ओबीसी महासभा मंडला ने प्रतिनिधित्व को लेकर सौपा ज्ञापन मुंडन करा कर मुख्यमंत्री को भेजे बाल - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Wednesday, May 18, 2022

ओबीसी महासभा मंडला ने प्रतिनिधित्व को लेकर सौपा ज्ञापन मुंडन करा कर मुख्यमंत्री को भेजे बाल

 



रेवांचल टाइम्स  - मण्डला स्थानीय निकाय चुनावो में सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के अनुसार समस्त निकाय चुनावो ग्राम पंचायत, जनपद पंचायत जिला, पंचायत नगर पालिका, नगर पंचायत नगर निगम, इत्यादि में ओबीसी आरक्षण को शून्य घोषित कर दिया गया है जिसको लेकर ओबीसी समाज में अतंयन्त घनघोर निराशा है और अपने प्रतिनितित्व को वापस पाने के लिए छटपटा रहा है। हम अपने दुःख को प्रदर्शित करने के लिए आने बालों का मुंडन करा रहे है और इन्हें प्रदेश के मुखिया को भेजेंगे ताकि वही सही आंकड़े उच्चतम न्यायालय में रख कर हमारा अधिकार हमको वापस दिलाये यह कहना है ओबीसी महासभा के प्रांतीय अध्यक्ष एड छोटू पटेल का। मण्डला के उदय चौक में ल्क ओ एस एस , ओबीसी महासभा एवं अन्य ओ बी सी संगठनों के संयुक्त तत्वाधान में धरना प्रदर्शन एवं मुंडन का कार्यक्रम रखा गया जिसमें सम्स्त ओबीसी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित रहे । धरने में ओबीसी महासभा के द्वारा मण्डला डिंडोरी में हो रही पोस्ट ऑफिस की भर्ती पर भी सवाल उठाये जिसमे  डाक विभाग द्वारा  डाक सेवक संवर्ग में 598 पदों में भर्ती की जानी है इसमें ओबीसी के पद के लिए मात्र 58 पद आरक्षित किये गए है जो की सरासर गलत है, इसके अलावा  प्रदेश में होने वाले निकाय चुनावो में ओबीसी के प्रतिनिधित्व की मांग, ओबीसी को जनसँख्या के आधार पर प्रतिनिधित्व एवं मोहगांव के पातादेही में एक ही परिवार की सामूहिक नृशंश हत्या के मुद्दे प्रमुखता से उठाये।  संजय चौरसिया  ने अपने उद्बोधन में कहा कि संविधान में ओबीसी आरक्षण का प्रावधान है सही तरीके से पक्ष रखने पर ही हमें न्याय मिलेगा किंतु कतिपय लोगो के द्वारा षड्यंत्र पूर्वक इसे रोका जा रहा है। जनपद उपाध्यक्ष अभिनव चौरसिया ने कहा कि जब सामान्य वर्ग का चुनाव होता है तो कोई ओबीसी फ़ार्म तक नहीं भरता क्योंकि उसे विश्वाश होता की  रोटेशन में उसका टाइम आएगा लेकिन इस निर्णय के आने के बाद अब ओबीसी का टाइम कब आएगा कोई नहीं जानता। मजबूरन सामान्य (मुक्त) होने के बाद भी ओबीसी का चुनाव लड़ना मजबूरी हो जायेगी जिससे वर्ग संघर्ष और मनोमलिनता बढ़ेगी। धरने के बाद ओ एस एस के जिलाध्यक्ष कुंजबिहारी पटेल,प्रांतीय अध्यक्ष छोटू पटेल और पदाधिकारी महेंद्र चंद्रौल ने अपना मुंडन कराया और बालों को सहेज कर मुख्यमंत्री को भेजा , जिसके पश्चात तहसीलदार चक्रवर्ती को ज्ञापन सौपा गया । जिलाध्यक्ष कुंजबिहारी पटेल ने बताया कि दिनाँक 19/05  दिन गुरुवार को सरदार पटेल की बिंझिया स्थित प्रतिमा के सामने से मशाल जुलूस निकाला जायेगा । और दिनाँक 21 तारिख को मध्यप्रदेश बंद किया जाएगा ।कार्यक्रम में,सी.बी.पटेल 

कुंज विहारी पटेल संजय चौरसिया रवि ठाकुर अभिनव चौरसिया गणेश पटेल दिलीप साहू मकेश कछवाहा भरत पटेल  शुभाष नामदेव नेतराम पटेल लखन ठाकुर नोहर ठाकुर राधेश्याम हरी साहू उमेश कछवाहा कृष्णकुमार महेंद्र चंद्रोल राजीव चंद्रोल सुनील यादव गोलू पटेल आशीष चौधरी जीतराज कछवाहा सुरेश यादव रोहित सिंगरौर चंद्रमोहन सराफ शोभाराम यादव राकेश चौरसिया झाम सिंह ठाकुर उपस्थित रहे

No comments:

Post a Comment