ग्रामीणों के द्वारा अपनी मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन जारी धरना स्थल में पहुंचे अधिकारी कर्मचारी - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Tuesday, February 23, 2021

ग्रामीणों के द्वारा अपनी मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन जारी धरना स्थल में पहुंचे अधिकारी कर्मचारी


रेवांचल टाईम्स :-आदिवासी बाहुल्य जिला मंडला के अंतर्गत विकासखंड मोहगाँव के ग्राम पंचायत के ठेभा में ग्राम वासियों द्वारा ज्वलंत जनसमस्याओं एवं अपने मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरना , प्रदर्शन,अनशन पर ग्रामीण डटे हुए हैं।

  महिला मोर्चा मोहगांव ब्लाक प्रमुख तृप्ति पंद्रो के नेतृत्व में ठेभा ग्राम के समस्त सम्मानीय ग्रामवासी, समूहों के समस्त दीदीया, युवा वर्ग, तथा वरिष्ठ नागरिक, पंच, सरपंच सर्वसम्मति से धरना के समर्थन करते हुए एक मटेन से डटे हुए हैं।



     जनसमस्याओं के निराकरण करने पहुंचे जनपद पंचायत मोहगांव के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आर एस कुशवाहा, तहसील न्यायालय व्रत मोहगांव से नायब तहसीलदार वर्षा झारिया मोहगांव पुलिस के जवान धरना स्थल पर उपस्थित हुए।

    आदिवासी क्षेत्रों में हर दबे- कुचले गरीब आदमी की आवाज बुलंद करने  वाले तथा हमेशा अन्याय अत्याचार शोषण के विरुद्ध संविधानिक तारीके से जनता की आवाज बुलंद करने मंडला लोकसभा की कांग्रेस प्रत्याशी रहे एवं आदिवासी विकास परिषद के महासचिव श्री कमल सिंह मरावी जी तथा पूर्व जनपद अध्यक्ष पतिराम पंद्रो एवं मलवाथर सरपंच एवं विधायक प्रतिनिधि राधे शाह मरावी उपस्थित होकर जन समस्याओं को लेकर धरना स्थल पर डटे रहे।

   धरना प्रदर्शन स्थल में समस्त ठेभा  ग्रामवासी एवं सैकड़ों महिलाएं अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित रहे ।ग्रामीणों का कहना है कि जब तक हमारी जन समस्याओं का निराकरण नहीं होगा तब तक आंदोलन अनवरत चलता रहेगा। ऐसा सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास किए गए हैं। मांगों की पूर्ति नहीं होने पर क्रमश भूख हड़ताल तथा बुढनेर  नदी में सभी धरना प्रदर्शन कारी महिला- पुरुष जल समाधि लेकर धरना प्रदर्शन को आगे बढ़ाया जाएगा।इसके जिम्मेदार स्वयं शासन-प्रशासन रहेगा।


No comments:

Post a Comment