खाद्य विभाग के द्वारा अवैध रूप से विक्रय किया जा रहा बायो डीजल को जप्त कर पेट्रोल पंप को किया सील... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, August 29, 2021

खाद्य विभाग के द्वारा अवैध रूप से विक्रय किया जा रहा बायो डीजल को जप्त कर पेट्रोल पंप को किया सील...

 


रेवांचल टाईम्स - जिले में राजनीतिक रसूख के दम पर खुलेआम अवैध रूप बायो डीजल के पम्प संचालित है, प्रशासनिक अधिकारी करें निष्पक्ष जांच

        धार विधायक महेंद्र हार्डिया के द्वारा मुख्यमंत्री से समय लेकर बायोडीजल के संबंध में मीटिंग की गई थी। जिसमें मुख्यमंत्री को अवैध बायोडीजल के विक्रय से होने वाले व्यापारिक नुकसान, प्रदूषण एवं राजस्व की हानि के बारे में अवगत कराया गया था। साथ ही मध्यप्रदेश में संचालित अवैध बायोडीजल के व्यापार को जल्द से जल्द बंद करने के लिए कहा गया था। मुख्यमंत्री के द्वारा इस विषय को गंभीरता से लेते हुए कार्यवाही करने के निर्देश दिए थे। मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिला कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने जिला आपूर्ति अधिकारी को जिले में चल रहे पेट्रोल पंपों की जांच करने के निर्देश दिए। खाद्य विभाग के अधिकारियों द्वारा धार फाटा धामनोद स्थित आर के बायोफ्यूल्स बायोडीजल पंप पर कार्रवाई कर जांच की गई। मौके पर फर्म द्वारा अवैध रूप से बायोडीजल का विक्रय किया जाना पाया गया। बायोडीजल संचालन हेतु कोई वैध दस्तावेज मौके पर नहीं पाए गए। मौके पर अवैध रूप से संचालित होने से आर के बायोफ्यूल्स फार्म का 800 लीटर बायोडीजल जप्त किया जाकर नोजल पंप नोजल सील की कार्यवाही की गई।

        मौके पर पंप परिसर के पास नीले लोहे की चद्दर से कवर एक कैंपस में संदेह होने पर जांच की गई जिसमें 4 टैंक 20 kl क्षमता के भूमिगत होना पाया गया। मौके पर उपस्थित आर के फ्यूल बायोफ्यूज के प्रोपराइटर द्वारा बताया गया कि उक्त कैम्पस बालाजी इंटरप्राइजेज के नाम से गुजरात निवासी व्यक्तियों द्वारा संचालित किया जाता है। कैम्पस से मौके पर भूमिगत टैंक से पदार्थ निकालकर देखा गया। दो भिन्न-भिन्न प्रकार के पदार्थ होना पाया गया और यह भी पाया गया कि उक्त पदार्थ को आपस में मिलाकर नकली बायोडीजल बनाया जाकर बायो फ्यूल पंपो को सप्लाई किया जाता है। मौके पर 30 kl पदार्थ जप्त कर टैंक सीलिंग की कार्यवाही की गई। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पेट्रोल पंप को सील करने की कार्यवाही के बाद भी बायो डीजल को बेचा गया है। जिले में एक नहीं अनेक पेट्रोल पंप हैं जिन पर राजनीतिक रसूख के चलते खुलेआम बायो डीजल अवैध रूप से बेचा जा रहा है। जिनकी अनुमति व दस्तावेज नहीं है। जिले में चल रहे अवैध कारोबार की निष्पक्ष तरीके से जांच की जाना चाहिए।

     यह कार्यवाही संपूर्ण जिले मे होना चाहिए और सभी पेट्रोल पंप के टंकी और मशीन भी निकाल कर ज़ब्त करना चाहिए नहीं तो यह लोग फिर से रात को बेचने लग जाते हैं।


जिम्मेदार क्या बोले-


        जिला खाद्य अधिकारी मिश्रा से इस संबंध में फोन लगाकर जानकारी लेना चाही तो उनसे संपर्क नहीं हो पाया।

No comments:

Post a Comment