करीब डेढ़ साल बीत जाने के बाद भी अंजनिया से बम्हनी तक का 15 किलोमीटर का यह सफर में कहीं मार्ग बना तो कहीं अधूरा। - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Thursday, December 9, 2021

करीब डेढ़ साल बीत जाने के बाद भी अंजनिया से बम्हनी तक का 15 किलोमीटर का यह सफर में कहीं मार्ग बना तो कहीं अधूरा।





रेवांचल टाइम्स - अंजनिया से बम्हनी  तक का मार्ग बनाने में यहां निर्माण का ठेका लिए हुए ठेकेदार के द्वारा लेटलतीफी करते हुए लापरवाही बरती जा रही है  15 किलोमीटर के यह मार्ग में ठेकेदार के द्वारा रोड का निर्माण कहीं पूरा तो कहीं अधूरा छोड़ दिया गया है , जैसे - ककैया टाका तालाब के पास, ककैया स्टैंड, घटिया के पास मार्गों का निर्माण नहीं किया गया है। जिससे यहां (यात्री ऑटो टैक्सी,) टू व्हीलर, पैदल चलने वाले राहगीरों एवं अन्य लोगों को आवाजाही करने में कई तरह की बाधाएं उत्पन्न हो रही है पर इस ओर किसी शासन प्रशासन का ध्यान ही नहीं है।

 जानकारी के मुताबिक अंजनिया बम्हनी मार्ग का उन्नयन कार्य वर्ष 2020 में स्वीकृत हो गया था  बम्हनी से अंजनिया 15 किलोमीटर का यह सफर मार्ग बनने में  राशि 786.05 लाख रु में किया जा रहा है जिससे इधर मार्ग का निर्माण कार्य में की जा रही देरी के कारण यहां दो दर्जनों भर से अधिक गांवों के ग्रामीणों के साथ-साथ राहगीरों को कई प्रकार की परेशानियां झेलनी पड़ रही है  इधर देखा जाए तो इस सड़क का निर्माण के लिए वर्ष 2020 जून में टेंडर मिल गया था जिसे पीएमजीएसवाय के अधिकारियों के द्वारा 2021 नवंबर तक निर्माण कार्य पूरा हो जाने का आश्वासन दिया गया था पर यहां देखा जाए तो तकरीबन एक से डेढ़ साल बीत जाने के बावजूद भी अंजनिया बम्हनी  रूट का कार्य आज दिनांक तक अधूरा ही पड़ा हुआ है।

No comments:

Post a Comment