जिला प्रशासन की ताबड़तोड़ कार्यवाही भष्ट सरपंच, सचिव पर होगी एफ आई आर ......... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, December 19, 2021

जिला प्रशासन की ताबड़तोड़ कार्यवाही भष्ट सरपंच, सचिव पर होगी एफ आई आर .........




रेवांचल टाईम्स–ग्राम पंचायत के प्रधान सहित तत्कालीन पंचायत सचिव पर निर्माण कार्यों में 13.85 लाख रुपये गबन मामले में जिला पंचायत सीईओ  पार्थ जायसवाल ने पुलिस प्राथमिकी दर्ज कराने के आदेश जनपद पंचायत सिवनी के सीईओ को दिए है . यह मामला कटंगी रोड स्थित ग्राम पंचायत डोरली छतरपुर का जहाँ सरपंच साजिद खान व तत्कालीन सचिव राजिक अंसारी ने पंचायत के कामों में फर्जीवाड़ा कर 13.85 लाख से अधिक की राशि निकाल ली . जांच में फर्जीवाड़ा सामने आने पर जिला पंचायत सीईओ पार्थ जैयसवाल ने दोनों पर एफआईआर दर्ज करने के आदेश दे दिए हैं . सिवनी जनपद सीईओ ने पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज करने आवेदन पेश कर दिया है . हालांकि मूल दस्तावेजों के अभाव में अभी एफआईआर दर्ज होना बाकी हैं . 


डोरली छतरपुर के सरपंच साजिद खान , तत्कालीन सचिव राजिक अंसारी व सचिव भगवत चंद्रवंशी ने मिलकर अलग - अलग निर्माण कार्यों में गड़बड़ी की हैं . मूल्यांकन से कहीं अधिक की राशि पंचायत के सरकारी खातों से निकालकर भुगतान की गई हैं जबकि मौके पर कोई भी सही काम नहीं हुआ . इस मामले में तीनों को मप्र पंचायती राज व ग्राम स्वराज अधिनियम 1993 की धारा 89 के तहत नोटिस जारी किया गया . गड़बड़ी प्रमाणित होने पर दोनों को राशि 13.85 लाख रुपये समान रूप से 12 फीसद ब्याज सहित आरहण दिनांक से जमा दिनांक तक रिकवरी करने के आदेश दिए गए हैं ।


जांच में पाया गया कि डोरली छतरपुर में 3 सालों के भीतर जो काम हुए उसमें पूरी गड़बड़ी की गई है और रोड पुलिया नाली और भवन निर्माण में मनमाना काम किया गया है जो राशि स्वीकृत हुई थी उसके अनुसार काम कम राशि में कराकर अधिक राशि के बिल लगाए गए यहां तक कि पंचायत कार्यालय के बिल भी लगाए गए जबकि पंचायत कार्यालय कभी कभार ही खुलता था गौरतलब हो कि पूर्व में यहां के सरपंच को पद से हटाने की भी कार्रवाई हो चुकी है लेकिन बाद में उसे कोर्ट से स्टे मिल गया था।


इस प्रकार के फर्जीवाड़े की और भी शिकायते जिला पंचायत और जनपद पंचायत में सालों से पड़ी हुई है यदि इन में भी कार्यवाही हो तो शायद इस प्रकार के फर्जीवाड़े कुछ कम हो जाते।


रेवांचल टाईम्स के साथ विनोद दुबे की रिपोर्ट।

No comments:

Post a Comment