने और सुनने का मौका फाउंडेशन उपलब्ध कराता है। मंडला के कला प्रेमियों के लिए यह बड़ा अवसर होता है जब महानगरों के स्तर के आयोजन हमारे नगर में होते है । सभी को बड़ी संख्या में इसमें सहभागी बनना चाहिये।  


केंद्रीय इस्पात व ग्रामीण विकास राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते के प्रतिनिधि जयदत्त झा ने कहा कि लोग इस ओर आकर्षित हो रहे हैं। कला और संस्कृति के साथ स्थानीय लोगों को मौका दिया जा रहा है जिसकी नितांत आवश्यकता थी। बड़े चित्रकार, कलाकारों के संपर्क में आने से लोग एक ओर प्रेरित हो रहे हैं वहीं उन्हे सही मार्गदर्शन दिया जा रहा है।


कथक नृत्य की प्रस्तुति आज -

रज़ा उत्सव के दूसरे दिन बुधवार को बड़ी संख्या में कला प्रेमी चित्रकारी करने पहुंचे। इस दौरान बच्चों और महिलाओं में खासा उत्साह देखा गया। कोई ड्राइंग शीट तो कोई केनवास पर चित्रकारी करते नज़र आया। इस दौरान लोग मिट्टी के गुल्लक, गमले और छातों में भी पेंटिंग करते दिखे। गुरुवार की शाम 7 बजे बच्चों द्वारा कथक नृत्य प्रस्तुत किया जायेगा। कथक की प्रस्तुति उन छात्र - छात्राओं द्वारा की जाएगी जिन्होंने मई माह से लगातार रज़ा कला वीथिका में आयोजित निःशुल्क कथक का प्रशिक्षण दिल्ली से प्रशिक्षित नृत्यांगना रानू चंद्रौल से प्राप्त किया किया है।


सुबह 11 से शाम 6 तक चलेगी कार्यशाला -

रज़ा फाउंडेशन के सदस्य सचिव संजीव चौबे ने बताया कि 19 जुलाई से 23 जुलाई 2022 तक चलने वाले रज़ा स्मृति में 20 जुलाई 2022, बुधवार की सुबह 11 बजे से चित्रकला कार्यशाला, माटी पर रंग और छाते पर रंग का आयोजन चलेगा। यह कार्यशाला रज़ा कला वीथिका, मण्डला में सुबह : 11:00 बजे से शाम : 6:00 बजे तक चलेगी। इस कार्यशाला में बतौर कलाकार संजय पंचेश्वर, राधेश्याम खैरवार, रामकुमार श्याम, राहुल श्याम, गरीमा ताम्रकर व रफीक शाह उपस्थित रहेंगे। कार्यशाला में हर आयु वर्ग के लोग आकर कलाकारों के कार्यों को देख और सीख सकते है। रज़ा फाउंडेशन कार्यशाला में शामिल होने वाले सभी कला प्रेमियों को आर्ट मटेरियल उपलब्ध कराता है। 22 जुलाई 2022, शुक्रवार की शामः 07:00 बजे संगीत संध्या में संस्कृति वाहने का सितार वादन और प्रकृति वाहने का संतूर वादन होगा। 23 जुलाई 2022 , शनिवार की सुबह 10:00 बजे बिंझिया कब्रिस्तान स्थित चित्रकार सैयद हैदर रज़ा व उनके पिता की कब्र पर पुष्पांजलि दी जाएगी। 23 जुलाई 2022 , शनिवार शामः 6:00 बजे काव्य पाठ का आयोजन किया गया है। इसमें सुशीला पुरी, बसंत त्रिपाठी, बाबुषा कोहली, पूनम अरोडा, जोशना बैनर्जी, आडवानी,पूनम वासम, नताशा, अमिताभ चौधरी, अनुज लुगुन, वीरू सोनकर, विवेक चतुर्वेदी काव्य पाठ करेंगे।


रज़ा स्मृति के संयोजक योगेंद्र त्रिपाठी ने समस्त कला प्रेमियों से सभी कार्यक्रमों में उपस्थित होने का आग्रह किया है। रज़ा फाउंडेशन द्वारा आयोजिय रज़ा स्मृति 2022 में जिला पुरातत्व, पर्यटन एवं संस्कृति परिषद् , मण्डला, माँ रेवा सेवा महाआरती समिति और इनर वोइस सोसाइटी सहयोग कर रही है।

No comments:

Post a Comment