13 मार्च से 18 तक रहेंगी नैनपुर जबलपुर की सभी ट्रेनें बंद, त्योहार के समय रेलवे की आम आदमी और गरीबों पर पड़ी मार जबलपुर-नैनपुर ब्राडगेज ट्रेन रद्द... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Wednesday, March 16, 2022

13 मार्च से 18 तक रहेंगी नैनपुर जबलपुर की सभी ट्रेनें बंद, त्योहार के समय रेलवे की आम आदमी और गरीबों पर पड़ी मार जबलपुर-नैनपुर ब्राडगेज ट्रेन रद्द...



रेवांचल टाइम्स नैनपुर.---करोना काल के बाद लगातार आम जनता का दबाव और बड़ी  जिदोजहाद के बाद बंद नैनपुर जबलपुर बड़ी राहत की सांस ली थी लेकिन चंद दिन बीते ही थे कि भरे त्यौहार पर दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के अधिकारियों ने मदन महल रेलवे स्टेशन में हो रहे कामों के कारण नैनपुर से जबलपुर की चलने वाली ट्रेन पूरी तरह गद्दे कर दी जिसके कारण आम आदमी पर अचानक ट्रेन रद्द होने की मार पड़ी जबकि दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के अधिकारी अगर चाहते तो नैनपुर से ग्वारीघाट तक ट्रेन चलवा सकते थे लेकिन उन्होंने पूरी ट्रेन ही रद्द कर दी जबकि काम मदन महल रेलवे स्टेशन पर हो रहा है लेकिन अंधे बहरे गूंगे रेल प्रशासन ने आम नागरिक की तरफ ध्यान न देकर ट्रेनों को ही रद्द करवा दिया और अब यह ट्रेन याने 13 मार्च से 18 मार्च तक बंद कर दिया गया हैं। जब इस विशय में हमारे प्रतिनिधि ने जबलपुर और नागपुर के आला अधिकारियों से चर्चा की तो उनका कहना था कि मदनमहल स्टेषन पर तकनीकि कार्य चल रहा है उसी कारण ये ट्रेन बंद की गई है। हमारे द्वारा यह जानकारी चाही गई कि उक्त नैनपुर मंडला ट्रेनों को ग्वारीघाट तक चलाया जावे तो उनका कहना था कि ऐसा बिलासपुर जोन के अधिकारियों ने प्रापोजल नहीं दिया। और जब हमने बिलासुपर जौन से इस बारे में चर्चा की तो उनका कहना एकदम साफथा कि ये सारी ट्रेन जबलपुर जौन के द्वारा चलाई जा रही है हम कुछ नहीं कर सकते। पर यहाँ एक बात साफ हो गई कि अगर बिलासपुर जोन चाहता तो ये समस्त ट्रेन गढ़ा या ग्वारीघाट तक चल सकती थीं पर बिलासपुर जोन की अदूरदर्षिता के कारण आज नैनपुर मंडला क्षेत्र की आदिवासी जनता भर त्यौहार पर इन ट्रेनों के बंद हो जाने से मुसीबत का षिकार हो गई और बिलासपुर जौन के द्वारा जरा भी चिंता नहीं की गई और ना ही किसी जनप्रतिनिधि ने इस ओर ध्यान दिया। वैसे रीवा इतवारी एवं चिन्नई ट्रेनों पर भी असर हुआ है पर नैनपुर की ओर ग्वारीघाट  से पैसेजर ट्रेनों का संचालन किया जा सकता था। वास्तव में इस आदिवासी अंचल को जानबूझकर सुविधा विहीन किया जा रहा ह अब जनमानस में ऐसी चर्चा आम हो चली है। लगता है कि नैनपुर मंडला बालाघाट में जनता का कोई धनीधोर नहीं है और जो जनप्रतिनिधि है वह भी पूरी तरह से आंख बंद किए हुए हैं । यहां के लोगों की चिंता किसी भी जनप्रतिनिधि और ना रेल अधिकारियों को है।

No comments:

Post a Comment