आधी आबादी के हाथ ग्राम की सरकार,सरपंच से लेकर पंच तक निर्विरोध चुनी गयीं महिलाएं - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Tuesday, June 14, 2022

आधी आबादी के हाथ ग्राम की सरकार,सरपंच से लेकर पंच तक निर्विरोध चुनी गयीं महिलाएं

 



चुनाव में आपसी सामांजस्य से आती है विकास में तेजी,बीती पंचायत ने भी की थी मिसाल कायम....


दैनिक रेवांचल टाईम्स - महिलाओं के हाथों में जब ग्राम की सरकार हो तो निश्चित ही यह समझा जा सकता है कि अब पूरी पंचायत का चहुमुखी विकास और दूनी रफ्तार पकड़ेगा क्योंकि गृहस्ती की गाड़ी से लेकर एक परिवार को एकजुट रखने के साथ ही उसे चलाने और मैनजमेंट के पूरे अनुभव का लाभ अब ग्राम की इन चुनी हुई महिलाओं के हाथ है जिनका पंचायती चुनावों में किसी ने विरोध नहीं किया और एक बार फिर से सिवनी जिले के अंर्तगत आने वाली केवलारी तहसील की जामुनपानी ग्राम पंचायत प्रधान से लेकर पंच तक बिना किसी विरोध के चुन लिए गए।


सरपंच सहित 13 पंचों का निर्विरोध चयन--जनपद पंचायत केवलारी अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत जामुनपानी में भी त्रिस्तरीय चुनावों की सरगर्मियां तो देखी जा रहीं थीं लेकिन प्रयास इस बात का किया जा रहा था कि इस बार पंचायत सत्ता महिलाओं के हाथों में हो और किसी का कोई विरोध न करे यह एक असम्भव सा कार्य था क्योंकि 1 सरपंच सहित 13 पंचों के लिए आपसी सामंजस्य जुटाना कोई आसान बात भी नहीं लेकिन गाँव की एकजुटता और सभी के प्रयास से न केवल छाया बाई पन्द्रे को सरपंच चुना गया बल्कि 13 अन्य महिलाओं को भी निर्विरोध चुन कर ग्राम सरकार का गठन किया गया।


पहले भी चुनी जा चुकी है निर्विरोध पंचायत--ग्राम पंचायत जामुन पानी एक बार पहले भी 2014-15 में निर्विरोध चुनी गई थी,ग्राम के वरिष्ट नगरीक और पूर्व सरपंच बसंत चंदेल ने बताया कि वे भविष्य में भी निर्विरोध चुनाव के ही प्रयास करेंगे क्योंकि इससे विकास की संभावनाएं ज्यादा बनती हैं वहीं बीती पंचायत जो निर्विरोध चुनी गई थी उस कार्यकाल के विकास सबके सामने है।


महिलाओं में नहीं छमता की कमी बस मौके की दरकार--जामुनपानी निवासी सिवनी जिले की जानीमानी हस्ती एवं सरपंच संघ के पूर्व अध्यक्ष दामोदर शुक्ला का कहना है कि थोड़े से प्रयास और सबकी समझदारी से यह बड़ा कार्य हो गया जहाँ आज कुर्सी के लिए एक ही परिवार के दो सदस्य आमने सामने आ जाते हैं वहाँ 13 पंचों और एक सरपंच के लिए सबको साधना आसान बात नहीं लेकिन यह पूरी पंचायत की जनता की एकता का नायाब नमूना है कि बिन विरोध महिलाओं के हाथ ग्राम की सरकार है जिनमें छमताओ की कोई कमी नहीं।


इनका कहना है--


चुनौती बड़ी है लेकिन जिस तरह से सभी के सहयोग से मुझे सरपंच चुना गया है उसी सहयोग और आपसी सामंजस्य से इस जिम्मेदारी को पूरी ईमानदारी से निभाने की कोशिश होगी साथ ही सभी महिलाए जिन्हें पंच चुना गया है के सहयोग से जामुन पानी ग्रामपंचायत विकास की नई ऊंचाइयों तक पहुँच कर मिशाल कायम करेगी।



                   ग्राम पंचायत जामुनपानी 


                           सरपंच छाया पंद्रे।


अखिल बन्देवार के साथ रेवांचल टाईम्स की एक रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment