जिला स्तरीय मेगा क्रेडिट आऊटरीच कैम्प का हुआ आयोजन कलेक्टर हर्षिका सिंह ने किया शुभारंभ - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Monday, October 25, 2021

जिला स्तरीय मेगा क्रेडिट आऊटरीच कैम्प का हुआ आयोजन कलेक्टर हर्षिका सिंह ने किया शुभारंभ

मण्डला 25 अक्टूबर 2021



राज्य बैंकर्स समिति के तत्वाधान में क्रेडिट आउटरीच अभियान के तहत् जिला स्तरीय मेगा कैम्प का आयोजन रानी दुर्गावती कॉलेज के परिसर में किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कलेक्टर हर्षिका सिंह ने की। इसी प्रकार कार्यक्रम में जिला पंचायत सीईओ, क्षेत्रीय प्रबंधक महावीर प्रसाद मीणा, एसएलबीसी उप महाप्रबंधक श्री धारा सिंह नायक, एलडीएम अमित केसरी, एसबीआई मुख्य प्रबंधक श्री हेमपुष्प, हितग्राही, संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे। जिला स्तरीय मेगा कैम्प में अलग-अलग बैंकों एवं विभागों द्वारा हितग्राहियों को उनकी पात्रतानुसार लाभ देने के लिए स्टॉल लगाए गए। कार्यक्रम का शुभारंभ कलेक्टर हर्षिका सिंह सहित वरिष्ठ बैंक अधिकारियों ने की। अतिथियों ने कॉलेज परिसर में विभिन्न विभागों एवं बैंकों द्वारा ऋण प्रदान करने के लिए लगाए गए स्टॉल का निरीक्षण भी किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कलेक्टर ने कहा कि 16 अक्टूबर से 15 नवम्बर तक हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं का लाभ एवं ऋण उपलब्ध कराने के लिए जिला, ब्लॉक तथा पंचायत स्तर पर क्रेडिट आउटरीच कैम्प का आयोजन किया जा रहा है। इन शिविरों के माध्यम से सरकारी योजनाओं के लक्ष्य की पूर्ति के साथ-साथ हितग्राहियों को उनके व्यवसाय एवं नए कार्यों के लिए ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। श्रीमती सिंह ने कहा कि स्व-सहायता समूह की महिलाओं की आय बढ़ाने के लिए भी उन्हें ऋण प्रदान कर सक्षम करना होगा। उन्‍होंने पशुपालन, कृषि, मत्स्य सहित अन्य विभागों द्वारा प्रदान किए जाने वाले ऋण एवं योजनाओं के लाभ की विस्तार से जानकारी दी। उन्‍होंने कहा कि हितग्राही ऋण लेने के साथ-साथ उसे समय पर वापस करने की जिम्मेदारी भी निभाएं। उन्होंने जिला स्तरीय क्रेडिट आउटरीच मेगा कैम्प के माध्यम से हितलाभ प्राप्त करने वाले हितग्राहियों को मंच से शुभकामनाएं भी दी।

कार्यक्रम में जिला पंचायत सीईओ ने कहा कि एक महीने तक शासन की योजनाओं का लाभ देने के उद्देश्य से इस प्रकार के कैम्प का आयोजन सराहनीय है। जिला स्तरीय क्रेडिट आउटरीच मेगा कैम्प में स्वागत उद्बोधन सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के क्षेत्रीय प्रबंधक श्री महावीर प्रसाद मीना द्वारा क्रेडिट आउटरीच प्रोग्राम के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यह अपने तरह का पहला ऋण वितरण कैंप है जिसमें भारत सरकार के निर्देशानुसार सभी बैंक एक साथ एक मंच पर आकर देश के साथ-साथ जिले के आर्थिक विकास में ऋण वितरण द्वारा अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं जिसमे कृषकों एवं नए ग्राहकों को विभिन्न प्रकार के ऋण की सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है।

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के एसएलबीसी उप महाप्रबंधक श्री धारा सिंह नायक ने सभी बैंकों को आव्हान किया कि सभी बैंक कि शाखाएँ मार्च 2022 तक 60 प्रतिशत अग्रिम जमा अनुपात प्राप्त करना सुनिश्चित करें। उन्होने स्व-सहायता समूह को निर्बाध रूप से बिना विलंब किए क्रेडिट लिंकेज द्वारा ऋण मुहैया कराने के लिए बैंकों को निर्देशित किया। साथ ही ऋण जैसे मुद्रा, पीएमएफ़एमई एवं पीएमईजीईपी योजनाओं के साथ-साथ बैंकों द्वारा प्रदान किए जाने वाले सभी प्रकार के ऋणों का वितरण शीघ्र अतिशीघ्र करने हेतु जिले के सभी बैंकों को निर्देश दिए।

 

मंच से हितलाभ का हुआ वितरण

 

कलेक्टर हर्षिका सिंह एवं अतिथियों ने मंच से प्रधानमंत्री आवास शहरी, स्व-सहायता समूह, एक जिला एक उत्पाद, मुद्रा योजना के तहत् हितग्राहियों को मंच से हितलाभ वितरण किया। एलडीएम अमित केसरी ने बताया कि समस्त बैंकों की विभिन्न शाखाओं द्वारा इस क्रेडिट आउटरीच अभियान के दौरान जिले के लोगों के आर्थिक सहयोग हेतु अनेक पात्र हितग्राहियों जैसे किसान क्रेडिट कार्ड में ऋण - 128 हितग्राही राशि - 2.17 करोड़, मुद्रा मे ऋण - 103 हितग्राही राशि - 2.9 करोड़, पथ विक्रेता में ऋण - 122 हितग्राही राशि - 14 लाख, पीएमएफएमई में ऋण - 3 हितग्राही राशि 32 लाख जिसमें से एक हितग्राही को एक जिला एक उत्पाद के अंतर्गत 22 लाख रुपया, एसएचजी मे ऋण - 189 हितग्राही राशि - 8.21 करोड़ एवं अन्य योजनाओं में भी ऋण दिये गए जो कि कुल 31.13 करोड़ की स्वीकृति प्रदान की गई। क्रेडिट आउटरीच अभियान के दौरान वित्तीय समावेशन की योजनाओं के तहत 189 प्रधानमंत्री जन-धन खाते खोले जा चुके हैं। 153 प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा तथा 586 प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना मे बीमा किया जा चुका है।

No comments:

Post a Comment