जिले में लोग कर रहे हैं बड़ी लापरवाही नहीं समझ रहे कोरोना महामारी की गंभीरता को-- प्रशासन उठाए कड़े कदम - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Thursday, April 15, 2021

जिले में लोग कर रहे हैं बड़ी लापरवाही नहीं समझ रहे कोरोना महामारी की गंभीरता को-- प्रशासन उठाए कड़े कदम

 




रेवांचल टाइम्स - एक तरफ जहां प्रशासन बड़ी गंभीरता से कोरोना महामारी से जूझ रहा है। और अपने नागरिकों को सुरक्षा के लिए पूरा एहतियात बरत रहा है। वही कोरोना कर्फ्यू में भी लोग लापरवाही करने से बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसा जीता जागता उदाहरण मंडला ओर नैनपुर के मुख्य मार्गों में देखने को मिल रहा है। चाहे वह मण्डला या नैनपुर का बस स्टैंड हो, चिलमन चौक, बैगाबेगी चौक या नैनपुर के अन्य स्थान और भी अन्य स्थानों में जहां पर बड़ी मात्रा में लोगों का आना जाना लगा हुआ है। और दोपहिया व दोपहिया वाहनों में भी बड़ी संख्या में लोग इकट्ठे होकर आवागमन कर रहे हैं। मंडला नैनपुर में कोरोना कर्फ्यू लगा हुआ है। बाजार में जरूरी चीजों को छोड़कर व्यापारी अपनी दुकानें बंद रखे हुए हैं। उसके बाद भी लोग ऑटो व अन्य चार पहिया वाहनों से भर भर कर आ जा रहे हैं । साथ ही ऐसे ही आना जाना हर वार्डो मे भी बना हुआ है।  लोग वार्डो में बेहिचक होकर घूमते व बैठे नजर आ रहे लोग आखिर क्यों नहीं समझ रहे है परिस्थितियों की भयावहता को 


पुलिस प्रशासन लगातार नागरिकों को सड़क पर बेवजह जाने से रोक रही है। परंतु लोग इन बातों को मानने को तैयार नहीं है और कोरोना को नजरअंदाज कर रहे हैं। जब नगर के लापरवाह लोग अगर इस तरह आयेगे जायेंगे तो स्थिति विस्फोटक हो सकती है। प्रशासन से निवेदन है कि दोपहिया वाहनों में अधिक यात्रियों को बैठाने जाने पर उचित एवं कड़े कदम कदम उठाए जाए । सरकारी दफ्तरो व आफिस को सैनेटाइज  किया जाए। ताकि किसी बड़े खतरों से नगर सुरक्षित रह सके।

1 comment:

  1. आशचर्य तो तब होता है जिस घर में किसी एक सदस्य की जाँच हुई वो पॉजिटिव निकले, उसी घर के अन्य लोग आजादी से घूम रहे है,

    ReplyDelete