3 जनवरी से शुरू होगा 15 से 18 वर्ष के बच्चों का कोविड टीकाकरण... कलेक्टर ने स्वास्थ्य, महिला बाल विकास तथा शिक्षा विभाग की बैठक में दिए निर्देश - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Wednesday, December 29, 2021

3 जनवरी से शुरू होगा 15 से 18 वर्ष के बच्चों का कोविड टीकाकरण... कलेक्टर ने स्वास्थ्य, महिला बाल विकास तथा शिक्षा विभाग की बैठक में दिए निर्देश

मण्डला 29 दिसम्बर 2021





कलेक्टर हर्षिका सिंह ने स्वास्थ्य, शिक्षा एवं महिला बाल विकास विभाग की संयुक्त बैठक ली। बैठक में उन्होंने कहा कि आगामी 3 जनवरी से शासन के निर्देशानुसार 15 से 18 वर्ष के बच्चों का कोविड टीकाकरण किया जाएगा। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित किया कि उक्त टीकाकरण अभियान के लिए सभी जरूरी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें। उन्होंने जिले में उपलब्ध कोविड टीके के डोज की जानकारी लेते हुए जरूरी निर्देश दिए। श्रीमती सिंह ने कहा कि 3 जनवरी से 5 जनवरी तक आयोजित किए जाने वाले सभी वैक्सीनेशन केन्द्रों की जानकारी का प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करें। इसी प्रकार 15 से 18 वर्ष तक के आयु के बच्चों के कोविड वैक्सीनेशन से संबंधित जानकारी का भी मैदानी अमले के माध्यम से प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करें। बैठक में सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विजय तेकाम सहित स्वास्थ्य, महिला बाल विकास विभाग तथा शिक्षा विभाग से संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर ने सहायक आयुक्त एवं शिक्षा विभाग से जुड़े अधिकारियों को निर्देशित किया कि बड़े स्कूलों को चिन्हित करते हुए टीकाकरण केन्द्र बनाएँ तथा इन स्कूलों की सूची स्वास्थ्य विभाग से साझा करें। उन्हांेने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी शिक्षक अनिवार्यतः मॉस्क का उपयोग सुनिश्चित करेंगे। मॉस्क तथा हेलमेट का उपयोग नहीं करने वाले शिक्षकों पर कार्यवाही की जाएगी। श्रीमती सिंह ने जिला टीकाकरण अधिकारी से कोविड के दोनों डोज लगाए जाने के पश्चात लगने वाले बूस्टर डोज के संबंध में जरूरी जानकारी ली। श्रीमती सिंह ने जिला स्तरीय पर बूस्टर डोज कैम्प लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि लगभग 9 महीने पहले अपना दूसरा डोज लगा चुके व्यक्तियों को कोविड का बूस्टर डोज लगाया जाएगा। प्रारंभ में यह फ्रंटलाईन वर्कर्स जैसे- स्वास्थ्य, महिला बाल विकास विभाग, पुलिस, राजस्व, होमगार्ड आदि को लगाया जाएगा। कलेक्टर ने अगले 5 दिनों में मिशन मोड पर कार्य करते हुए प्रथम डोज से शेष बचे व्यक्तियांे का शतप्रतिशत कोविड वैक्सीनेशन कराने के निर्देश दिए।

 

15 से 18 वर्ष के बच्चे कराएँ टीकाकरण

 

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी हर्षिका सिंह ने जिले के 15 से 18 वर्ष के सभी बच्चों से अपील की है कि कोविड की संभावित तीसरी लहर से स्वयं एवं परिवार को सुरक्षित रखने के लिए 3 जनवरी से प्रारंभ हो रहे वैक्सीनेशन अभियान में अपना कोविड टीकाकरण जरूर कराएँ। उन्होंने अभिभावकों से भी अपील की है कि अपने बच्चों को कोविड से सुरक्षित रखने के लिए उन्हें टीकाकरण के लिए प्रेरित करें। श्रीमती सिंह ने सभी जिलेवासियों से आग्रह किया कि कोविड के बढ़ते संक्रमण को ध्यान में रखते हुए नववर्ष अपने घरों में ही मनाएँ। सभी जिला प्रशासन द्वारा जारी रात्रिकालीन कर्फ्यू आदेश तथा कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए अपने घरों में ही रहकर नए वर्ष का स्वागत करें।

 

ओमीक्रोन से बचाव के लिए व्यवस्था पुख्ता रखें

 

कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से ओमीक्रोन के संक्रमण से बचाव एवं उपचार के लिए जिला चिकित्सालय सहित अन्य स्थानों पर सभी जरूरी व्यवस्थाएँ पुख्ता रखने के निर्देश दिए। उन्होंने जिला चिकित्सालय में वेंटीलेटर एवं आईसीयू को सक्रिय स्थिति में रखने के निर्देश दिए। उन्होंने जरूरी दवाईयों की उपलब्धता, मॉस्क, ऑक्सीजन पाईप लाईन, कंस्नट्रेटर के बारे में निर्देश दिए। श्रीमती सिंह ने कहा कि पूर्व में गठित रेपिड रिस्पोंस टीम को पुनः सक्रिय करें। इसी प्रकार आयुष विभाग के चिकित्सकों की भी संभावित तीसरी लहर के दौरान सेवा लें, उन्हें जरूरी प्रशिक्षण देते हुए तैयार रखें। इसी प्रकार स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक मेडीकल कॉलेज में जाकर समय-समय पर प्रशिक्षण प्राप्त करें।

 

भीड़ वाली जगहों पर करें रेंडम सेम्पलिंग

 

श्रीमती सिंह ने बैठक में निर्देशित किया कि जिले में लगातार कोविड टेस्टिंग जारी रखें। उन्होंने एपिडेमियोलॉजिस्ट को निर्देशित किया कि टेस्टिंग किट पर्याप्त मात्रा में सुनिश्चित रखें। उन्होंने कहा कि बस स्टेंड, रेलवे स्टेशन, स्कूल, कॉलेजों तथा अन्य स्थानों पर रेंडम कोविड सेम्पलिंग करें। उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले व्यक्तियों का भी डाटा संधारित करते हुए उनकी अनिवार्यतः कोविड सेम्पलिंग करें। कलेक्टर ने विदेश से आने वाले सभी नागरिकों को सख्त निर्देश दिए हैं कि जिले में पहुँचने के 24 घण्टे के भीतर अपना टेस्ट अनिवार्य रूप से कराएं। टेस्ट नहीं कराने की स्थिति में प्रशासन द्वारा सख्त कार्यवाही की जाएगी।

बैठक में कलेक्टर ने महिला बाल विकास विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी परियोजना अधिकारी अपने मैदानी अमले के माध्यम से शतप्रतिशत एएनसी रजिस्ट्रेशन कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जल्द एएनसी रजिस्ट्रेशन कराते हुए ऐसी महिलाओं की एनीमिया एवं ब्लड टेस्टिंग भी कराएं। श्रीमती सिंह ने हाईरिस्क महिलाओं को चिन्हित करते हुए उनके स्वास्थ्य से संबंधित व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि महिलाओं को संस्थागत प्रसव के लिए प्रेरित करें। गर्भवती महिलाओं को पोषण आहार से संबंधित जानकारी दें। कलेक्टर ने जिले में कुपोषण की स्थिति पर चर्चा करते हुए कहा कि सभी एनआरसी में शतप्रतिशत ऑक्यूपेंसी सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सभी मैदानी अमले मॉस्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें तथा अन्य को भी पुनः कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करने की समझाईश दें।

No comments:

Post a Comment