आयुष्मान भारत योजना से लाभांवित होंगे अर्धसैनिक बलों के जवान - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Saturday, November 6, 2021

आयुष्मान भारत योजना से लाभांवित होंगे अर्धसैनिक बलों के जवान



देश के सभी केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलो के जवानों और उनके परिवारों को आयुष्मान भारत योजना के तहत मुफ्त और कैशलेस इलाज उपलब्ध करवाया जाएगा। इस उद्देश्‍य से केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने एनएसजी के जवान को आयुष्मान कार्ड सौंप कर योजना की शुरुआत की, ताकि सभी केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के समस्त कर्मी व उनके परिवार के सदस्य किसी भी सीजीएचएस अस्पताल या आयुष्मान भारत के तहत मान्यता प्राप्त अस्पताल में कैशलेस इलाज की सुविधा हासिल कर सकें। गृह मंत्रालय ने 31 दिसंबर तक केंद्रीय अर्धसैनिक बल के सभी 35 लाख जवानों को आयुष्मान कार्ड देने का लक्ष्य रखा है। सरकार के उक्त कदम से जवानों एवं उनके परिवारों के बीच खुशी की लहर है।

गृह मंत्रालय के अन्तर्गत 7 केंद्रीय अर्धसैनिक बल आते है, इनमें एनएसजी, असम राइफल, आईटीबीपी, एसएसबी, सीआईएसएफ, बीएसएफ एवं सीआरपीएफ शामिल है अर्धसैनिक बलों के जवानों के मुताबिक आयुष्मान सीएपीएफ योजना का राष्ट्रीय स्तर पर शुरुआत कर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह व केंद्र सरकार की पहल ने सदैव सुरक्षा बलों के हितों का ध्यान रखा है और यह उसी कड़ी का हिस्सा है।

इस योजना के तहत् केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के सभी सेवारत कर्मियों एवं उनके आश्रित लाभान्वित होंगे। इस योजना को गृह मंत्रालय, स्वास्थय मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण नें संयुक्त रूप से तैयार किया है आयुष्मान सीएपीएफ योजना के लाभार्थियों को इलाज के दौरान किसी भी तरह से परेशानी न हो, उसके लिए गृह मंत्रालय ने एक टोल-फ्री हेल्प लाइन नंबर-14588 जारी किया है। साथ ही आनलाइन शिकायत प्रणाली तैयार की है।

No comments:

Post a Comment