मंजिल प्राप्त करने के लिए मजबूत इच्छाशक्ति आवश्यक - हर्षिका सिंह कलेक्टर ने किया प्रावीण्यता हासिल करने वाले बच्चों तथा शतप्रतिशत परिणाम देने वाले प्राचार्यों से संवाद - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Wednesday, May 11, 2022

मंजिल प्राप्त करने के लिए मजबूत इच्छाशक्ति आवश्यक - हर्षिका सिंह कलेक्टर ने किया प्रावीण्यता हासिल करने वाले बच्चों तथा शतप्रतिशत परिणाम देने वाले प्राचार्यों से संवाद

मण्डला 11 मई 2022





माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा आयोजित की जाने वाली हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी बोर्ड परीक्षा 2022 में प्रदेश स्तरीय एवं जिला स्तरीय प्रावीण्य सूची में स्थान प्राप्त करने वाले समस्त मेधावी छात्र-छात्राओं को तथा शत-प्रतिशत परीक्षा परिणाम देने वाले विद्यालय के प्राचार्यों से कलेक्टर हर्षिका सिंह ने संवाद करते हुए उनके अनुभव साझा किए। इस अवसर पर कलेक्टर हर्षिका सिंह ने कहा कि हाईस्कूल एवं हायर सेकेंडरी के परिणामों में प्रावीण्यता हासिल कर बच्चों ने सुनेहरे भविष्य के संकेत दिए हैं। उन्होंने बच्चों से आग्रह किया कि इन परिणामों को एक पड़ाव मात्र मानते हुए मंजिल को प्राप्त करने के लिए योजनाबद्ध तैयारी करें। मंजिल को प्राप्त करने के लिए मजबूत इच्छाशक्ति और दृढ़संकल्प आवश्यक है। कलेक्टर ने कहा कि अध्ययन में तकनीकी का बेहतर उपयोग करें। खुद पर विश्वास रखते हुए प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करें।

कलेक्टर हर्षिका सिंह ने कहा कि प्रोजेक्ट नई उड़ान के माध्यम से जिले के शिक्षा के स्तर को बेहतर बनाने का प्रयास किया गया जिसके सार्थक परिणाम भी सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि जिला स्तर पर मॉड्यूल, प्रश्नबैंक आदि तैयार किए गए जो जिले के रिजल्ट को बेहतर बनाने में मददगार हुए। श्रीमती सिंह ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि कमजोर परिणाम वाली संस्थाओं का चिन्हांकन करें तथा उनकी कमियों का विश्लेषण कर उन्हें दूर करने का प्रयास करें। जिला योजना भवन में आयोजित इस कार्यक्रम में समस्त मेधावी छात्रों ने अपने-अपने विचार व्यक्त किए तथा भविष्य निर्धारण तथा प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों के संबंध में कलेक्टर हर्षिका सिंह से मार्गदर्शन प्राप्त किया। कलेक्टर ने छात्रों से वन-टू-वन चर्चा करते हुए उनके द्वारा पुछे गए जिज्ञासाओं का समाधान किया। इस अवसर पर शत-प्रतिशत परीक्षा परिणाम देने वाले स्कूल के शिक्षकों ने भी अपने अनुभव साझा किए। उन्होंने कोविडकाल के दौरान ऑफलाईन तथा ऑनलाईन अध्यापन शैली के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। कलेक्टर हर्षिका सिंह ने हाईस्कूल एवं हायर सेकेंडरी बोर्ड परीक्षाओं में प्रावीण्यता हासिल करने वाले बच्चों को तथा शतप्रतिशत परिणाम देने वाली संस्थाओं के प्राचार्यों को सम्मानित किया। सम्मान कार्यक्रम में विजय तेकाम सहायक आयुक्त, लालसाय मसराम प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी, मुकेश पाण्डेय सहायक परियोजना समन्वयक रमसा मण्डला सहित संबंधित अधिकारी तथा पालकगण उपस्थित रहे। कार्यक्रम में मंच संचालन अखिलेश उपाध्याय एवं आभार प्रदर्शन मुकेश पाण्डेय सहायक परियोजना समन्वयक रमसा मण्डला द्वारा किया गया।

 

शतप्रतिशत रिजल्ट देने वाली संस्थाएँ सम्मानित

 

इस अवसर पर शतप्रतिशत परीक्षाफल देने वाली संस्थाओं के प्राचार्यों को भी कलेक्टर हर्षिका सिंह द्वारा सम्मानित किया गया। शतप्रतिशत परीक्षाफल देने वाली जिन संस्थाओं को सम्मानित किया गया उनमें शासकीय विद्यालय दाढीभानपुर, सोंढा सलैया, बिनैका, खुर्सीपार, कन्या बिछिया, भिलवानी, अहमदपुर, कापा, बुदरापिपरिया, उत्कृष्ट निवास, कन्या निवास, अमगवा एवं अशासकीय विद्यालय से आदर्श उमावि अंजनिया, निर्मला कन्या, अमल ज्योति  महाराजपुर सम्मिलित हैं।

समाचार क्रमांक/81/फोटो संलग्न

No comments:

Post a Comment