गुजरात में मिला दुर्लभ ब्लड ग्रुप, दुनिया में सिर्फ 10 लोगों का है ये ब्‍लड ग्रुप - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Thursday, July 14, 2022

गुजरात में मिला दुर्लभ ब्लड ग्रुप, दुनिया में सिर्फ 10 लोगों का है ये ब्‍लड ग्रुप



नई दिल्‍ली। अब तक आपने कितने तरह के ब्लड ग्रुप (blood group) के बारे में सुना है। शायद ए, बी, ओ या फिर एबी, लेकिन गुजरात में ऐसा ग्रुप मिला जो भारत में पहली बार है, जो दुनिया में सबसे दुर्लभ भी है। गुजरात के एक 65 वर्षीय व्यक्ति, जो हृदय रोगी है, की पहचान ईएमएम नेगेटिव ब्लड ग्रुप (emm negative blood group) के साथ की गई है, एक अनोखा ब्लड ग्रुप जिसे ‘ए’, ‘बी’, ‘ओ’ या ‘एबी’ के मौजूदा समूहों में वर्गीकृत नहीं किया जा सकता है। बता दें कि गुजरात के सूरत में समर्पण रक्तदान केंद्र के चिकित्सक सनमुख जोशी के अनुसार, 65 वर्षीय मरीज, जिसे हार्ट अटैक आने के बाद इलाज के लिए अहमदाबाद लाया गया था, उसे हार्ट सर्जरी के लिए ब्लड की जरूरत थी। जब अहमदाबाद की लेबोरेट्री में उनके ब्लड टाइप की पहचान नहीं की जा सकी, तो सैम्पल सूरत ब्लड डोनेशन सेंटर में भेजे गए।

पूरे विश्लेषण के बाद, यह बात सामने आई कि ये सैंपल किसी स्पेशल ग्रुप से संबंधित नहीं था, और ऐसे में उस बुजुर्ग व्यक्ति के ब्लड सैंपल, उसके रिश्तेदारों के साथ, टेस्टिंग के लिए अमेरिका भेजे गए। जिसके बाद बुजुर्ग व्यक्ति के ब्लड टाइप को ईएमएम (EMM) के रूप में पहचाना गया, जिससे यह भारत में सबसे दुर्लभ ब्लड ग्रुप का पहला और दुनिया का दसवां ब्लड ग्रुप बन गया है।



बायोकैमिकल, सीरोलॉजिकल और अनुवांशिक कारणों के आधार पर 376 से अधिक प्रकार के ब्लड ग्रुप एंटीजन हैं। बाकी के एंटीजन असाइन नहीं किए गए हैं और उन्हें हाई इंसीडेंस (901 सीरिज), लो इंसीडेंस एंटीजन (700 सीरिज) या कलेक्शन (200 सीरिज) के रूप में सूचीबद्ध किया गया है। EMM ब्लड ग्रुप हाई इंसीडेंस एंटीजन की श्रेणी में आता है। यह 901 सीरिज (901008) में है।
एंटीबॉडी एंटी-एएमएम ब्लड के रेड ब्लड सेल्स में पाई जाती है। एशियन जर्नल ऑफ ट्रांसफ्यूजन साइंस में 2021 में पब्लिश स्टडी के अनुसार, इस ब्लड ग्रुप वाले लगभग 10 लोग हैं और ये सभी पाकिस्तान, अमेरिका, जापान, मेडागास्कर और अफ्रीका जैसे विभिन्न देशों से संबंधित हैं।

जानिए ब्लड ग्रुप के प्रकार
ब्लड ग्रुप ओ – इसमें कोई एंटीजन नहीं होता है, लेकिन प्लाज्मा में एंटी-ए और एंटी-बी दोनों एंटीबॉडी होते हैं।

ब्लड ग्रुप एबी – इसमें ए और बी दोनों एंटीजन होते हैं, लेकिन एंटीबॉडी नहीं होते हैं।


ब्लड ग्रुप ए – प्लाज्मा में एंटी-बी एंटीबॉडी के साथ रेड ब्लड सेल्स पर ए एंटीजन होता है।

No comments:

Post a Comment