असहाय के साथ जानवरों के लिए आगे आया इनर वाईस ग्रुप मंडला ... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Friday, June 4, 2021

असहाय के साथ जानवरों के लिए आगे आया इनर वाईस ग्रुप मंडला ...


रेवांचल टाइम्स:– कोरोना काल में जहां "इनर वॉईस ग्रुप" लगातार असहाय ,मानसिक विक्षिप्त, फुटपाथ पर सोने वाले ऐंसे सैकडों बेघर लोगों के लिए स्वादिष्ट भोजन की व्यवस्था विगत 1 माह से कर रहा है । इस मुहिम में शहर के अनेकों दानदाताओं ने सहयोग किया किसी ने कच्चा अनाज तो किसी ने पका भोजन ,किसी ने आर्थिक, शारीरिक हर संभव मदद किया। इनके सहयोग से प्रतिदिन लगभग 200 पैकेट भोजन प्रतिदिन शहर के महाराजपुर, पौड़ीं,संगम,कटरा,राजीव कालोनी,खैरी और शहर पर घूमकर वितरित किया जाता था। इस क्रम में सहयोगियों की सूची में एक अनोखा सहयोग सामने आया। शहर के एक व्यक्ति नीलेश दुबे ने 10 पेटी बिस्किट का सहयोग दिया और उन्होंने शहर के जानवर कुत्तों को विशेष प्राथमिकता दिया । इस कोरोना काल में उन्हें भी पेट की समस्या से गुजरना पड़ रहा है इसलिए ग्रुप के सदस्य प्रतिदिन शाम को शहर का चक्कर लगाकर कुत्तों को बिस्किट खिलाते हैं। ग्रुप के संस्थापक दीपमणी खैरवार ने बताया कि प्रतिदिन लगभग 10 पैकेट बिस्किट लेकर शहर निकलते हैं और मजेदार बात यह कि पहले कुत्ते देखकर दूर भागते थे पर अभी हमारा इंतजार करते हैं। असहाय व्यैक्तियों के अलावा पर्यावरण और जानवरों के लिए भी ग्रुप समर्पण भाव से काम करती रहेगी। अभी लॉकडाऊन में कुछ छूट मिली है इसके बाद भी यदि कोई भूखा और जरूरत मंद को भोजन और कच्चे अनाज की जरूरत हो तो हमें जानकारी दीजिए हम उन तक अनाज,भोजन पहुंचाने की पूर्ण कोशिश करेंगे।


रेवांचल टाइम्स निवास से देवेन्द्र चौधरी की रिपोर्ट

1 comment: