जनपद पंचायत मण्डला मे सीएम हेल्पलाइन बना मजाक मुख्य कार्यपालन अधिकारी बचा रहे है अपने चहेते सरपंच, सचिब को.... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Tuesday, October 12, 2021

जनपद पंचायत मण्डला मे सीएम हेल्पलाइन बना मजाक मुख्य कार्यपालन अधिकारी बचा रहे है अपने चहेते सरपंच, सचिब को....


रेवांचल टाईम्स - आदिवासी बाहुल्य जिला मंडला में सीएम हेल्पलाइन एक मजाक बन कर रह गई है साथ ही जिम्मदारों ने शिकायत कर्ता की संतुष्टी बगैर शिकायत को विलोपित कर देते है।

    स्वच्छता अभियान को ठेंगा दिखाती ग्राम पंचायत बिनैका


मण्डला- आम जनता की शिकायतों मे विभीगीय कार्यवाही न होने पर  बहुत से लोंगो को मजबूरी बस सीएम हेल्पलाइन का सहारा लेना पड़ता है। ताकि शिकायत कर्ता की शिकायत का निराकरण जल्द हो सके। और शिकायत कर्ता की संतुष्टी के बाद यह शिकायत बंद की जाती है। पर मण्डला जनपद पंचायत  अन्तर्गत की गई सीएम हेल्पलाइन मे शिकायत बिना कार्यवाही या बिना शिकायत कर्ता की संतुष्टी के विभीगीय अधिकारियों द्वारा झूठी जानकारी देकर शिकायत बंद करवा दी गई।  


ये है मामला-

जनपद पंचायत मण्डला की ग्राम पंचायत बिनैका जहां पंचायत द्वारा नाली की साफ-सफाई  न कराये जाने से  खिन्न होकर वहीं के ही ग्रामीण संतोष रजक ने बताया की मैने जब देखा कि पंचायत द्वारा स्वच्छता अभियान को नजर आंदाज किया जा रहा है। जबकि आजादी का अमृत महोत्सव’ के उपलक्ष्य में भारत सरकार के युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय के द्वारा राष्ट्रव्यापी ’स्वच्छ भारत अभियान’ चलाया जा रहा है। पर जब ग्राम पंचायत के जबावदारों से  बार-बार बोले जाने के बाद साफ-सफाई, नाली की सफाई नही करवाई गई तो मैने सीईओ जनपद पंचायत मण्डला के पास शिकायत इस उम्मीद से की अब सीईओ साहब मेरी शिकायत मे ध्यान देकर  ग्राम पंचायत बिनैका को गांव साफ-सफाई करवाने के लिए आदेश देगें। पर जब सीईओ साहब ने नही सुनी तो मुझे मजबूरन सीएम हेल्पलाईन मे शिकायत दर्ज करानी पड़ी।


सीएम हेल्पलाइन से भी नही हुआ समाधान-


शिकायत कर्ता संतोष रजक का कहना कि मेरे द्वारा दिनांक 11/06/2021 को सीएम हेल्पलाइन मे शिकायत दर्ज कराई जिसका शिकायत क्रमांक 14382811 है। उसे सीईओ द्वारा ऊपर झूठी जानकारी देकर बिना मेरी संतुष्टी के शिकायत विलोपित करवा दी। मैने पुनः दिनांक 24/08/2021 को सीएम हेल्पलाइन मे शिकायत दर्ज कराई जिसका क्रमांक 15074034 है। जिसे भी सीईओ मण्डला ने गलत जानकारी देकर शिकायत विलोपित करवा दी गई । जबकि मेरे से कोई जानकारी नही ली गई न ही जनपद पंचायत से कोई अधिकारी मौके मे आया  और झूठी जानकारी देकर शिकायत बंद कराई गई। मैने फिर 181मे फोन लगाकर शिकायत रीओपन कराकर सीएम हेल्पलाइन शिकायत लेने वाले अधिकारियों से कहा की जब आप लोग बिना शिकायत कर्ता की संतुष्टि पूछे बगैर शिकायत विलोपित करेंगें तो लोगों का सीएम हेल्पलाइन लाईन से भरोसा उठ जायेगा। मेरा यही कहना है की जब तक गांव के वार्ड क्रमांक नौ मे नाली के साथ वार्ड मे साफ-सफाई पंचायत द्वारा नही कराई जाएगी तब तक मे शिकायत करता रहूंगा। साथ ही रोड़ किनारे बना गड्ढे मे को घटना दुर्घटना होती है जिसकी संपूर्ण जबावदारी ग्राम पंचायत बिनैका एवं जनपद पंचायत मण्डला की होगी।


ग्राम पंचायत सेमरखापा की शिकायत मे हो रही लीपापोती-


जैसा की विदित है की जनपद पंचायत मण्डला ग्राम पंचायत सेमरखापा मे शिकायत कर्ता एड.अजीत पटेल द्वारा पंचायत मे हो रहे भ्रष्टाचार की शिकायत की थी पर आला अधिकारियों द्वारा सांठगांठ के तहत जांच कर फाईल ठंडे बस्ते में डालते बने। और नतीजा शिकायत करता दर दर भटकता रहता एक आस सीएम हेल्पलाइन लाईन की रह जाती तो वहां भी अधिकारियों द्वारा झूठी जानकारी देकर शिकायत विलोपित करवा दी जाती है। जिससे भ्रष्टाचारियों के होसले और बुलंद हो रहे हैं। 


      क्या सचमुच सीएम हेल्पलाइन लाईन केवल मजाक  बन कर रह गया है। अगर ऐसा है तो सही मायने मे लोगों का भरोसा सीएम हेल्पलाइन से उठ जायेगा। जिसका खामियाजा जनता को भोगना पड़ेगा।  सरकार सीएम हेल्पलाइन इसलिए लागू की है ताकि जनता की शिकायत का जल्द निराकरण हो और जनता को परेशान न होना पड़े। 


इनका कहना है-


          सीईओ साहब बोलते हैं कि अभी फंड नही जबकि गांव मे सीसी रोड़, नाली निर्माण, एवं स्कूल की बाउंड्रीवाल का निर्माण कार्य हो रहे हैं। जो सभी कार्य लाखों मे कराये जा रहे हैं। पर सीईओ साहब 5-10 हजार का काम कराने के लिए अनेक बहाने बना रहे हैं। जो एक जबावदार अधिकारी को शोभा नही देता।


                     संतोष रजक

               ग्रामीण, शिकायत कर्ता, 

           ग्राम  पंचायत बिनैका, मण्डला


       मण्डला सीईओ ने पुनः जांच का आश्वासन दिया है वहीं विधायक डा.अशोक मर्सकोले ने यह मामला विधानसभा मे उठाने की बात कही है।


                          अजीत पटेल

                   शिकायत कर्ता, ग्राम पंचायत सेमरखापा, मण्डला

No comments:

Post a Comment