Covid-19 : शहर में चल रहा था फर्जी वैक्सीन सेंटर, सांसद ने भी लगाया टीका, जानिए कैसे हुआ भंडाफोड़ - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Thursday, June 24, 2021

Covid-19 : शहर में चल रहा था फर्जी वैक्सीन सेंटर, सांसद ने भी लगाया टीका, जानिए कैसे हुआ भंडाफोड़



Covid-19 : कोलकाता पुलिस ने बुधवार को एक नकली COVID-19 टीकाकरण केंद्र (Fake Vaccination Centre) का भंडाफोड़ किया और एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया, जो कोलकाता नगर निगम से जुड़े एक IAS अधिकारी के रूप में था और फैसिलिटी का संचालन कर रहा था. शहर के कस्बा इलाके में तृणमूल कांग्रेस की सांसद मिमी चक्रवर्ती सहित कई लोगों को टीका लगाया गया. सांसद ने कहा कि जब उन्हें एसएमएस या टीकाकरण प्रमाण पत्र नहीं मिला तो उन्होंने पुलिस को सूचित किया.

कस्बा पुलिस ने देबंजन देब को गिरफ्तार कर लिया है. केंद्र से नकली पहचान पत्र, कोलकाता नगर निगम के अधिकारियों की मुहर और हस्ताक्षर वाले जाली दस्तावेज, हैंड सैनिटाइज़र और मास्क जब्त किए गए हैं.

आरोपी ने खुद को कोलकाता नगर निगम के जॉइंट कमिश्नर के रूप में पेश किया था और सरकारी लोगो और साइनेज वाले वाहन का उपयोग कर रहा था. कोलकाता पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सबसे महत्वपूर्ण सवाल यह था कि उन्होंने केंद्र से टीके कैसे प्राप्त किये. जो कोलकाता नगर निगम के साथ पंजीकृत नहीं था.

उन्होंने कहा हमने वैक्सीन के नमूने लैब को भेजे हैं और अगर टीके नकली पाए जाते हैं, तो लोगों को फिर से टीका लगवाने की जरूरत होगी. आरोपी ने कहा था कि उसने खुले बाजार से टीके खरीदे हैं. जांचकर्ता अभी तक धोखाधड़ी के पीछे के मकसद को स्थापित नहीं कर पाए हैं क्योंकि टीका मुफ्त में दिया जा रहा था. तृणमूल कांग्रेस की सांसद ने कहा कि टीकाकरण कराकर लोगों को प्रेरित करने का निमंत्रण मिलने के बाद वह टीकाकरण केंद्र गई थीं.

चक्रवर्ती ने कहा “टीकाकरण के बाद मुझे कोई संदेश नहीं मिला. मैंने अपना टीकाकरण प्रमाणपत्र भी मांगा जो उन्होंने कहा कि मुझे कुछ समय बाद मिलेगा. मैंने तुरंत अपने कार्यालय से यह पूछने के लिए कहा कि क्या साइट पर मौजूद लोगों को पंजीकरण संदेश प्राप्त हुआ था, जिसके बारे में उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं मिला. ”





No comments:

Post a Comment