महिला ज्ञानालय में निरक्षर से साक्षर बन रही महिलाएँ अक्षर ज्ञान सीखी दयावती ने कलेक्टर को भेंट किया स्वलिखित अभिनंदन संदेश - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Friday, May 13, 2022

महिला ज्ञानालय में निरक्षर से साक्षर बन रही महिलाएँ अक्षर ज्ञान सीखी दयावती ने कलेक्टर को भेंट किया स्वलिखित अभिनंदन संदेश

मण्डला 13 मई 2022




कलेक्टर हर्षिका सिंह के निर्देशन में महिला बाल विकास विभाग द्वारा निरक्षर महिलाओं को साक्षर करने के उद्देश्य से महिला ज्ञानालय कार्यक्रम वर्ष 2020 से शुरू किया गया है। महिला ज्ञानालय कार्यक्रम के अंतर्गत आंगनवाड़ी केन्द्रों में गांव की निरक्षर महिलाओं को गांव की ही पढ़ी-लिखी महिलाओं द्वारा अक्षरज्ञान, गिनती एवं सामान्य बैंकिंग व्यवहार के बारे में जानकारी दी जाती है। महिला ज्ञानालय कार्यक्रम को अनेक मंचों पर सराहा गया है। अब इस कार्यक्रम के सुखद परिणाम भी सामने आ रहे हैं।

कलेक्टर हर्षिका सिंह शुक्रवार को ग्राम पंचायत नरेन्द्रगढ़ के दौरे पर थी। इस दौरान उनसे मिलने ग्राम पंचायत की महिलाएं आई। इन महिलाओं ने महिला ज्ञानालय में अक्षरज्ञान एवं गिनती सीखा है। निरक्षर से साक्षर हुई दयावती कुड़ापे ने स्वयं अपने सीखे अक्षरज्ञान से कलेक्टर के लिए अभिनंदन संदेश लिखा तथा भेंट किया। कलेक्टर हर्षिका सिंह साक्षर बनी सभी महिलाओं से मिलकर एवं दयावती बाई द्वारा लिखे अभिनंदन संदेश को पाकर अभिभूत हुई तथा सभी को बधाई देते हुए उनके भावी जीवन के लिए शुभकामनाएं दी। उन्होंने सभी महिलाओं को आगे और पढ़ने के लिए प्रेरित किया तथा जिला प्रशासन द्वारा हरसंभव सहयोग का भरोसा भी दिलाया। निरक्षर से साक्षर बनी दयावती कुड़ापे ने अपने अभिनंदन संदेश में अपने अक्षरज्ञान सीखने, पढ़ना-लिखना तथा बैंक के फॉर्म भरने की जानकारी प्राप्त करने का जिक्र किया है। साथ ही उन्होंने कलेक्टर को महिलाओं के हित में प्रारंभ की गई इस पहल के लिए आत्मीय धन्यवाद दिया है।

समाचार क्रमांक/101/फोटो संलग्न

No comments:

Post a Comment