कलेक्टर ने ली एसडीएम, तहसीलदार, जनपद सीईओ एवं नायब तहसीलदारों की बैठक दिए अवश्य निर्देश... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Friday, June 4, 2021

कलेक्टर ने ली एसडीएम, तहसीलदार, जनपद सीईओ एवं नायब तहसीलदारों की बैठक दिए अवश्य निर्देश...


रेवांचल टाईम्स :- अपने क्षेत्र के स्वास्थ्य केन्द्रों पर सतत निगरानी रखने के निर्देश

 

        कलेक्टर  दीपक आर्य ने आज 04 जून को बालाघाट, वारासिवनी, बैहर, लांजी, कटंगी एवं किरनापुर के एसडीएम, सभी 10 जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों, सभी तहसीलदारों एवं नायब तहसीलदारों की बैठक लेकर कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए किये जा रहे कार्यों की समीक्षा की और उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिये। बैठक में जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती आर उमा माहेश्वरी एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मनोज पांडेय उपस्थित थे।


       कलेक्टर  आर्य ने बैठक में सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि वे अपने क्षेत्र में कोविड वैक्सीन टीकाकरण की संख्या बढायें। जिले में अब तक 45 से अधिक की आयु के 33 प्रतिशत लोगों को कोविड वैक्सीन का टीका लग चुका है, लेकिन 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के 06 प्रतिशत लोगों को ही टीका लग पाया है। अत: 18 वर्ष से अधिक की आयु के लोगों को कोविड वैक्सीन का टीका लगाने के लिए जागरूक करें और उन्हें टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित करें। लांजी में कोविड वैक्सीन टीकाकरण के लिए अच्छा काम हुआ है औार 40 प्रतिशत लोगों को टीका लगाया जा चुका है। अन्य क्षेत्रों में भी टीकाकरण को बढ़ाने के लिए कारगर प्रयास किये जायें।


बैठक में अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि वे अपने क्षेत्र के ग्रामों में बाहर से आने वाले प्रवासी लोगों पर निगरानी रखें। विशेषकर लांजी एवं किरनापुर विकासखंड में हैदराबाद से अधिक लोगों का आना-जाना होता है। इसी प्रकार खैरलांजी एवं कटंगी विकासखंड में महाराष्ट्र से अधिक लोगों का आना-जाना होता है। अत: गांव में बाहर से आये व्यक्ति पर निगरानी रखी जाये। गांव में कोई भी व्यक्ति कोविड पाजेटिव आये तो उसकी कांटेक्ट ट्रेसिंग की जाये और इसके लिए ग्राम की आंगनवाड़ी कार्यकर्त्ता, आशा कार्यकर्त्ता एवं पंचायत सचिव की टीम बनाकर कार्य किया जाये।

         कलेक्टर द्वारा जिले के सभी एसडीएम, तहसीलदार, जनपद पंचायत के सीईओ एवं नायब तहसीलदारों को पूर्व में निर्देशित किया गया था कि वे अपने क्षेत्र में स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं उप स्वास्थ्य केन्द्रों की वर्तमान स्थिति की जानकारी एकत्र करें। बैठक में अधिकारियों द्वारा एकत्र की गई स्वास्थ्य केन्द्रों की स्थिति पर एक-एक कर चर्चा की गई। कलेक्टर  आर्य ने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे अपने क्षेत्र के स्वास्थ्य केन्द्रों का सतत निरीक्षण करें और वहां के स्टाफ की मुख्यालय में उपस्थिति पर निगरानी रखें। यदि स्वास्थ्य केन्द्र का स्टाफ अनुपस्थित रहता है या केन्द्र में साफ-सफाई नहीं रहती है या वहां की अन्य व्यवस्थाएं ठीक नहीं रहती है तो इसके लिए जिम्मेदार व्यक्ति पर कार्यवाही के लिए तत्काल प्रस्ताव भेजें।


कलेक्टर  आर्य ने कहा कि जिले के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर स्टाफ, जरूरी दवायें एवं अन्य व्यवस्थायें दुरूस्त रहना चाहिए। जिससे आम जन जरूरत के समय स्वास्थ्य केन्द्र में जाकर अपना उपचार करा सके।  बैठक में बताया गया कि शासन के निर्देशों के अनुसार जनसंख्या के आधार पर जिले में कुछ स्थानों पर स्वास्थ्य केन्द्रों के भवन बनाये जाने है। ऐसे स्वास्थ्य केन्द्रों के लिए स्थल का चयन करने के निर्देश दिये गये। स्वास्थ्य केन्द्र के लिए एक से डेढ़ एकड़ जमीन आबंटित करने के निर्देश दिये गये। जिससे स्वास्थ्य केन्द्र भवन में कर्मचारी के रहने के लिए आवास, वाहन की पार्किंग एवं बाउंड्रीवाल बनायी जा सके।



रेवांचल टाइम्स बालाघाट से खेमराज बनाफरे

No comments:

Post a Comment