MP Election : मध्यप्रदेश में चुनावों की घोषणा, 26 को होगा मतदान - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Friday, April 22, 2022

MP Election : मध्यप्रदेश में चुनावों की घोषणा, 26 को होगा मतदान




रेवांचल टाइम्स:मध्य प्रदेश में नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव से पहले सहकारिता चुनाव होंगे। इसी कड़ी में मप्र सहकारिता चुनाव का कार्यक्रम घोषित कर दिया गया है। एक महीने में 3500 सहकारी संस्थाओं में चुनाव होंगे।इसमें अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और संचालक चुने जाएंगे। कार्यक्रम के अनुसार, इस महीने 2000 संस्थाओं और अगले महीने मई में 1500 संस्थाओं के चुनाव संपन्न कराए जाएंगे। मई 2022 के अंत तक मध्यप्रदेश में 3500 सहकारी संस्थाओं में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और संचालक चुन लिए जाएंगे।

2000 संस्थाओं के संचालक मंडल के चुनाव के लिए 6 अप्रैल से प्रक्रिया शुरु हो गई है। इनमें नामांकन-पत्रों की जांच और उम्मीदवारों की अंतिम सूची का प्रकाशन कर उन्हें 21 अप्रैल को चुनाव चिह्न आवंटित कर दिए गए। इन संस्थाओं में 26 अप्रैल को मतदान होगा और उसी दिन परिणाम घोषित हो जाएंगे।वही लगभग 1500 संस्थाओं के संचालक मंडल के चुनाव के लिए 22 अप्रैल को वोटर लिस्ट का प्रकाशन होगा और 29 अप्रैल तक आपत्तियां ली जाएंगी।

वही अंतिम सदस्यता सूची का प्रकाशन 30 अप्रैल को किया जाएगा। इस सूची के खिलाफ अपील 2 से 5 मई तक की जा सकेगी। अपील का निराकरण 12 मई तक करने के बाद अगले दिन अंतिम सूची राज्य सहकारी निर्वाचन प्राधिकारी को सौंप दी जाएगी। इसके पहले मार्च 2020 से सहकारी संस्थाओं के चुनाव लगातार टलते जा रहे थे, लेकिन अब इंतजार खत्म हो गया है और जल्द चुनाव कराए जाएंगे।

बता दे कि बीते दिनों सामान्य कामकाज के संचालन के लिए सहकारिता विभाग के अधिकारियों को प्रशासक बनाया गया था और सहकारी निर्वाचन प्राधिकारी पदस्थ कर दिया था।वही मध्य प्रदेश राज्य सरकार ने पिछले महीने सहकारी संस्थाओं के चुनाव कराने के लिए मप्र राज्य सहकारी निर्वाचन प्राधिकारी के पद पर रिटायर्ड आईएएस अधिकारी एमबी ओझा की नियुक्ति की थी। यह पद सितंबर, 2021 से खाली था। सहकारी अधिनियम के अनुसार चुनाव कराने की संपूर्ण जिम्मेदारी निर्वाचन प्राधिकारी की है, अब वे समितिवार सदस्यता सूची तैयार कराएंगे और फिर चुनाव प्रक्रिया प्रारंभ होगी।

No comments:

Post a Comment