पेड़ पर टंगी ग्लूकोस की बोतलें-पंचर की दुकान में मरीज इलाज..... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Tuesday, October 12, 2021

पेड़ पर टंगी ग्लूकोस की बोतलें-पंचर की दुकान में मरीज इलाज.....



सहारनपुर: उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में हाईवे किनारे पेड़ पर ग्लूकोस की बोतलें टांगकर मरीजों का इलाज करने का वीडियो वायरल हो रहा है. मरीजों की जान पर खिलवाड़ करते हुए एक डॉक्टर हाईवे के किनारे पेड़ के नीचे और पंचर की दुकान में मरीजों का इलाज करता दिखाई दिया. इस मामले में मुख्य चिकित्साधिकारी ने जांच के आदेश दिए हैं. दरअसल, सहारनपुर की बेहट तहसील के मुज़फ़्फ़राबाद ब्लॉक के कलसिया गांव में एक डॉक्टर क्लिनिक के बाहर हाईवे के किनारे पेड़ के नीचे और पंचर की दुकान में मरीजों के इलाज कर रहा था. इसका वीडियो वायरल हो रहा है.

वीडियो में देखा जा सकता है कि क्लिनिक में जगह ना होने के कारण डॉक्टर द्वारा किस तरह से पेड़ की टहनियों पर व खिड़की के सरियों में ग्लूकोस की बोतलों को लटका कर मरीजों का खुले में चारपाई पर लिटाकर इलाज कर उनकी जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है. ग्रामीण क्षेत्रों में वायरल फीवर व डेंगू के मरीज़ों की संख्या काफ़ी ज़्यादा है. अधिकतर लोग बड़े अस्पतालों में अपने मरीज़ों का इलाज ना करवा कर गांव में ही इन डॉक्टरों से इलाज करवाना उचित समझते हैं, लेकिन इसमें स्वास्थ्य विभाग की कितनी बड़ी लापरवाही है कि वह इस तरह से खुलेआम मरीज़ों की ज़िंदगी से खिलवाड़ करने वाले डॉक्टरों के ख़िलाफ़ सख़्त कार्यवाही नहीं करते. यह वीडियो वायरल होने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कम्प मच गया. सीएमओ डॉ. संजीव मांगलिक ने फ़िलहाल मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं. सीएमओ इस तरह से इलाज करने को ग़लत मान रहे हैं और डॉक्टर के ख़िलाफ़ एक्शन लेने की बात कर रहे हैं.



No comments:

Post a Comment