निवास पुलिस नहीं तोड़ पा रही तस्करों की कमर चुटपुट माल पकड़ कर थपथपा रही पीठ... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, October 3, 2021

निवास पुलिस नहीं तोड़ पा रही तस्करों की कमर चुटपुट माल पकड़ कर थपथपा रही पीठ...


बड़े कोचियों को पकडऩे में निवास पुलिस के हाथ कांप रहे...? ऐसी कार्यवाही से लगता है.…..?



निवास पुलिस प्रशासन द्वारा छोटे मोटे कोचियों को पकड़ कर कार्यवाही कर रही है, लेकिन जो बड़े कोचियां है उन तक पहुंचने में निवास पुलिस के हाथ कांप रहे हैं। बड़े अवैध शराब कारोबारियों के ऊपर कार्यवाही नही होने के कारण इनके हौसले और भी ज्यादा बुलंद होते जा रहे हैं। 


पुलिस नहीं लगा पा रही अंकुश

‌देखा जाये तो पुलिस के नाक के नीचे थाने से निवास क्षेत्र के दर्जनों गांव में अवैध भट्ठियां आज भी धड़ल्ले से धधक रही हैं। पुलिस अभी तक इन कारोबारियों पर अंकुश नहीं लगा सकी। जबकि देखा जाये तो जहरीली शराब से हादसा होने पर आबकारी विभाग भी अपनी पीठ थपथपाने के लिए पहुंच जाते हैं।

‌निवास सहित दर्जन भर गावों में पहुंचने वाली अवैध शराब काफी कम दामों में बेची जा रही है। हालात यह है कि किराने की दुकानों से लेकर पान की आड़ लिए अवैध शराब सप्लाई की जा रही है। महज रस्म अदायगी के लिए कभी-कभार पुलिस कुछ अवैध शराब पकड़ के अपनी पीठ थपथपा लेती है...? लेकिन जहां अवैध शराब के भंडार हैं, वहां तक पुलिस पहुंच ही नहीं पाती......?   जहां एक ओर अवैध शराब बिक्री रोकने के लिए नियुक्त आबकारी विभाग पिछले लंबे समय से निवास क्षेत्र के लिए सुस्त पड़ा हुआ है। सिर्फ निवास पुलिस विभाग ही थोड़ा बहुत कभी कभाल दिखावे के लिए सक्रिय नजर आता है।   अवैध शराब पर अंकुश को लेकर निवास पुलिस गंभीर नहीं एक तरफ सभी समाज शराब पर अंकुश लगाने के लिए लोगों को प्रेरित कर रहा है। जिससे लोग नशा से मुक्ति पा सकें। दूसरी ओर निवास सहित ग्रामीण क्षेत्रों में धड़ल्ले के साथ अवैध शराब मिल रही है। जिसकी वजह से लोग शराब की लत को छोड़ नहीं पा रहे हैं।👇🏻👇🏻


इसी तरह निवास क्षेत्र में अवैध तरीके से संचालन करने वाले माफिया बने धुरंधर


निवास नगर में संचालित अवैध शराब का तो गोरखधंधा कायम है,,साथ ही जुआ सट्टा पट्टी अन्य नशा के मादक पदार्थों का कारोबार जोरों पर है। निवास नगर सहित ग्रामीण इलाकों में अवैध शराब की ब्रिकी और जगह-जगह चल रहे जुआ-सट्टा मादक पदार्थ के कारोबार से नगर का माहौल बिगड़ रहा है. वहीं युवा पीढ़ी भी नशे की आदी होती जा रही है. नगर,और आस पास ग्रामीण अंचलों की गलियों में सुबह से ही अवैध शराब बेचने का सिलसिला शुरू हो जाता है. इसकी जानकारी पुलिस के साथ आबकारी विभाग के अधिकारियों को भी है. इसके बावजूद कार्रवाई करने के बजाय हाथ में हाथ धरे बैठे हुए हैं.


रेवांचल टाइम्स निवास से देवेन्द्र चौधरी की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment