एसडीओ उपयंत्री की मिलीभगत से ढुलबजा नाला मे बन रहे चेक डैम चढ़ रहा भ्रष्टाचार की भेंट फिर भी जिम्मेदार अधिकारी बने हैं मुख दर्शक - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Saturday, May 21, 2022

एसडीओ उपयंत्री की मिलीभगत से ढुलबजा नाला मे बन रहे चेक डैम चढ़ रहा भ्रष्टाचार की भेंट फिर भी जिम्मेदार अधिकारी बने हैं मुख दर्शक




रेवांचल टाइम्स..  जिले के विकास खंड अमरपुर अंतर्गत ग्राम पंचायत अमरपुर में बह रही भ्रष्टाचार की गंगा जबकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सुबह-सुबह बड़ी बैठक कर प्रदेश के सभी जिलों के जिला पंचायत सीईओ को साफ निर्देश दिए थे कि अमृत सरोवर सहित मनरेगा पीएम आवास के तहत होने वाले निर्माण कार्यों में गुणवत्ता से खिलवाड़ कतई ना हो लेकिन लगता है कि जिला प्रशासन को सीएम के निर्देश से कोई लेना देना नहीं है जानकारी के अनुसार डिंडोरी जिले के अमरपुर विकासखंड अंतर्गत अमरपुर ग्राम पंचायत में करीब लगभग 15 लाख की लागत से बन रहे चेक डैम निर्माण कार में इन दिनों उपयंत्री और एसडीओ की मिलीभगत के चलते जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है वही ऊपरी अधिकारियों को खुश करने के लिए जनपद सहित जिला के अधिकारी आए दिन के हो रहे निर्माण कार्य का निरीक्षण कर फोटो खिंचवाने तक सीमित है सूत्र बताते हैं कि हो रहे निर्माण कार्य में भ्रष्टाचार का हिस्सा उन तक भी पहुंचाया जा रहा है परंतु सीएम के निर्देश के बाद भी उक्त भ्रष्टाचार के बाद यहां तो तय है कि उक्त निर्माण कार्य का उद्देश्य पूरा नहीं हो पाएगा..


एस्टीमेट से हटकर हो रहा निर्माण कार्य ग्राम पंचायत अमरपुर मे बन रहे उक्त चेक डैम निर्माण कार्य में शासन की तमाम दिशा निर्देशों को किस कदर दर किनार किया जा रहा है उसका प्रत्यक्ष उदाहरण यहां है कि जहां निर्माण कार्य अर्थ वर्क चेक डैम के बिग वाल की लंबाई एवं चौड़ाई 8 मीटर लगभग एवं 1 मीटर 50 सेंटीमीटर होना था साथ ही गहराई 60 सेंटीमीटर के लगभग होना था एवं बिग बॉल कट ऑफ बाल सबका एक साथ बेसमेट का कार्य किया जाना था परंतु तकनीकी अमले बा कथित उपयंत्री एवं एसडीओ द्वारा और उच्च अधिकारी के द्वारा आपस में सांठगांठ कर जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है साथ ही जितना निर्माण कार्य हुआ भी है उसमे गुणवत्ता से खिलवाड़ किया गया है और ना तो सूचना पटल बोर्ड लगाया गया है जिससे आम जनता से लेकर जनप्रतिनिधि भी गुमराह हो रहे हैं यह सब भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने के लिए किया गया है जिससे लोग भ्रमित होते रहे और तो और जिस कारण भविष्य में उक्त चेक डैम में पानी रुकने पर सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं उक्त चेक डैम निर्माण कार्य में जिम्मेदारों द्वारा चेक डैम  के मुख्य कार्य बाउंड्री वॉल के निर्माण कार्य में भी जमकर भ्रष्टाचार किया गया है जिससे प्रतीत होता है कि उक्त भ्रष्टाचार के कारण भविष्य में पानी डैम के नीचे से बह जावेगा जिसकी जवाबदारी किसकी होगी यहां तो अपने आप में एक अहम सवाल है...

क्या इस भ्रष्टाचार में चेक डैम की जांच होगी 


जिस काम की सीधे निगरानी प्रदेश के मुखिया कर रहे हैं कार्य के एस्टीमेट के आधार पर निर्माण करवाने की जवाबदारी कलेक्टर जिला सीईओ के पास हो उन्हीं कार्यों में भ्रष्टाचार हो जाना बड़ी बात है अब मामले में सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या उपरोक्त भ्रष्टाचार के मामले में क्या दोषियों के ऊपर  कोई कार्यवाही होगी या फिर सीएम बेहतर निर्माण कार्य की भली मंशा पर पानी फिर जावेगा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश के बाद भी जिले में भ्रष्टाचार रुकने का नाम नहीं ले रहा है



इनका कहना है कि ......

इनका कहना है की एसडीओ ही काम देखते हैं इसके बारे में मैं कुछ जानकारी नहीं दे सकता

मुख्य कार्यपालन अधिकारी अमरपुर.  (CEO)

No comments:

Post a Comment