पेट्रोल पंप पर प्रशासन ने की छापेमारी कार्रवाई, 3 टैंकर केरोसिन जब्त, पंप संचालक सहित 3 पर एफआईआर दर्ज - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, January 23, 2022

पेट्रोल पंप पर प्रशासन ने की छापेमारी कार्रवाई, 3 टैंकर केरोसिन जब्त, पंप संचालक सहित 3 पर एफआईआर दर्ज



रेवांचल टाईम्स :कटनी कलेक्टर प्रियंक मिश्रा और एसपी सुनील कुमार जैन ने संयुक्त टीम के साथ पहरुआ स्थित पेट्रोल पंप सहित अन्य स्थानों पर शनिवार देर रात छापामार कार्रवाई की थी। जहां पर टीम को काफी मात्रा में केरोसिन, डीजल और एक नंबर की दो बसें मिली थी। पुलिस ने 3 लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई है।

जांच मिला हजारों लीटर नीला केरोसिन

बता दें कि नायब तहसीलदार रविंद्र पटेल ने पुलिस को पत्र सौंपा। जिसमें बताया कि कृषि उपज मंडी के पास स्थित विजय प्रकाश मिश्रा पेट्रोल पंप के बगल में स्थित बाउंड्री से घिरे परिसर में राजस्व, खाद्य और पुलिस टीम ने जांच की। जांच के दौरान 3 टैंकरों में 19 हजार 650 लीटर नीला केरोसिन मिला। मौके पर मिले कर्मचारी दिनेश तिवारी और अंजनी परौहा ने बताया कि बृजेन्द्र मिश्रा उर्फ राजा भैया के कहने पर नीले केरोसिन का उपयोग डीजल में मिलावट के लिए किया जाता है।
पुलिस ने मामला दर्ज कर विवेचना में लिया

पटेल ने पत्र में कहा है कि केरोसिन की कालाबाजारी करते हुए मिलावटी डीजल बनाकर शासन की साथ धोखाधड़ी की जा रही है। बृजेन्द्र मिश्रा, दिनेश तिवारी और अंजनी परौहा द्वारा आवश्यक वस्तु अधिनियम का उल्लंघन किया गया। साथ ही पुलिस ने 3 टैंकर और 19650 हजार लीटर केरोसिन सहित अन्य सामग्री जब्त की है। इनकी कीमत करीब 20 लाख रुपए आंकी गई है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर धोखाधड़ी और आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर प्रकरण को विवेचना में लिया है।

No comments:

Post a Comment