रीछ का करंट लगाकर शिकारियों ने किया शिकार... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Monday, December 27, 2021

रीछ का करंट लगाकर शिकारियों ने किया शिकार...





रेवांचल टाईम्स - रीछ का हुआ अंतिम संस्कार इस दौरान  डीएफओ सहित वन अमला रहा मौजूद 

सैलबाडा सर्किल में 1 वर्ष में शिकारियों ने दिया, दूसरी घटना को अंजाम

11 जनवरी 2021 में इसी स्थल के पास नर बुजुर्ग भालू मिला था मृत जिसके थे चारों पंजे से गायब 


तेंदूखेड़ा -वन परिक्षेत्र अंतर्गत आने वाले सैलवाडा सर्किल के सिलपुरा ग्राम के पास बनी प्लांटेशन के पास करंट से एक मादा रीछ के मृत होने की खबर रविवार को वन विभाग को रात्रि में लगने पर वन अमला मौके पर पहुंच गया था जिस की रखवाली में  रात वन विभाग के कर्मचारी अधिकारी गस्त करते रहे सोमवार को सागर से डॉग स्कॉट की टीम सिलपुरा  सैलवाडा पहुंची  पशु चिकित्सक द्वारा  रीछ का पोस्टमार्टम किया गया साथ ही शाम के वक्त  डीएफओ दमोह एवं वन अमला के सामने रीछ का अंतिम संस्कार किया गया


    मिश्रित प्लांटेशन मैं है पानी की झिरिया, इसी वर्ष 11 जनवरी को यहीं पर मिला था मृत बुजुर्ग नर भालू


जिस जगह पर रविवार की रात्रि में भालु म्रतक अवस्था मे मिला हैं वह तेंदूखेड़ा वन परिक्षेत्र की सिलपुरा बीट का जहां वन विभाग की मिश्रित प्लांटेशन है  इस पूरे क्षेत्र में केवल उसी प्लांटेशन में पानी का स्रोत के रूप में झिरिया है जहां जानवर भी पानी पीने आते हैं  भालू भी पानी पीने ही आया था और उसे करेंट लगा  और उसकी मौत हो गई भालू की मौत की सूचना लगते ही वनकर्मियों के साथ ग्रामीण भी मौके पर पहुचे । ज्ञात हो कि सैलबाडा सर्किल कि सिलपुरा बीट का यह इस वर्ष का दूसरा मामला है इसी तरह इसी प्लांटेशन के पास एक नर बुजुर्ग भालू मृत अवस्था में मिला था जिसके चारों पंजे गायब थे । यह कारनामा शिकारियों द्वारा किया गया था जिनका आज दिनांक तक कोई पता नहीं चल सका है


    11 के व्ही लाइन से बनाया शिकारियों ने करेंट--


भालू की मौत की सूचना लगते ही ग्रामीण भी मौके पर वनकर्मियों के साथ पहुचे उन्होंने ,भालू की स्थिति देखी और बाद में जो मौके पर औजार मिले है उससे अनुमान लगाया जा रहा हैं कि भालू की प्रकृतिक मौत नही बल्कि उसको करेंट लगाकर मारा गया हैं

            क्योकि जिस जगह भालू म्रतक अवस्था मे पड़ा हैं वहां से 11 केवी लाइन निकली है जिसमें जी आई तार लगाकर पानी की झिरिया में डाला गया

  मौके पर तार ,डोरी ,बॉस भी एक पेड़ पर लटके मिले हैं भालू को मारने के लिये पहले शिकारियों ने 11 के व्ही लाइन से करेंट बनाया हैं उसके बाद उस करंट को उस पानी मे डाल दिया हैं जहाँ भालू पानी पीने आता था और भालू ने जैसे ही पानी पिया हैं उसे करेंट लग गया हैं और उसकी  मौत हो गई हैं डॉग स्कॉट ने भी

मौका स्थल पर तहकीकात की है


वन परिक्षेत्र में 1 वर्ष में तीन भालू की मौत--


वन परिक्षेत्र अंतर्गत भालूओं की संख्या अधिक है क्योंकि अनेक बार जंगलों में भालूओं को ग्रामीण जनों द्वारा देखा गया है वर्ष 2021 में अब तक इस वन परिक्षेत्र में तीन भालू मौत के मुंह में समा चुके हैं जिसमें जनवरी में 11 जनवरी 21 को सैलवाडा सर्किल में एवं दिनांक 5 सितंबर 21 को केवलारी वीट के कँपार्टमेंट नंबर 172 में एक बुजुर्ग नर भालू मृत अवस्था में मिला था जिसकी उम्र काफी हो चुकी थी और उसकी मौत बारिश के चलते हुई थी और तीसरी घटना पुनः सैलबाडा सर्किल में 26 दिसंबर 21 को घटित हुई है



संदिग्धों का पता लगाने पहुंचा डॉग एस्कॉर्ट--


सुबह डॉग स्कॉट के पहुंचने पर सबसे पहले डाग मृत पड़े जिसके रीछ के पास पहुंचा डॉग स्कॉट से भी शिकारियों का कुछ पता नहीं चल सका   जिसके कारण शिकारी वन विभाग की पकड़ में नहीं आ सका हालांकि वन विभाग के लोग कुछ लोगों से पूछताछ जरूर कर रहे हैं


शाम को हुआ रीच का अंतिम संस्कार--


लगभग 4.30 बजे स दमोह डीएफओ महेंद्र सिंह उईके , तेंदूखेड़ा वन मंडल अधिकारी डॉक्टर रेखा पटेल वन, प्रभारी वन परिक्षेत्र अधिकारी सतीश पाराशर ,सैलवाड़ा सर्किल अधिकारी राकेश दुबे सहित वन कर्मियों के सामने रीछ का अंतिम संस्कार नियम पूर्वक किया गया


इनका कहना--


पशु चिकित्सक हरिकांत बिलवार ने बताया कि मेरे मादा भालू का पोस्टमार्टम किया गया है मादा भालू की उम्र लगभग 3 वर्ष है जिसकी सैंपल लेकर फॉरेंसिक जांच एवं जहर खुरानी जैसी जांच के लिए सागर एवं जबलपुर भेजे जा रहे हैं अभी जो  लग रहा उससे यही प्रतीत हो रहा है कि करंट लगाकर भालू को मारा गया है क्योंकि वही से 11 केवी लाइन निकली है साथ ही करंट में उपयोग किए गए जी आई तार और अन्य सामग्री भी पाई गई है


डीएफओ दमोह एक महेंद्र सिंह उईके ने कहा कि घटनास्थल पर बिजली के तार सहित सामग्री जप्त की गई है इसके अलावा सागर से डॉग स्कॉट बुलाया गया 

जो आज भी रहकर शिकारियों की सर्च कर रहा है मृत भादू की सभी अंग सुरक्षित हैं

No comments:

Post a Comment