जिले की धान खरीदी केंद्रों में खुलेआम हो रही है धांधली किसान के हक में डाल रहे डाका... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Monday, January 3, 2022

जिले की धान खरीदी केंद्रों में खुलेआम हो रही है धांधली किसान के हक में डाल रहे डाका...




रेवांचल टाईम्स - आदिवासी बाहुल्य जिला मण्डला में  समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का कारोबार सरकार द्वारा किया जा रहा है वही मंडला जिले में धान खरीदी केन्द्र में बेहद लापरवाही धांधली और मनमानी पूर्वक किया जा रहा है। धान खरीदी में संबंधित केन्द्रों के माध्यम से किसानों से अवैध वसूली खुलेआम चल रही है अबैध करने सहित तमाम तरह की गड़बड़ी किया जाना सभी को ज्ञात है। मंडला जिले की तहसील नैनपुर, विछिया, मंडला, निवास, घुघरी, मवई, जिले के सभी विकास खंडों में किसानों की धान तुलवाने से लेकर भराई तक में चोरी अबैध वसूली आम बात हो गई है और जानकारी होने के बाद भी जिम्मेदार ने कसम खा रखी है कि किसानों के तरफ देखना गुनाह समझ रहे है जिससे खरीदी केन्दों में किसानों से धान तुलवाने के एवज मोटी रकम देनी पड़ रही है।

          वही जानकारी के अनुसार आदिम जाति सेवा सहकारी मर्यादित परसवाड़ा लैम्प्स परसवाड़ा अंतर्गत ग्राम डिठौरी, कन्हर गांव सहित अन्य गांवों में धान खरीदी केन्द्रों में भारी धांधली की जा रही है। व्यापारी किसानों की धान खरीदकर किसानों के पट्टे के माध्यम से ही पंजीयन इत्यादि कराकर अवैध तरीके से धान का विक्रय कर रहे हैं इसके अलावा पहचान वालों की धान पहले ली जा रही है और तुलाई भराई में भी अवैध वसूली की जा रही है। रिलायंस फाउण्डेशन के द्वारा इसी क्षेत्र में ग्राम पाठासिहोरा में धान खरीदी में धांधली की खबर मिली है। इस फाउण्डेशन को धान खरीदी का अधिकार आखिरकार कैसे मिल पाया या क्यों दिया गया यह जांच का विषय है। धान खरीदी में सबसे ज्यादा धांधली डिठोरीए कन्हरगांव और पाठासिहोरा सहित कई ग्रामों में की जा रही है। किसानों के बयान लिए जाएं और प्रत्येक किसानों से पूछताछ की जावे तो धांधली की पोल खुल सकती है। जनापेक्षा है सरकार शीघ्र जांच कराए।

No comments:

Post a Comment