छत्तीसगढ़ राज्य से महिलाओं को लाकर उप स्वास्थ्य केन्द्र बम्हनी बंजर में की जा रहीं हैं नसबंदी जिम्मेदार मौन - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Monday, February 15, 2021

छत्तीसगढ़ राज्य से महिलाओं को लाकर उप स्वास्थ्य केन्द्र बम्हनी बंजर में की जा रहीं हैं नसबंदी जिम्मेदार मौन




रेवांचल टाईम्स :- लक्ष्य पूरा करने के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं स्वास्थ्य विभाग बिछिया की तर्ज में

          वही शासन द्वारा जितने भी नियम कानून बनाए जाएं, वह मंडला आदिवासी बाहुल्य जिला के लिए लागू नहीं होता।बीते 05 दिसम्बर 2020 को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिछिया में दलालों के माध्यम से अपना लक्ष्य पूरा करने के लिए छत्तीसगढ़ राज्य से महिलाओं को लाकर नसबंदी (टीटी) कराई जा रही थीं।  जिसकी सूचना मीडिया कर्मी को लगीं और मीडिया कर्मी जिला प्रशासन के संज्ञान में लाया, तब जाकर छत्तीसगढ़ राज्य से लाई महिलाओं की नसबंदी (टीटी) करने से रोक दिया गया था। इसी की तर्ज में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बम्हनी बंजर में भी दलालों के माध्यम से छत्तीसगढ़ राज्य से महिलाओं को लाकर नसबंदी (टीटी) करने के लिए पंजीयन फार्म भरे जा रहे थें।जिसमें बीएमओ के द्वारा पंजीयन फॉर्म को जांच कर हस्ताक्षर कर रहे थें।उक्त मामले की जानकारी मीडिया कर्मी के संज्ञान में आने के बाद मीडियाकर्मी मौके में पहुंच कर बीएमओ से जानकारी लेना चाही तो बीएमओ ने सफाई देते हुए कहने लगे कि इसकी जानकारी मुझे नहीं थी,मुझे आप लोगों ने संज्ञान में लाया हैं, बीएमओ कहने लगें की अब छत्तीसगढ़ की महिलाओं की नसबंदी (टीटी) नहीं की जाएगी।जबकि बीएमओ के द्वारा नसबंदी करने वाली महिलाओं के पंजीयन फार्म को चेक करके ही हस्ताक्षर किए जा रहें थें।


बिछिया में मामला उजागर होने के बाद भी की जा रही हैं अनदेखी

बता दें कि बिछिया ब्लॉक के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बीएमओ व उनकी टीम के द्वारा 05 दिसम्बर 2020 को छत्तीसगढ़ राज्य की महिलाओं को लाकर नसबंदी (टीटी) करने का मामला मीडिया कर्मी द्वारा जिला कलेक्टर हर्षिका सिंह को अवगत कराया गया था।इसके बाद जिला कलेक्टर हर्षिका सिंह के आदेश में मौके पर बिछिया एसडीएम, तहसीलदार पहुंच कर होने वाली नसबंदी में प्रतिबंध लगाया गया था, और जांच का आदेश भी दिया गया था। इसके बाद भी बम्हनी बंजर की सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के बीएमओ के द्वारा अपना लक्ष्य पूरा करने के लिए छत्तीसगढ़ राज्य से महिलाओं को लाकर नसबंदी कराई जा रहीं हैं।जबकि छत्तीसगढ़ राज्य में कोरोना वायरस के चलते नसबंदी (टीटी) पूर्ण रूप से प्रतिबंधित किया गया हैं।


छत्तीसगढ़ के कवर्धा व अन्य राज्य की महिलाओं को लाया गया

     उल्लेखनीय हैं कि बम्हनी बंजर की सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में छत्तीसगढ़ राज्य के कवर्धा व अन्य जिलों से लाई महिलाओं की भीड़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बम्हनी में देखीं जा सकतीं हैं। वही चंद रुपए की लालच में भगवान कहे जानें वाले डाक्टरों के द्वारा जानबूझकर इस तरह के कृत्य किए जा रहें हैं। और जिम्मेदार लोग जान कर भी अनजान बन बैठे है।


No comments:

Post a Comment