न्यायालय के आदेश से सीमांकन करने गई राजस्व टीम को गाली गलौज और जान से मारने की धमकी देने वाले आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होने पर पुलिस अधीक्षक को सौंपा गया ज्ञापन... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Friday, July 2, 2021

न्यायालय के आदेश से सीमांकन करने गई राजस्व टीम को गाली गलौज और जान से मारने की धमकी देने वाले आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होने पर पुलिस अधीक्षक को सौंपा गया ज्ञापन...





रेवांचल टाईम्स -  राजस्व निरीक्षक पर रास्ता रोक कर धमकी और गाली गलौज के मामले पर घंसौर पुलिस के द्वारा आरोपी की गिरफ्तारी नहीं किए जाने को लेकर सिवनी जिले के राजस्व निरीक्षक संघ ने कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा है और ज्ञापन में मांग की गई है कि लगातार आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों के द्वारा शासकीय कर्मचारियों पर शासकीय कार्य के दौरान गाली गलौज और हमला करने की जो घटनाएं घट रही हैं उन पर पुलिस विभाग के द्वारा तत्काल कार्यवाही नहीं किए जाने से आपराधिक घटनाएं बढ़ रहे हैं शायद यही कारण है कि राजस्व निरीक्षक मंडल सिवनी के तमाम राजस्व निरीक्षको ने ज्ञापन के माध्यम से आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है । पूरा मामला धनोरा तहसील के अंतर्गत ग्राम केवलारी से संबंधित है जहां न्यायालय तहसीलदार धनोरा के आदेश से दिनांक 23 जून 2021 को राजस्व निरीक्षक सुकमन कुलेश और हल्का पटवारी मुकुंद्र डेहरिया और सहयोगी पटवारी वैशाली यादव और ग्राम कोटवार के साथ राजस्व विभाग की टीम सीमांकन करने पहुंची थी जहां ग्राम हींगवानी के नारायण पिता रामाधार गोल्हानी के द्वारा पहले तो सीमांकन में व्यवधान उत्पन्न करने की कोशिश की गई और किसी एक व्यक्ति को वहां पहुंचा कर फोन से सीमांकन रोकने के लिए राजस्व निरीक्षक को गाली और धमकाने की कोशिश की गई। जब इससे भी बात नहीं बनी तो उक्त व्यक्ति के द्वारा सीमांकन करके लौट रही राजस्व टीम को रोककर गंदी गंदी गालियां देकर जान से मारने की धमकी तक दी गई साथ ही अपने साथ कुछ और व्यक्तियों को लेकर हाथों में डंडे लेकर मारने की कोशिश भी की गई जिसको लेकर राजस्व निरीक्षक और हल्का पटवारी के द्वारा तत्काल घंसौर थाना में जाकर लिखित शिकायत एफ आई आर दर्ज करने दी गई। परंतु घंसौर पुलिस के द्वारा तत्काल एफ आई आर दर्ज नहीं की गई पूरे मामले को अखबारों और टीवी चैनलों के माध्यम से जैसे ही खबर का प्रसारण हुआ इसके बाद 25 जून तारीख को घंसौर थाने में एफ आई आर दर्ज की गई। और भारतीय दंड संहिता 1860 के तहत 294,341, 353,506, 34 ,3(1) (द) ,3(1)(ध), 3(2)(Va) के तहत घंसौर थाने में मामला पंजीबद्ध कर दिया गया परंतु घंसौर पुलिस के द्वारा उक्त मामले के आरोपी को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया ।जिसको लेकर राजस्व विभाग के राजस्व निरीक्षक संघ के द्वारा जिला कलेक्टर और जिला पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन में घंसौर पुलिस के द्वारा आरोपी की गिरफ्तारी नहीं किए जाने को लेकर ज्ञापन सौंपा गया है और ज्ञापन में मांग की गई है कि यदि इस तरीके से अपराधिक घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों पर यदि पुलिस कार्रवाई नहीं करती है तो राजस्व विभाग फील्ड पर कार्य कैसे करेगा।  राजस्व निरीक्षक संघ ने अपने ज्ञापन के माध्यम से उक्त अपराधी की गिरफ्तारी की मांग की है। 

अब सोचने वाली बात यह है कि यदि न्यायालय के आदेश पर सीमांकन करने पहुंचे राजस्व निरीक्षक और हल्का पटवारी पर यदि अनावश्यक रूप से कोई व्यक्ति गाली गलौज और जान से मारने की धमकी के साथ हमला करने की कोशिश करता है और इस पूरे मामले की शासकीय कर्मचारी  थाने पर शिकायत करते हैं तो तत्काल एफ आई आर दर्ज नहीं होती बाद में एफ आई आर दर्ज होती भी है तो फिर आरोपी को गिरफ्तार करने में पुलिस को इतना वक्त क्यों लगता है और शायद यही कारण है कि हमेशा पुलिस पर इन्हीं विषयों को लेकर सवाल उठते। एक तरफ ऐसी ही लापरवाही की वजह से या यूं कहे कि पुलिस की छूट की वजह से अपराधियों के हौसले बुलंद होते हैं और अक्सर ऐसी आपराधिक घटनाएं बढ़ती जा रही हैं इस पूरे मामले पर घंसौर पुलिस को संज्ञान लेना चाहिए और तत्काल उक्त अपराधी की गिरफ्तारी करनी चाहिए अब इस पूरे मामले में आगे क्या होगा यह तो आगे ही पता चलेगा।

No comments:

Post a Comment