बारात लेकर जा रही बस हाईटेंशन लाइन से टकराई, करंट की चपेट में आने से 17 लोग झुलसे - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Sunday, June 5, 2022

बारात लेकर जा रही बस हाईटेंशन लाइन से टकराई, करंट की चपेट में आने से 17 लोग झुलसे



रेवांचल टाइम्स:प्रदेश के सतना जिले में रविवार को एक बस हादसा हो गया। मैहर से बारात लेकर लौट रही बस उचेहरा के पास 11 केवी हाईटेंशन लाइन से टकरा गई, जिससे बस में बैठे 16-17 लोग करंट की चपेट में आने से घायल हो गए। वहीं बस में रखे सामान आग लग गई, जिसमें एक महिला झुलस गई। बस का ड्राइवर मौके से फरार हो गया है।

बस में बैठी महिला गंभीर रूप से झुलस गई


जानकारी मुताबिक, आदिवासी परिवार में पन्ना जिले श्यामगिरी से मैहर बारात आई थी, जो रविवार को दुल्हन की विदा कराकर वापस जा रही थी। इस दौरान मैहर से 8 किमी दूरी थाना उचेहरा अंतर्गत रामपुर पाठा के पास बस अनियंत्रित होकर सड़क किनारे झूल रहे 11 केवी हाईटेंशन बिजली लाइन से टकरा गई। बस में बैठे लोगों को करंट का झटका लगा। एसडीएम उचेहरा एचके धुर्वे ने बताया कि सीट पर बैठे लोग तो बच गए, लेकिन खिड़की के किनारे बैठे लोग करंट की चपेट में आ गए। जिसमें विनीशा बाई (35) गंभीर रूप से झुलस गई।
बस में सवार थे 45 बाराती

बताया जा रहा है कि बस में 45 से 50 के बीच में बारात सवार थे। वहीं सामान भी बस के अंदर ही रखा था जैसे ही बस करंट के चपेट में आई तो सामान में आग लग गई। आग की चपेट में महिला भी आ गई। बस में बैठे लोग सीट पर ही बैठे रहे जिससे उन्हें करंट नहीं लगा। साथ ही बस में आग नहीं फैलने से बड़ा हादसा टल गया।
घायलों का मैहर के अस्पताल भेजा

इधर, घटना की सूचना मिलते ही उचेहरा थाना से पुलिस बल मौके पर पहुंचा और घायलों को एंबुलेंस के माध्यम से मैहर के सिविल अस्पताल पहुंचाया गया। साथ ही जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग और पुलिस के अधिकारी भी मैहर अस्पताल घायलों का हाल जानने पहुंचे। घटना स्थल पर उचहेरा एसडीएम एचके धुर्वे, नागौद एसडीओपी मोहित यादव सहित थाना का बल पहुंचा। घायलों की जानकारी लेकर अस्पताल की व्यवस्थाएं बनाईं।

No comments:

Post a Comment