जम्मू-कश्मीर के शोपियां में मुठभेड़ जारी- 2 आतंकी ढेर, आईजीपी विजय कुमार ने दिया ये बयान - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Wednesday, October 20, 2021

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में मुठभेड़ जारी- 2 आतंकी ढेर, आईजीपी विजय कुमार ने दिया ये बयान



जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) में भारतीय सुरक्षाबलों (Indian security force) का आतंकियों के खिलाफ अभियान जारी है। सुरक्षाबलों ने आज शोपियां जिले में मुठभेड़ (encounter) में दो आतंकियों को मार गिराया है। पुलिस के मुताबिक, आज मुठभेड़ में मारे गए दो आतंकियों में से एक आतंकी पिछले सप्ताह एक गैर स्थानीय कारपेंटर (non-local carpenter) की हत्या में शामिल था।

पुलिस ने कहा कि दक्षिण कश्मीर के शोपियां के द्रागड इलाके में बुधवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए। पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) कश्मीर विजय कुमार ने कहा कि मारे गए आतंकवादियों में से एक की पहचान आदिल अहमद वानी के रूप में हुई है। वे आतंकवादी लश्कर (टीआरएफ) का जिला कमांडर था। आईजीपी कश्मीर के अनुसार, आदिल दक्षिण कश्मीर के पुलवामा के लिटर में यूपी के गैर-स्थानीय कारपेंटर सगीर की हत्या में शामिल था।

16 अक्टूबर की शाम को आतंकियों ने पुलवामा के लिटर इलाके में सगीर की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस वारदात से एक घंटे पहले आतंकियों ने श्रीनगर के ईदगाह इलाके में बिहार के एक गैर-स्थानीय स्ट्रीट वेंडर अरबिंद कुमार की भी गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस महीने घाटी में अब तक आतंकवादियों ने पांच गैर स्थानीय लोगों, तीन अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों और चार स्थानीय लोगों समेत 12 नागरिकों की गोली मारकर हत्या कर दी है। टारगेट हत्याओं के बाद गैर-स्थानीय कार्यकर्ता घाटी छोड़ रहे हैं।

No comments:

Post a Comment