काफी पुराना लेकिन असरदार है दादी-नानी का ये पुराना तरीका, आम खाने से 30 मिनट पहले कर ले ये काम, सेहत को होंगे कई फायदे - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Thursday, May 5, 2022

काफी पुराना लेकिन असरदार है दादी-नानी का ये पुराना तरीका, आम खाने से 30 मिनट पहले कर ले ये काम, सेहत को होंगे कई फायदे



भारत में उगने वाला एक बेहद स्वदिष्ट फल है जो गर्मियों के मौसम में खाया जाता है। इस फल का इतिहास तकरीबन 5000 साल पुराना है। भारत में दशहरी, लंगड़ा, चौसा, केसर, बादामी, तोतापरी और अल्फांसो जैसी आम की प्रजातियां काफी फेमस है। ज्यादातर लोगों का पसंदीदा ये फल स्वाद और खुशबू दोनों से लोगों का दिल जीत लेता है। खास बात है कि गर्मियों में ये बॉडी को ठंडा रखने में काफी मदद करता है। इसलिए लोग इस फल को अलग-अलग तरीके से डाइट में शामिल करते हैं। हालांकि, इसे खाने से पहले लोग आम को कुछ देर के लिए पानी में भिगोकर रखते हैं। यह तरीका काफी पुराना है, जिसे दादी-नानी भी फॉलो किया करती थीं।
बता दें कि आम को खाने से पहले पानी में भिगोना सेहत के लिए काफी लाभकारी माना जाता है। इससे आप एक नहीं, बल्कि कई सारी प्रॉब्लम से खुद को बचा सकते हैं। अक्सर लोगों को लगता है कि ऐसा करने के पीछे गंदगी या फिर केमिकल वजह हो सकती है। जो काफी हद तक सही भी है, लेकिन इसके अलावा भी कई ऐसे कारण हैं, जिससे आप अनजान हैं।

वहीं अगर आप आम मार्केट से लाने के बाद तुरंत खाना शुरू कर देते हैं तो बहुत बड़ी गलती करते हैं। इससे आप परेशानी को खुद बुला रहे हैं।
फाइटिक एसिड से मिलेगा छुटकारा

फाइटिक एसिड एक तरह का न्यूट्रिशन है, जो शरीर के लिए अच्छा और बुरा दोनों हो सकता है। इसे एक एंटी पोषक तत्व माना जाता है, जो शरीर को आयरन, जिंक, कैल्शियम और अन्य मिनरल्स को अवशोषित करने से रोकता है। जिसकी वजह से शरीर में मिनरल्स की कमी होने लगती है। वहीं आम ही नहीं बल्कि अन्य फल, सब्जियां और नट्स में भी नेचुरल मॉलिक्यूल यानी फाइटिक एसिड होता है। फाइटिक एसिड बॉडी में हीट जेनरेट करता है, ऐसे में कुछ देर तक पानी में रखने से यह निकल जाता है।

​निकल जाएंगे सारे केमिकल

आम के पेड़-पौधों में हानिकारक पेस्टिसाइड और इंसेक्टिसाइड का इस्तेमाल किया जाता है। यह शरीर के लिए जहर के समान होता है और इसके सेवन से एलर्जी, स्किन इरिटेशन या फिर अन्य गंभीर बीमारियां हो सकती हैं। कई बार सिर दर्द, मतली जैसी समस्याएं भी बिना भिगोये आम खाने से हो सकती हैं इसलिए इसे पानी में डुबोकर कुछ देर के लिए छोड़ दें और फिर खाएं।
दूर होगी त्वचा से जुड़ी समस्याएं

कई लोगों को आम खाने से पिंपल, एक्ने या फिर अन्य स्किन प्रॉब्लम्स की शिकायत रहती है। इसके अलावा कब्ज, सिरदर्द या फिर पेट से जुड़ी अन्य शारीरिक समस्याओं से भी जूझना पड़ सकता है। ऐसे में पानी में इसे कुछ देर भिगोकर रखने से हीट प्रिंसिपल (तासीर) से छुटकारा मिल सकता है। आम को खाने से पहले कम से कम 30 मिनट के लिए पानी में भिगोकर रखना चाहिए। इसके बाद खाने से त्वचा के लिए बेहतर होगा।

​नेचुरल फैट बस्टर का करता है काम

इसके अलावा यह फैट बर्न करने में भी मदद कर सकता है। दरअसल, आम में फाइटोकेमिकल्स स्ट्रांग होते हैं, ऐसे में जब हम इसे पानी सोक होने के लिए रखते हैं, तो इसकी कॉन्सन्ट्रेशन कम हो जाती है, और वे नेचुरल फैट बस्टर के रूप में कार्य करते हैं।

​नहीं बढ़ेगा गर्मियों में शरीर का तापमान

आम खाने से शरीर का तापमान भी बढ़ जाता है, जिसकी वजह से थर्मोजेनिक का उत्पादन होता है। हालांकि, आम को थोड़ी देर पानी में सोक करने से इस गुण को कम करने में मदद मिलेगी। दरअसल, थर्मोजेनिक का उत्पादन बढ़ने से ये एक्ने, कब्ज, सिर दर्द जैसी परेशानियों का कारण बन सकता है।

No comments:

Post a Comment