अधिकारियों के संरक्षण में खुलेआम ठेकेदार कर रहा धांधली मनमानी जिम्मेदार मौन... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Monday, January 3, 2022

अधिकारियों के संरक्षण में खुलेआम ठेकेदार कर रहा धांधली मनमानी जिम्मेदार मौन...



रेवांचल टाईम्स - आदिवासी बाहुल्य जिला मण्डला में वैसे तो ग्राम पंचायतों के चुनाव होने वाले हैं लेकिन पंचायतों में अभी भी मनमानी का आलम बना हुआ है। ग्राम पंचायतों में जो काम चल रहे हैं उन कामों को अवैध तरीके से संचालित किया जा रहा है। ठेकेदार जिन कामों को पंचायतों को करना चाहिए उन कामों को स्वयं कर रहे हैं। जनपद पंचायत व जिला पंचायत की सांठ गांठ से अधिकांश ठेकेदार ग्राम पंचायतों में नियम विरूद्ध काम कर रहे हैं और बेहद घटिया स्तर का कार्य शासन प्रशासन की सांठ-गांठ से करा रहे है। सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक, उपयंत्री, सीईओ, संबंधित बाबू इन सबका कमीशन बंधा हुआ है। ठेकेदार इन्हें कमीशन देकर सरेआम गुणवत्ता को ताक में रखकर काम कर रहे हैं। सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि मंडला जिले की जनपद पंचायत नैनपुर में संबंधित आला अधिकारियों की सांठगांठ से ग्राम पंचायत परसवाड़ा में नैनपुर के भाजपा नेता के पुत्र पिन्टू खाण्डेलवाल के द्वारा नियम विरूद्ध ग्राम पंचायतों के काम कराए जा रहे हैं। इनके द्वारा यहां पर विधायक निधि से रंगमंच व यात्री प्रतीक्षालय व अन्य योजनाओं से नाली और ऐनीकट पुल, पुलिया सहित कई कार्य कराए गए हैं व कराए जा रहे हैं। जितने भी काम कराए गए है उनमें डस्ट का प्रयोग किया गया है और किया जा रहा है। इस समय इनके द्वारा दो पुलियों का निर्माण कार्य कराया जा रहा है जिनमें भी डस्ट का उपयोग किया जा रहा है। पुलिया में गोल पत्थरों का निर्माण किया जा रहा है जो निर्माण कार्य में उपयोग के लायक नहीं है जानकारों के अनुसार पत्थरों की जगह गिट्टी का उपयोग किया जाना चाहिए था जो नहीं किया जा रहा है। कई लाख रूपयों का काम कराया गया है व कराया जा रहा है इस संबंध में पूर्व में जिला स्तरीय जनसुनवाई तथा सीएम हेल्पलाइन में में सुनवाई भी हुई थी लेकिन सही तरह से जांच न होने की दशा में ठेकेदार के हौसले बुलंद हो गए हैं। जनापेक्षा है ठेकेदार को यहां कार्य करना प्रतिबंधित किया जाए और इस ग्राम पंचायत में कराए गए सभी कार्यों के गुणवत्ता की जांच विशेष रूप से की जावे।

No comments:

Post a Comment