मातृभूमि का गौरव गान जनजाति संस्कृति की आत्मीयता का पर्व आदि उत्सव राज्यपाल श्री मंगू भाई पटेल - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Saturday, May 7, 2022

मातृभूमि का गौरव गान जनजाति संस्कृति की आत्मीयता का पर्व आदि उत्सव राज्यपाल श्री मंगू भाई पटेल






 रामनगर में दो दिवसीय आदि उत्सव का हुआ  भव्य शुभारंभ... 


रेवांचल टाईम्स - मंडला के रामनगर में आयोजित आदि उत्सव का शुभारंभ करते हुए  प्रदेश के महामहिम राज्यपाल मंगू भाई पटैल ने उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि  आदिवासी समाज के बीच मे निरंतर प्रदेश में जा रहा हूँ आज जनजाति संस्कृति के प्रति आत्मीयता, मातृभूमि की रक्षा करने वाले जनजाति समाज के महापुरषों गौरव गान करने के पर्व आदि उत्सव में आकर मुझे आत्मीय खुशी हुई। उन्होंने  राजा शंकर शाह कुंवर रघुनाथ शाह वीरांगना रानी दुर्गावती को याद करते हुए कहा की मंडला रामनगर की पावन भूमि हमें हमेशा प्रेरणा देती रहेगी। 

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न केवल आदिवासियों की जमीन से जुड़ी समस्याओं को समाधान करने का ऐतिहासिक कार्य किया है बल्कि जनजातियों की संस्कृति प्राचीन विरासत को संरक्षित व समृद्ध बनाने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा दीक्षांत समारोह में ज्यादा से ज्यादा बेटियों को डिग्रियां लेते हुए जब मैं देखता हूँ तो  ह्रदय से प्रसन्नता होती है। इसलिए आदिवासी समाज की बेटियों को आगे  पढ़ाने का संकल्प यहाँ से लेकर जाना है, यह हमारी पहली जिम्मेदारी है। 



उन्होंने सिकल सेल जैसी गंभीर बीमारी से बचने समझने और उससे होने वाली कठनाइयों को गंभीरता से समझने की आवश्यकता है।

 उन्होंने कहा फग्गनसिंह कुलस्ते एवं अर्जुन मुंडा निरन्तर जनजाति समाज के हित मे कार्य कर रहे हैं। ईश्वर उन्हें इतनी शक्ति दे ताकि देश का वनवासी समाज दूसरे अन्य समाज की तरह आगे बढ़ता रहे। उन्होंने मप्र एवं केंद्र की मोदी सरकार द्वारा किये जा रहे जनजाति समाज के हित में लिए गए निर्णय और कार्यों का उल्लेख किया। 

आजादी के अमृत महोत्सव में परांपरानुसार आदि उत्सव के दो दिवसीय आयोजन का शुभारंभ अवसर में केंद्रीय जनजाति मंत्री अर्जुन मुंडा, केंद्रीय इस्पात एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री ने किया। इस दौरान प्रदेश की जनजाति कल्याण मंत्री मीना सिंह, खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री बेसाहू लाल सिंह, पशुपालन मंत्री प्रेम सिंह पटैल, राज्यसभा सांसद संपतिया उइके, मंडला विधायक देव सिंह सैयाम  जिला पंचायत  अध्यक्ष सरस्वती मरावी सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

  मोदी सरकार  समाज की बुनियादी आवश्यकता को  संकल्प के साथ कर रही पूरा  अर्जुन मुंडा 

केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने अपने उद्बोधन में कहा कि आदिवासी समाज की बुनियादी अवश्यताओ को पूरा करने के लिए मोदी सरकार संकल्प भाव के साथ कार्य कर रही है। पूरे देश मे प्रकृति का संरक्षण करने में आदिवासी समाज युगों- युगों से लेकर आज तक सबसे आगे है। प्रकृति की पूजा हमारी विरासत है। जन जंगल और जमीन पहाड़ नदी वन्य जीव सहित संस्कृति बोली भाषा विरासत को संरक्षित करने का पर्व है आदि उत्सव हमारी संस्कृति  की ताकत है।


उन्होंने कहा कि हमें एकजुट रहते हुए पूर्वजों के सिखाए पराक्रम को पुनर्स्थापित करना है।   केंद्रीय मंत्री श्री मुंडा ने  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से हुई मुलाकात का हवाला देते हुए कहा  कि सिवनी में आदिवासी युवकों के साथ हुई घटना के किसी भी अपराधियों को भी छोड़ा नहीं जाएगा। केंद्रीयमंत्री अर्जुन मुंडा ने पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि हमें एकजुट रहकर समाज में वैमनस्यता फैलाने वालों का प्रयास को सफल नहीं होने देना है। 

 देश की पहचान बन गया है आदि उत्सव- फग्गन सिंह कुलस्ते 

    पांच वर्ष पहले जब हमने आदि उत्सव के आयोजन की शुरूआत की थी तब इसकी कल्पना आज की तरह नहीं थी. आज आदि उत्सव ने ना केवल मध्यप्रदेश की पहचान को देश भर में स्थापित किया है बल्कि समूचे भारत वर्ष में एक उदाहरण के रूप में मंडला का आदि उत्सव की चर्चा होने लगी है. यह बात आदि उत्सव में स्वागत उद्बोधन में मंडला लोकसभा के सांसद एवं वर्तमान केन्द्रीय इस्पात ग्रामीण विकास राज्य मंत्री फग्गनसिंह कुलस्ते ने कही।श्री कुलस्ते ने कहा कि इस आयोजन के माध्यम से जनजातीय संस्कृति, परम्परा और साहित्य से देश-दुनिया का ना केवल परिचय कराना है बल्कि इसे बचाना भी है और समृद्ध भी करना है. श्री कुलस्ते ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, उपराष्ट्रपति डॉ. वेंकय्या नायडू एवं मध्यप्रदेश के राज्यपाल मंगूभाई पटेल, मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान  के देश के विभिन्न राज्यों  के मंत्री सामाजिक  प्रतिनिधियो के प्रति धन्यवाद व्यक्त किया कि वे आदि उत्सव में शामिल होकर ना केवल आयोजन की गरिमा बढ़ाते हैं बल्कि हमें हौसला भी देते  आ रहे हैं।

  

 केंद्रीय राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा की हमे गर्व है कि आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर हम रामनगर मंडला में आदि उत्सव मनाते हुए देश के स्वतंत्रता संग्राम में अपना बलिदान देने वाले अमर शहीदों को  विनम्र याद कर रहे हैं  उन्होंने आदि उत्सव में शामिल होने आए सभी अतिथियों  पंडा पुजारियों सहित देश भर से आए आजादी के लिए संघर्ष करने वाले आदिवासी  राजपरिवार के वंशजों का स्वागत करते हुए कहा आदि उत्सव भारत के जनजाति समाज की संस्कृति, प्राचीन इतिहास, बोली, भाषा, जीवन शैली को एक छत के नीचे एकत्रित होकर परिचय का पर्व है।इस आयोजन में सभी वर्गो के नागरिक  जनों मीडिया का अहम योगदान रहता है।

 

 राज्यपाल ने किया आदि उत्सव 2022 की स्मारिका का विमोचन 

 मध्य प्रदेश के महामहिम राज्यपाल श्री मंगु भाई पटैल ने जनजाति संस्कृति प्राचीन विरासत और देश के स्वतंत्रता आंदोलन के रणबांकुरे की प्रकाशित आदि उत्सव स्मारिका 2022 का विमोचन किया इस अवसर पर केंद्रीय जनजाति मंत्री अर्जुन मुंडा एवं मध्य प्रदेश के मंत्री जनजाति समाज के प्रतिनिधि गण उपस्थित थे इस अवसर पर केंद्र राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने महामहिम राज्यपाल को मंडला की प्राचीन सांस्कृतिक विरासत एवं गौंडी कला की  पेंटिंग भेंट की।

 प्रथम सत्र का आभार राज्यसभा सांसद सम्पतिया उइके ने किया।

No comments:

Post a Comment