रेल क्रांसिंगों पर बनाये जाये ओवर ब्रिज: तेजबली यातायात को देखते हुए सांसद विधायक से की प्रायवेट बस एसो. ने मांग - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Saturday, September 25, 2021

रेल क्रांसिंगों पर बनाये जाये ओवर ब्रिज: तेजबली यातायात को देखते हुए सांसद विधायक से की प्रायवेट बस एसो. ने मांग




रेवांचल टाईम्स–जिला प्रायवेट बस एसो. सिवनी के अध्यक्ष तेजबली सिंह ने अपनी विज्ञप्ति में कहा है कि सिवनी के विकास के लिए बडी रेल जिला वासियों की लंबे समय से प्रतिक्षित मांग रही है। जिसको लेकर सिवनी बालाघाट सांसद डॉ. ढालसिंह बिसेन एवं विधायक दिनेश राय लगातार प्रयास कर रहे है। इस मांग के पूरे होने से ग्रामीण अंचलों में रहने वाले लोगों को आवागमन में सुविधा मिलेगी। साथ ही जिले में व्यापार की दृष्ठि से भी विकास होगा।


तेजबली ने कहा है कि रेल लाइन के साथ साथ आने वाले समय में आवागमन और यातायात व्यवस्था के साथ आबादी भी बढ़ेगी। जिसको ध्यान में रखते हुए सिवनी से नागपुर मार्ग एवं छिंदवाड़ा मार्ग पर स्थित रेल्वे क्रांसिंग में ओवर ब्रिज बनाये जाने की महत्ती आवश्यकता है। क्योंकि रेल को इन दोनों क्रासिंग से गुरजने के दौरान इस मार्ग से गुजरने वाले वाहनों को लगभग बीस से तीस मिनिट तक रूकना पड़ेगा। ऐसी स्थिति में इन दोनो मार्गो का सड़क मार्ग का यातायात प्रभावित होगा। इस समस्या को देखते हुए रेल प्रारंभ होने के पूर्व इन मार्गों पर ओवर ब्रिज बनाना समय की आवश्यकता है। अगर हम इस ओवर ब्रिज को नहीं बनाकर रेल प्रारंभ करेंगे तो समस्या का समाधान बाद में निकालना कठिन होगा। और लोग यही कहेंगे कि आग लगने पर कुआं खोदना हमारे लिए उचित नहीं होगा।


विनोद दुबे के साथ रेवांचल टाईम्स की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment