बुधवार के उपाय: बिजनेस में तरक्की और धन-सम्पत्ति के लिए आज करें ये विशेष उपाय - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Wednesday, June 1, 2022

बुधवार के उपाय: बिजनेस में तरक्की और धन-सम्पत्ति के लिए आज करें ये विशेष उपाय

  




हिंदू कैलेंडर व पंचांग के अनुसार आज बुधवार है और आज का दिन संकटमोचन भगवान हनुमान को समर्पित है. इसके अलावा यह दिन भगवान बुध को भी समर्पित है जिन्हें ग्रहों का राजकुमार कहा जाता है. (Lord Ganesha) ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कन्या और मिथुन राशि का स्वामी बुध होता है. (Budhwar ke din kare ye upay) मान्यता है कि बुध बुद्धि, एकाग्रता, वाणी, त्वचा, सौंदर्य और सुगंध का कारक भी है. कहा जाता है कि यदि कुंडली में बुध सही है तो सब ठीक रहता है और अगर बुध कमजोर हो तो खुशियां मुंह मोड़ लेती हैं. ऐसे में यदि आप बिजनेस में नुकसान व जीवन में किसी (Wednesday Puja Tips) परेशानी का सामना कर रहे हैं तो बुधवार के दिन विशेष उपाय जरूर करें.
  1. अगर आपको बिजनेस में नुकसान हो रहा है तो एक कटोरी साबुत हरी मूंग लेकर उसे बुधवार के दिन नमक के पानी के भिगो कर रखें. फिर अगले दिन पानी में से मूंग निकाल कर उसे साफ पानी से धोएं और किसी जानवर को खिलाएं. इससे आपके बिजनेस में वृद्धि होगी.
  2. बिजनेस में बढ़ोत्तरी पाना चाहते हैं तो आज के दिन 4 मुखी रुद्राक्ष की विधि पूर्वक पूजा कर उसे धारण करें. ऐसा करने से जातक के अंदर योग्यता का संचार होता है और बिजनेस में भी लाभ मिलता है.
  3. घर में सुख-शांति और समृद्धि पाना चाहते हैं तो बुधवार के दिन मां दुर्गा के अर्गला स्रोत्र का पाठ अवश्य करें. इससे आपको मनोवांछित फल की प्राप्ति होगी.
  4. कई बार जीवन में करना कुछ चाहते हैं और हो कुछ और ही जाता है तो ऐसे में खुद पर थोड़ा संयम रखें और बुधवार के दिन बुध मंत्र ‘ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं स: बुधाय नम:’ का 11 बार जाप करना चाहिए.
  5. अगर आपके जीवन में कोई मुसीबत है और इससे छुटकारा पाना चाहते हैं तो आज यानि बुधवार के दिन मूल नक्षत्र में श्री गणेश की उपासना करनी चाहिए. इसके अलाव वक्रतुण्ड मंत्र ‘वक्र तुण्डाय हुं’ का जाप करना भी लाभकारी होता है. इस मंत्र का जाप 21 बार करें.

No comments:

Post a Comment