15 फरवरी तक बंद रहेंगे शैक्षणिक संस्‍थान, ऑफलाइन पढ़ाई को लेकर आई ये जानकारी - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Monday, January 17, 2022

15 फरवरी तक बंद रहेंगे शैक्षणिक संस्‍थान, ऑफलाइन पढ़ाई को लेकर आई ये जानकारी




रेवांचल टाईम्स:महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि राज्य में स्कूलों को फिर से खोलने की मांग पर अगले 10-15 दिनों के बाद विचार किया जाएगा. छात्रों की पढ़ाई के नुकसान और बच्चों में Covid-19 संक्रमण की घटनाओं को ध्‍यान में रखते हुए कोई फैसला लिया जाएगा. स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी कहा कि मामले पर अंतिम फैसला मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे लेंगे.

राज्य में बढ़ते कोविड -19 मामलों के कारण महाराष्ट्र में स्कूल 15 फरवरी तक बंद कर दिए गए हैं. पत्रकारों से बात करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, "स्कूलों को फिर से खोलने के लिए कुछ दिनों से मांग बढ़ रही है क्योंकि बच्चों की पढ़ाई का नुकसान हो रहा है." उन्होंने कहा, "हम 10-15 दिनों के बाद इस पर विचार करेंगे क्योंकि बच्चों में संक्रमण की दर कम है. इस संबंध में अंतिम फैसला मुख्यमंत्री करेंगे."


Covid-19 के बढ़ते मामलों पर चिंता व्यक्त करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि लोग कोविड-19 से बेखबर लग रहे हैं. उन्होंने कहा, "कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया जाना चाहिए. आम लोगों के साथ-साथ राजनेताओं को भी भीड़भाड़ से बचना जरूरी है." महाराष्ट्र के राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, शनिवार को राज्‍य में 42,462 नए कोरोनो वायरस संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं जो शुक्रवार से 749 कम थे. शनिवार तक, संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 71,70,483 थी और मरने वालों की संख्या 1,41,779 थी.


No comments:

Post a Comment